20.7 C
New Delhi
Friday, March 1, 2024

CM मनोहर लाल का दावा, महिलाओं को बनाया विकास में भागीदार

फतेहाबाद /कविता : मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Manohar Lal) ने कहा कि मानव समाज के निर्माण और विकास में महिलाओं का बड़ा योगदान है। हम इस आधी आबादी का आर्थिक एवं शैक्षणिक विकास करने व उन्हें सुरक्षित परिवेश मुहैया करवाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने गांवों के विकास में महिलाओं की भागीदारी (participation of women) सुनिश्चित करने के लिए पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व दिया है। महिलाओं के लिए आजीविका के अवसर बढ़ाने के लिए एक-तिहाई राशन डिपो महिलाओं को देने का प्रावधान किया गया है। अटल किसान मजदूर कैंटीन व वीटा बिक्री केन्द्रों का संचालन भी महिलाओं को सौंपा गया है। स्वरोजगार के लिए महिलाओं के 56 हजार स्वयं सहायता समूहों का गठन भी किया गया है। बेटियों को उच्चतर शिक्षा की सुविधा प्रदान करने के लिए हमने 20 किलोमीटर के दायरे में एक कॉलेज स्थापित किया है। प्रदेश में 76 नए कॉलेज खोले गए हैं। इनमें आधे से अधिक लड़कियों के हैं। आज पोस्ट ग्रेजुएशन तक लड़कियों को मुफ्त शिक्षा दी जा रही है।

—हिसार में भी बनाएंगे मेट्रोपोलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी
—पोस्ट ग्रेजुएशन तक लड़कियों को मुफ्त शिक्षा दी जा रही 

उन्होंने कहा कि हम मानते हैं कि प्रदेश के विकास का मार्ग गांवों की गलियों से होकर गुजरता है और गांवों के विकास में बिजली व इंटरनेट जैसी सुविधाओं का अहम योगदान है। इनके माध्यम से आज रोजगार व शिक्षा के अनेक अवसर घर बैठे उपलब्ध हो रहे हैं। इसलिए हम प्रदेश के 5700 से अधिक गांवों में 24 घंटे बिजली तथा 6 हजार से अधिक गांवों में आप्टिकल फाइबर केबल से इंटरनेट उपलब्ध करवा रहे हैं। हमने संपत्तियों के सालों चलने वाले विवादों को खत्म करने के लिए गांवों को लाल डोरा मुक्त कर दिया है। इसी प्रकार शहरों की सब संपत्तियों की भी प्रापर्टी आईडी बना कर सम्पत्तियों की खरीद-बेच में होने वाली धोखाधड़ी को समाप्त किया है। साथ ही सम्पत्ति के लिए ‘नो डयूज सर्टिफिकेट‘ को भी ऑनलाइन कर दिया गया है।
उन्होंने कहा कि हमने निर्वाचित प्रतिनिधियों, सरकार और ग्राम निवासियों के बीच संबंध स्थापित करने के लिए ‘ग्राम दर्शन’ पोर्टल शुरू किया है। इस पर ग्रामीण अपनी ग्राम पंचायत से संबंधित मांग, सुझाव व शिकायत दे सकते हैं। विकास में पंचायती राज संस्थाओं की भागीदारी अधिकतम करने के लिए हमने उन्हें कई शक्तियां दी हैं। पंचायती राज संस्थाओं की वित्तीय स्थिति मजबूत करने के लिए ग्रामीण क्षेत्र में संपत्ति के मूल्य के 2 प्रतिशत के बराबर स्टाम्प शुल्क का अधिभार लगाया गया है। इससे एकत्रित राजस्व का एक प्रतिशत जिला परिषद व पंचायत समिति को तथा शेष एक प्रतिशत ग्राम पंचायतों को दिया जाता है। हमने विकास कार्यों में गुणवत्ता सुनिश्चित करने, पारदर्शिता लाने और भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए सोशल ऑडिट की अवधारणा को अपनाया है। उन्होंने बताया कि हमने शहरी स्थानीय निकायों की शक्तियों के विकेंद्रीकरण के लिए भी कई कदम उठाए हैं। हमने मेयर का प्रत्यक्ष चुनाव करवाया है। शहरी स्थानीय निकायों की वित्तीय स्थिति मजबूत करने के लिए सम्पत्ति के पंजीकरण पर स्टाम्प शुल्क का दो प्रतिशत राजस्व इन्हें प्रदान किया गया है। हम प्रदेश के शहरों और कस्बों में आधारभूत संरचना सुदृढ़ बनाने पर विशेष बल दे रहे हैं। करनाल, गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला को स्मार्ट सिटी बनाया जा रहा है। गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला के विकास के लिए मेट्रोपोलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी का गठन किया गया है, हिसार में भी यह अथोरिटी बनाएंगे। शहरों की हर संपत्ति की प्रॉपर्टी आई.डी. बनाई है।
उन्होंने प्रदेश के लोगों से अपनी महान सांस्कृतिक परम्पराओं और उच्च नैतिक मूल्यों पर चलते हुए सभी प्रकार के सामाजिक, धार्मिक व साम्प्रदायिक भेदभावों को भुलाकर आपसी प्रेम-प्यार व भाईचारे को बनाए रखने का आहवान किया।
इस अवसर पर समारोह में विभिन्न स्कूली बच्चों ने देश भक्ति के साथ साथ हरियाणवी, पंजाबी व देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तूति दी। मुख्य अतिथि ने समारोह के दौरान स्वतन्त्रता सेनानियों, शहीद परिवारों तथा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश व देश का नाम रोशन करने वाले खिलाडिय़ों को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने समारोह में भाग लेने वाले बच्चों के लिए पांच लाख रुपये देने की घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के स्कूलों के लिए बुधवार को छुट्टी की भी घोषणा की।

पुलिस के कमांडों ने हैरतअंगेज करतब भी दिखाए

प्रदेश स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह में पुलिस जवान के कमांडों ने मोटर साइकिल पर हैरतअंगेज करतब भी दिखाए। वहीं दूसरी ओर पुलिस जवानों ने घुड़सवारी करते हुए अपने कौशल का प्रदर्शन किया। इसके साथ-साथ समारोह में हरियाणा पुलिस की सीआईडी द्वारा किसी लावारिस वस्तु में बम्ब मिलने की सूचना मिलने पर उस पर कार्रवाई करते हुए उसके निष्क्रिय करने की प्रक्रिया भी नाटक के माध्यम से दिखाई गई।
समारोह में हरियाणा सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन सुभाष बराला, एडीजीपी आलोक राय, एडीजीपी सीआईडी आलोक मित्तल, एडीजीपी हिसार मंडल श्रीकांत जाघव, हिसार मंडलायुक्त गीता भारती, उपायुक्त मनदीप कौर, एसपी आस्था मोदी, सेशन जज डीआर चालिया सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व बड़ी संख्या में क्षेत्र के गणामान्य नागरिक मौजूद रहे।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles