spot_img
27.1 C
New Delhi
Sunday, September 19, 2021
spot_img

कोविड-19: विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाएगी सरकार

–तैयारी शुरू, 7 मई से चरण-बद्ध तरीके से प्रारम्भ होगी
–इस सुविधा के लिए यात्रियों को भुगतान देना होगा
–उड़ान भरने से पहले यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाएगी
–देश में अस्पताल में या संस्थागत क्वारंटाइन में 14 दिन रखा जाएगा

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : विदेशों में फंसे भारतीयों को चरणबद्ध तरीके से वापिस भारत लाने के लिए केंद्र सरकार ने कवायद शुरू कर दी है। सरकार ने सुविधा प्रदान करने की हरी झंडी दे दी है। यात्रा की व्यवस्था हवाई जहाज व नौ-सेना के जहाजों द्वारा की जाएगी। इस संबंध में मानक संचालन प्रोटोकॉल (एसओपी) तैयार की गई है।
विदेश मंत्रालय के दूतावास और उच्चायोग ऐसे व्यथित भारतीय नागरिकों की सूची तैयार कर रहे हैं। इस सुविधा के लिए यात्रियों को भुगतान देना होगा। हवाई यात्रा के लिए गैर-अनुसूचित वाणिज्यिक उड़ानों का इंतजाम होगा। यह यात्राएँ 7 मई से चरण-बद्ध तरीके से प्रारम्भ होंगी।
गृहमंत्रालय के मुताबिक उड़ान भरने से पहले यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाएगी। केवल असिम्प्टोमैटिक यात्रियों को ही यात्रा की अनुमति होगी। यात्रा के दौरान इन सभी यात्रियों को स्वास्थ्य मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा जारी किये गए सभी प्रोटोकॉलों का पालन करना होगा।
मंत्रालय के मुताबिक गंतव्य पर पहुँच कर सभी को आरोग्य सेतु एैप पर रजिस्टर करना होगा। सभी की मेडिकल जांच की जाएगी। जांच के बाद सम्बंधित राज्य सरकार द्वारा उन्हें अस्पताल में या संस्थागत क्वारंटाइन में 14 दिन के लिए भुगतान के आधार पर रखा जाएगा। 14 दिन के बाद दोबारा कोविड टेस्ट किया जाएगा और स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के अनुसार अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।

इस बावत विदेश मंत्रालय और नागरिक उड्डयन मंत्रालय शीघ्र ही इसके बारे में विस्तृत जानकारी सार्वजनिक करेंगे। उधर, सरकार राज्य सरकारों को वापसी करने वाले भारतीयों के परीक्षण, क्वारंटाइन और अपने राज्यों में आवाजाही की व्यवस्था बनाने के लिए सलाह दी जा रही है।

Related Articles

epaper

Latest Articles