spot_img
29.1 C
New Delhi
Thursday, June 17, 2021
spot_img

UP: कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिये जरूरी कदम उठाने के निर्देश

—कोरोना के प्रति पूरी सतर्कता बरती जाय और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जाय : CM
—लखनऊ, कानपुर, गौतमबुद्ध नगर में कोरोना के बढ़े मामले 

लखनऊ/ टीम डिजिटल: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिये सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति पूरी सतर्कता बरती जाये और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग पूरी सक्रियता से की जाय। कोरोना के प्रति लोगों को सतत जागरूक किया जाय। इसके लिये पब्लिक एड्रेस सिस्टम का प्रभावी इस्तेमाल किया जाय। लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये प्रेरित किया जाय। साथ ही, यह सुनिश्चित किया जाय कि लोग मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य रूप से करें।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने लखनऊ, कानपुर, गौतमबुद्ध नगर में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों के दृष्टिगत अतिरिक्त सकर्तता बरतने के निर्देश दिये। उन्होंने कोविड-19 की फोकस टेस्टिंग किये जाने पर बल देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में टेस्टिंग कार्य की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसे ध्यान में रखकर अधिक से अधिक टेस्ट किये जाएं।


बैठक के दौरान मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि शीघ्र ही 13 से 15 दिन की एक फोकस टेस्टिंग ड्राइव चलायी जाएगी, जिसके तहत दुकानदारों इत्यादि पर विशेष रूप से फोकस किया जायेगा। उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों में कोरोना के मामलों में हो रही बढ़ोत्तरी के दृष्टिगत प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता बरती जाय। उत्तर प्रदेश में बाहरी राज्यों से आ रहे लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग एवं क्वारंटीन की आवश्यकतानुसार व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। कोरोना से बचाव तथा उपचार के सम्बन्ध में प्रभावी व्यवस्था बनाये रखी जाय। जनपदों में स्थापित इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से संचालित किया जाय।

यह भी पढें…देशभर में मनेगा आजादी का अमृत महोत्सव, शुरू करेंगे प्रधानमंत्री

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेशवासियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के प्रति अत्यन्त संवेदनशील है। इसमें वैक्सीनेशन का विशेष महत्व है। अतः लोगों को वैक्सीनेशन के लिये प्रेरित किया जाय। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन के सम्बन्ध में निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य को पूरी सक्रियता के साथ प्रभावी ढंग से किया जाय। जिन जनपदों की आबादी 25 लाख से अधिक है, वहां प्रतिदिन 05 हजार वैक्सीनेशन किये जायें। इसी प्रकार जिन जनपदों की 25 लाख से कम है, वहां प्रतिदिन 03 हजार लोगों का वैक्सीनेशन किया जाय।

यह भी पढें…दिल्ली में महिलाओं के लिए स्पेशल मोहल्ला क्लीनिक बनाए जाएंगे

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविन्द कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार, प्रमुख सचिव पर्यटन मुकेश मेश्राम, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सचिव खनन रोशन जैकब, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

epaper

Latest Articles