21 C
New Delhi
Saturday, February 27, 2021

श्री काशी विश्वनाथ मन्दिर धाम परियोजना का कार्य युद्ध स्तर पर

-CM योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में विकास कार्यों के प्रगति की समीक्षा की
—वाराणसी में 200 कमरे का महिला छात्रावास बनेगा
—वाराणसी शहर में पाइप लाइन के जरिये पहुंचेगी कुकिंग गैस
—23,600 घरों में इंफ्रास्ट्रक्चर कार्य पूर्ण, 4000 घरों में गैस आपूर्ति शुरू

लखनऊ/ टीम डिजिटल : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में जनपद के विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने गतिमान परियोजनाओं को युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय-सीमा में पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी, वाराणसी से जनपद में कोविड-19 के मरीजों के उपचार तथा कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारियों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कोल्ड चेन आदि की व्यवस्था पहले से ही सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश भी दिए।
बैठक में मुख्यमंत्री जी को वाराणसी के मण्डलायुक्त  दीपक अग्रवाल व जिलाधिकारी वाराणसी कौशल राज शर्मा ने जनपद में हो रहे विकास कार्यों के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत कराते हुए विकास कार्यों एवं निर्माण परियोजनाआंे को समय-सीमा में पूर्ण कराए जाने का भरोसा दिया।

यह भी पढें...आया नया कोरोना, भारत, फ्रांस समेत कई देशों ने ब्रिटेन से संपर्क तोड़ा

मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि वाराणसी में हजारों करोड़ रुपए के उल्लेखनीय एवं ऐतिहासिक विकास कार्य तेजी से हुए हैं। इसी माह 146 करोड़ रुपए लागत की परियोजनाएं पूर्ण हो जाएंगी। अनेक बड़ी परियोजनाएं यथा-186 करोड़ रुपए लागत का कन्वेंशन सेण्टर ‘रुद्राक्ष’ मार्च, 2021 में, बीएचयू (BHU) में 107.36 करोड़ रुपए का आईयूसीटीई भवन, 121.26 करोड़ रुपए का आवासीय भवन, 200 कमरे का महिला छात्रावास, कैंसर हॉस्पिटल, बीएचयू में डॉक्टर व नर्सेज हेतु हॉस्टल आदि परियोजनाओं के कार्य जून से सितम्बर, 2021 तक पूर्ण हो जाएंगे।
मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि विगत 5-6 वर्षों में जनपद वाराणसी में व्यापक रूप से सड़कों का चैड़ीकरण हुआ है। 806 करोड़ रुपए की लागत से सुल्तानपुर-वाराणसी 4-लेन चैड़ीकरण की परियोजना मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएगी। घाघरा ब्रिज वाराणसी सेक्शन में 4-लेन चैड़ीकरण की 785 करोड़ रुपए की परियोजना तथा 868.50 करोड़ रुपए की वाराणसी-गाजीपुर सेक्शन के चैड़ीकरण परियोजना मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएगी। इससे वाराणसी की पूर्वांचल के अन्य जनपदों से बेहतर सड़क कनेक्टिविटी हो जाएगी।

यह भी पढें...रेलवे का नया टारगेट, 2030 तक 45 प्रतिशत माल ढुलाई का हिस्सा कब्जाएंगे

1354.67 करोड़ रुपए की परियोजना वाराणसी रिंग रोड फेज-2 का कार्य तेजी से संचालित है। इस परियोजना का लगभग 25 फीसदी कार्य पूर्ण हो चुका है।
भिखारीपुर तिराहे से NH-2 तक चैड़ीकरण, कैण्ट से पड़ाव मार्ग का चैड़ीकरण मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएगा। बाबतपुर-कपसेठी-भदोही पर ROB माह जून, 2021 में तैयार हो जाएगा। वाराणसी-औड़िहार पर ROB को फरवरी, 2021 में पूर्ण करने का लक्ष्य है। वरुणा नदी पर कालिकाधाम के पास सेतु निर्माण भी जून, 2021 तक हो जाएगा। आगामी 2 माह में कोनिया-सलारपुर मार्ग पर पुल का निर्माण कार्य पूर्ण हो जाएगा। लहरतारा-फुलवरिया मार्ग पर 01 आर0ओ0बी0, 01 पुल व 4-लेन सड़क के निर्माण का कार्य तेजी से चल रहा है। यह परियोजना लगभग 47 प्रतिशत पूर्ण हो चुकी है। इसे अगले वर्ष में पूर्ण कर लिया जाएगा।

यह भी पढें...AAP के पूर्व MLA ने केजरीवाल के कृषि बिल फाड़ने को बताया नौटंकी

मुख्यमंत्री  को अवगत कराया गया कि श्री काशी विश्वनाथ मन्दिर धाम परियोजना का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। इस परियोजना को अगस्त, 2021 में पूर्ण कर लिया जाएगा। वाराणसी शहर में कुकिंग गैस पाइप लाइन परियोजना के तहत 23,600 घरों में इंफ्रास्ट्रक्चर कार्य पूर्ण कर लिया गया है। लगभग 4000 घरों में पाइप लाइन से कुकिंग गैस आपूर्ति भी हो रही है। शहर में 10 सी0एन0जी0 स्टेशन क्रियाशील हैं तथा 03 सी0एन0जी0 पम्प निर्माणाधीन हंै। शहर में वाहन पार्किंग की समस्या के समाधान के लिए गोदौलिया व सर्किट हाउस पर पार्किंग निर्माण का कार्य 70 प्रतिशत पूर्ण हो गया है, यह मार्च, 2021 तक पूर्ण हो जाएगा। टाउन हॉल व बेनियाबाग में भी पार्किंग निर्माण का कार्य माह सितम्बर-दिसम्बर, 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

84 गंगा घाटों पर यूनिफॉर्म साइनेज कार्य भी हो जाएंगे

84 गंगा घाटों पर यूनिफॉर्म साइनेज, पाण्डेपुर, चकरा, सोनभद्र, नदेसर, चितईपुर तालाबों का विकास व सौन्दर्यीकरण सहित 04 पार्कों के सौन्दर्यीकरण के कार्य भी आगामी डेढ़ माह में पूर्ण हो जाएंगे।
ओल्ड काशी के कालभैरव, कामेश्वर महादेव, राजमन्दिर, जंगमबाड़ी, दशाश्वमेध वाॅर्डों का री-डेवलेपमेण्ट का कार्य जुलाई, 2021 में पूर्ण हो जाएगा। शहर के 720 स्थानों पर एडवांस सर्विलांस कैमरे स्थापित करने का कार्य मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएगा। दशाश्वमेध घाट पुनर्विकास परियोजना एवं खिड़किया घाट परियोजना अगले वर्ष में पूर्ण कर ली जाएंगी। 87.36 करोड़ रुपए की लागत से डॉ0 सम्पूर्णानन्द स्मार्ट स्पोट्र्स स्टेडियम के री-डेवलेपमेण्ट की परियोजना लागू की जा रही है।

Related Articles

epaper

Latest Articles