spot_img
28.1 C
New Delhi
Wednesday, September 22, 2021
spot_img

पॉल जोन की मिथुना दुनिया की तीसरी बेहतरीन व्हिस्की

— भारत का पहला ब्रांड जिसने यह मान्यता हासिल की
—दुनिया की तीसरी बेहतरीन व्हिस्की का खिताब जिम मुर्रे व्हिस्की बाइबल

(अदिति सिंह) 
नई दिल्ली/ टीम डिजिटल । अपने लॉन्च से पहले ही भारत की जॉन डिस्टलरीज प्राइवेट लिमिटेड (JDPL) के मिथुना सिंगल माल्ट व्हिस्की ने दुनिया में अपनी पहचान बना ली है। इसे दुनिया की तीसरी बेहतरीन व्हिस्की का खिताब जिम मुर्रे व्हिस्की बाइबल 2021 में करार दिया गया है। यह खिताब हासिल करने वाली यह पहली भारतीय शराब ब्रांड बनी है।
पॉल जॉन ने मिथुना को व्हिस्की टु डिवोर् के रूप में उल्लेखित किया है। नामचीन व्हिस्की समीक्षक जिम मोरे ने इस पर जिम मोरे व्हिस्की बाइबल 2021 में कहा है कि अगर मिथुना का मतलब अल्टीमेट है तो यह एक बेहतरीन नाम है। हम यह भी कह सकते हैं कि मिथुना का मतलब ही परफेक्ट है। उन्होंने कहा कि यह दोनों ही एक दूसरे के करीब है। यह वास्तव में ही परफेक्ट या अद्वितीय है। उन्होंने कहा कि यह एक बहुत ही कम देखी जाने वाली चीज है जिसमें कोई ब्रांड अपने को आदित्य या परफेक्ट ना केवल नाम से बल्कि अपनी क्वालिटी से भी सिद्ध करता है।

नवंबर 2020 में वैश्विक स्तर पर लांच होने वाली पौल जॉन की मिथुना जोडिक सीरीज की पौल जॉन की भारतीय सिंगल माल्ट की दूसरी एक्सप्रेशन होगी, जिसे जेडीपीएल लांच कर रहा है। पॉल जॉन के मिथुना ने 97 अंक अर्जित किए हैं और एशियन व्हिस्की ऑफ द ईयर 2021 का पुरस्कार हासिल किया है। वहीं, ज़ोडीक सीरीज में इससे पहले पॉल जॉन की कान्या को एशियन व्हिस्की ऑफ द ईयर 2018 चुना गया था। उस समय जिम मुर्रे व्हिस्की बाइबल ने इसको 96 अंक दिए थे।

JDPL के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर पॉल पी जॉन ने कहा कि हमारी व्हिस्की को दुनिया की तीसरी बेहतरीन व्हिस्की करार देना हमारे लिए गर्व की बात है। यह संभवत किसी भी व्हिस्की बनाने वाले के लिए ऐसा सपना सच होने की तरह है जिसके बारे में बात करने पर गर्व होता है। यह विशेषता हमारे व्हिस्की बनाने के प्रेम, समर्पण और जुनून के साथ ही हमारी प्रतिबद्धता को भी जाहिर करता है।

उन्होंने कहा कि किसी भी भारतीय व्हिस्की निर्माता के लिए यह एक गर्व की बात होगी कि उनके उत्पाद या प्रोडक्ट को दुनिया की बेहतरीन व्हिस्की के समकक्ष ही नहीं माना गया बल्कि उनमें भी अव्वल क्वालिटी का करार दिया गया। इससे यह भी पता लगता है कि भारत अब इस क्षेत्र में एक बेहतरीन उत्पादक के तौर पर वैश्विक स्तर पर स्थापित हो रहा है। सिंगल माल्ट के क्षेत्र में यह दुनिया के बेहतरीन व्हिस्की निर्माता के तौर पर सम्मानित किया जा रहा है। हम गर्व की अनुभूति करते हैं।यह पुरस्कार पाना हमारे लिए एक सपना सच होने जैसा है। यह हमारी प्रतिबद्धता को और बढ़ाएगा। जिससे कि आने वाले समय में हम और बेहतर प्रोडक्ट सामने लाएंगे।

रोचक यह है कि जिम मोरे 4700 व्हिस्की को साल में अपने इस किताब के तहत टेस्ट करते हैं, जिसके आधार पर वह व्हिस्की को नंबर प्रदान करते हैं। जो भी व्हिस्की 94 से 97. 5 की रेंज में आती है उसे वह सुपरस्टार व्हिस्की का खिताब देते हैं। उसे अपनाने के लिए प्रेरित करते हैं। जिम मोरे पिछले 25 साल से यह कार्य कर रहे हैं और अब दुनिया के ऐसे व्हिस्की राइटर हो गए हैं जो पूरी तरह से यही कार्य करते हैं।

 

Related Articles

epaper

Latest Articles