spot_img
9.1 C
New Delhi
Tuesday, January 18, 2022
spot_img

स्ट्रैटेजिक ट्रेडिंग की पेशकश करने के लिए अब स्ट्रीक से लैस हुआ Angel Broking

spot_imgspot_img
Indradev shukla

नई दिल्ली। स्टॉक मार्केट को सेकंड्स में स्कैन करने से लेकर चलते-फिरते ट्रेडिंग रणनीतियों को लागू करने तक स्ट्रीक एक बटन के टच के साथ ट्रेड की योजना और प्रबंधन की अनुमति देता हैमुंबई, 21 मई, 2021: रणनीतिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म स्ट्रीक के साथ साझेदारी के बाद एंजेल ब्रोकिंग के अधिक क्लाइंट स्ट्रैटेजिक ट्रेडिंग सॉल्युशन का इस्तेमाल कर रहे हैं। यह टाई-अप एंजेल ब्रोकिंग ग्राहकों को बिना किसी कोडिंग ज्ञान के ट्रेडिंग स्ट्रैटजी बनाने अपने ट्रेड्स की योजना और प्रबंधन करने की अनुमति देता है।

स्टॉक मार्केट में है मजबूत पकड़
स्ट्रीक का सहज ज्ञान युक्त इंटरफेस एंजेल ब्रोकिंग क्लाइंट्स को एक मिनट के भीतर स्टॉक मार्केट में लाइव ट्रेडिंग स्ट्रैटजी बनाने, बैक-टेस्ट और तैनात करने में सक्षम बनाता है। स्ट्रीक इंटिग्रेशन के साथ रिटेल ग्राहकों को पहले से बनी स्ट्रैटजी की खोज करने, व्यापारिक संकेतों के लिए लाइव मार्केट्स को स्कैन करने और बिना कोडिंग के कागजी व्यापार करने को मिलता है। वे या तो स्ट्रीक के साथ प्री-बिल्ट स्ट्रैटजी का उपयोग कर सकते हैं (अपने बैक-टेस्टिंग प्रदर्शन का विश्लेषण करते हुए) या अपनी खुद की ट्रेडिंग स्ट्रैटजी के साथ सहजता से लाइव हो सकते हैं। एंजेल ब्रोकिंग के ग्राहक बाजार की सेक्टर-वार स्कैनिंग भी कर सकते हैं या कस्टम शर्तों के साथ स्टॉक की बास्केट के लिए ऐसा कर सकते हैं।

Indradev shukla

प्रभाकर तिवारी ने कहा ये
साझेदारी के बारे में एंजेल ब्रोकिंग के मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रभाकर तिवारी ने कहा, “एंजेल ब्रोकिंग अपने प्लेटफॉर्म में अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी सॉल्युशंस के इंटिग्रेशन के साथ सबके लिए बराबर अवसर देने में विश्वास करती है। पहले, इस तरह का सॉल्युशन केवल पेशेवरों, संस्थागत निवेशकों, हेज फंड और एचएनआई के लिए ही उपलब्ध था। अब, कोई भी रिटेल निवेशक इसका लाभ उठा सकता है। इस तरह के इंटिग्रेशन के साथ हमारा लक्ष्य देशभर में सभी हितधारकों, विशेष रूप से मिलेनियल्स, पहली बार के निवेशकों के लिए ट्रेडिंग का लोकतंत्रीकरण करना है।”

एंजेल ब्रोकिंग के सीएमडी का कहना है ये
एंजेल ब्रोकिंग के सीएमडी श्री दिनेश ठक्कर ने कहा, “आज शेयर बाजार में ऑटोमेटेड ट्रेड या एल्गोरिथम ट्रेडिंग की हिस्सेदारी धीरे-धीरे बढ़ रही है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह तकनीक-संचालित अप्रौच अधिक समय-कुशल, आकर्षक और कम त्रुटियों वाली है। हालांकि, एक व्यक्ति को इसका लाभ उठाने के लिए प्रासंगिक कोडिंग स्किल की आवश्यकता होती है। आम निवेशकों को यह नुकसान होता है क्योंकि वे एल्गोरिदम से बेहतर प्रदर्शन नहीं कर सकते हैं। एंजेल ब्रोकिंग में हमारा मानना है कि यह सुनिश्चित करना हमारी जिम्मेदारी है कि हमारे ग्राहक अपने व्यापार का अधिकतम लाभ उठाएं। स्ट्रीक के साथ हमारी साझेदारी इसी तर्ज पर बनी है और अब तक एंजेल ब्रोकिंग के ग्राहकों के पोर्टफोलियो परफॉर्मंस में सुधार कर रही है।

जीरो कोडिंग स्किल की जरूरत
चूंकि, इसके लिए जीरो कोडिंग स्किल की आवश्यकता होती है, स्ट्रीक का इंटरफेस ग्राहकों को अपने ट्रेडिंग आइडिया को सरल भाषा में रखने की अनुमति देता है, जिसे बाद में कम्प्यूटरीकृत कोड में बदल दिया जाता है। इससे बढ़कर यूजर ट्रेडिंग रणनीतियां बनाने के लिए 70 से अधिक टेक्निकल इंडिकेटर्स का लाभ उठा सकते हैं।यह प्लेटफॉर्म आगे चलकर यूजर्स को ट्रेडिंग दुनिया में होने वाली हर गतिविधि के बारे में सूचित करता है ताकि वे अपने ट्रेड्स को उस अनुसार ट्रैक और अलाइन कर सकें। स्ट्रीक की क्लाउड-बेस्ड तकनीक ग्राहकों को सबसे तेज़ बैक-टेस्ट की अनुमति देती है, क्योंकि कोई भी किसी भी डिवाइस पर पिछले पांच वर्षों की सभी ट्रेडिंग स्ट्रैटेजी की समीक्षा कर सकता है।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img