41.1 C
New Delhi
Monday, May 23, 2022

सिनेप्रेमियों के लिए अच्छी खबर, जनता के लिए खुला भारतीय सिनेमा का राष्ट्रीय संग्रहालय

नई दिल्ली/ नेशनल ब्यूरो : मुंबई के सिनेप्रेमियों और शहर में घूमने आने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। कोविड महामारी के दौरान बंद रहा भारतीय सिनेमा का राष्ट्रीय संग्रहालय (एनएमआईसी) फिर से जनता के लिए खुल गया है।
सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री डॉ. एल. मुरुगन ने आज इसके फिर से खुलने की घोषणा करते हुए यहां का दौरा किया। उन्होंने दो इमारतों- गुलशन महल हेरिटेज विंग और दक्षिण मुंबई में पेडर रोड स्थित नई आधुनिक इमारत का अवलोकन किया। फिल्म प्रभाग के महानिदेशक रविंद्र भाकर द्वारा डॉ. मुरुगन को संग्रहालय का निरीक्षण कराया गया। उन्होंने व्यापक मरम्मत कार्य के बारे में भी बताया, जो लंबे समय तक बंद रहने के दौरान कराया गया था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जनवरी, 2019 में भारत में अपनी तरह के अनोखे संग्रहालयों में से एक एनएमआईसी का शुभारम्भ किया था। विभिन्न आकारों के 8 विशाल कक्षों में फैले गुलशन महल विरासत भवन में मूक युग से नई लहर तक के भारतीय सिनेमा के इतिहास की झांकी का प्रदर्शन किया गया है। इस नए संग्रहालय भवन में ज्यादातर इंटरएक्टिव डिसप्ले है।

—बच्चों का फिल्म स्टूडियो और गांधी एवं सिनेमा अन्य प्रमुख आकर्षण हैं
—केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री डॉ. एल मुरुगन ने संग्रहालय का दौरा किया

एनएमआईसी में फिल्म “वीरा पांड्या कोट्टाबोम्मन” में शिवाजी गणेशन द्वारा पहने गए कवच और फिल्म “आदिमई पेन” में एम. जी. रामचंद्रन द्वारा पहने गए लाल कोट सहित कलाकृतियों का विशाल संग्रह मौजूद है।


फिल्म संपत्तियों, पुराने उपकरणों, पोस्टरों, महत्वपूर्ण फिल्मों की प्रतियां, प्रचार पत्रक, साउंड ट्रैक, ट्रेलर, ट्रांसपरेंसीज, पुरानी सिनेमा पत्रिकाओं, फिल्म निर्माण और वितरण को कवर करने वाले आंकड़े आदि का व्यवस्थित तरीके से प्रदर्शन किया गया है, जिनमें समय के आधार पर क्रमबद्ध तरीके से भारतीय सिनेमा के इतिहास का चित्रण किया गया है।
बच्चों का फिल्म स्टूडियो और गांधी एवं सिनेमा अन्य प्रमुख आकर्षण हैं। मई में, अत्याधुनिक ऑडिटोरियम से युक्त एनएमआईसी कॉम्पलेक्स 17वां वृत्तचित्र, लघु और एनिमेशन फिल्मों के लिए मुंबई अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (एमएआईएफएफ) की मेजबानी करेगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles