28.9 C
New Delhi
Saturday, February 27, 2021

सिखों ने मनजिंदर सिरसा के घर के बाहर किया प्रदर्शन, फूंका पुतला

-प्रदर्शनकारियों ने सड़क पर बैठ कर चौपई साहिब जी का पाठ किया।
–गुरुद्वारा कमेटी में हुए टेंट एवं तिरपाल घोटाले में केस दर्ज होने पर मांगा इस्तीफा
–अकाली दल के अध्य क्ष सुखबीर बादल के बचाव करने से है सिखों में नाराजगी

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल:  दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिन्दर सिंह सिरसा के खिलाफ केस दर्ज होने के बाद उनके इस्तीरफे को लेकर सिख संगठनों से दबाव बना दिया है। इसको लेकर जागो पार्टी ने रविवार को दोपहर सिरसा के पंजाबी बाग स्थित घर का घेराव किया और सिरसा का प्रतिकात्मोक पुतला फूंका। पार्टी के
अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके के आवाह्नन पर जागो पार्टी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष चमन सिंह एवं प्रमुख महासचिव परमिंदर पाल सिंह के नेतृत्व में पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने सिरसा के घर के बाहर जोरदार रोष प्रदर्शन किया। पंजाबी बाग क्लब के सामने से रोष प्रदर्शन की शुरूआत करते हुए प्रदर्शनकारियों ने सिरसा के घर बाहर लगे पुलिस बेरीकेट्स से पहले सड़क पर बैठ कर चौपई साहिब जी का पाठ किया। पाठ के बाद सिरसा के पुतले का दहन किया गया। इस अवसर पर पार्टी नेताओं ने सिरसा के इस्तीफे को लेकर जोरदार नारेबाजी की।

यह भी पढें...दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी में टेंट घोटाला, फंसे मनजिंदर सिंह सिरसा, FIR दर्ज

चमन सिंह ने कहा कि अकाली दल ने गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी एवं डेरा माफी के गंभीर गुनाहों के बाद सिरसा को क्लीन चिट देकर एक और पाप कमाया है। सिरसा के खिलाफ दोनों एफ.आई.आर. कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली पुलिस द्वारा पूरी जांच के बाद हुई है पर अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल सिरसा को क्लीन चिट देकर सिखों को चिड़ा रहे है। सिरसा ने पिछले 2 साल के राज के दौरान जो अत्याचार स्टाफ के खिलाफ किया है उसकी कोई मिसाल नहीं है। पार्टी के महासचिव परमिन्दर पाल सिंह ने कहा कि पिछले 2 सालों से हम सिरसा की हर गलती को चुपचाप नजरअंदाज कर रहे थे पर अब अदालत के आदेश के बाद दर्ज हुई 2 एफ.आई.आर. को सिरसा जिस तरीके से हमदर्दी लेने के लिए किसान आंदोलन से जोड़ रहे है वह गलत है।

यह भी पढें...DSGMC: मनजिंदर सिरसा के खिलाफ केस दर्ज होते ही विपक्षी दलों ने बोला हमला

किसानों का आंदोलन पवित्र है, सिरसा अपने नापाक गुनाहों को किसानों की ओट में छिपा नहीं सकते। हम सिरसा के घर लंगर की पवित्रता भंग होने, स्टाफ को सताने, गलत इतिहास पढ़ने, दो आई.टी. बंद करने, 1984 की लड़ाई को खराब करने सहित कमेटी में मनमत और कर्मकांडों का प्रचार करने के बावजूद कभी नहीं आये। पर आज हम सिरसा के दरवाजे पर आये हैं ताकि सुखबीर बादल की नींद खुले। उन्होंजने कहा कि जब मनजीत सिंह जीके पर भ्रष्टाचार के कथित आरोप लगे थे तब उन्होंने तुरन्त इस्तीफा दे दिया था। पर आज 2 एफ.आई.आर. दर्ज होने के बाद भी सिरसा इस्तीफा देने से भाग रहे है। राजा बलदीप सिंह ने कहा कि संगत हमें बार-बार पूछ रही है कि हमारे इलाके के पूर्व विधायक सिरसा इस्तीफा क्यों नहीं दे रहें। इस अवसर पर जागो के सभी पदाधिकारी, यूथ एवं कोर बिग्रेड के नेता मौजूद थे।

Related Articles

epaper

Latest Articles