35 C
New Delhi
Sunday, May 22, 2022

हवाई यात्रा का ऑनलाइन खरीदा टिकट कहीं फर्जी तो नहीं…रहे सावधान

नयी दिल्ली /अदिति सिंह । लोगों को हवाई यात्रा का टिकट ऑनलाइन बेचने के बाद उसे (टिकट को) रद्द कर ठगी करने वाले एक गिरोह का दिल्ली पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि इस गिरोह के दो सरगना की पहचान उत्तर प्रदेश के बहराइच निवासी प्रवीण तिवारी और हरियाणा के रेवाड़ी निवासी रोहित कुमार के तौर पर की गयी है। उन्होंने बताया कि इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है और दोनों की उम्र 34 वर्ष है। अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने आरोपियों के पास से सोने की एक चेन बरामद की है जो ठगी के धन से खरीदी गयी और उनके बैंक खाते में 61,267 रुपये पाए गए हैं, जिन्हें जब्त कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि इस ठगी का खुलासा 29 मार्च को हुआ, जब दिल्ली विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर ने शिकायत दर्ज करा कर आरोप लगाया कि एक बुकिंग एजेंट ने उनसे ऑनलाइन ठगी की है।

—ऑनलाइन बेच कर बाद में उसे रद्द कर देने वाले गिरोह का भंडाफोड़
—दिल्ली विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर ने दर्ज कराई थी शिकायत
—हवाई यात्रा के टिकट के लिए ग्राहकों को लुभावनी पेशकश

शिकायत के अनुसार, प्रोफेसर को अप्रैल के पहले सप्ताह में एक आधिकारिक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कनाडा जाना था। उनकी एक छात्रा ने 23 मार्च को एक ऐप पर यात्रा टिकटों की बेहतर दर के लिए उनकी ओर से सर्च किया। कुछ समय बाद छात्रा को टिकट की बुकिंग की पेशकश करते हुए कई फोन किये गये। शिकायत में कहा गया है कि छात्रा प्रवीण तिवारी नाम के एक एजेंट के झांसे में आ गयी। तिवारी ने कथित तौर पर टिकट बुक कर दी और उसकी प्रति उसे व्हाट््सऐप पर भेज दी तथा उसे बैंक खाते में 1,49,730 रुपये जमा कराने को कहा, जो प्रोफेसर ने जमा कर दिए। बाद में जब शिकायतकर्ता ने एयरलाइन के साथ टिकट की जानकारियों की जांच की, तो उन्हें बताया गया कि टिकट रद्द करा दी गयी है। जब उन्होंने एजेंट को फोन किया तो उसका नंबर बंद पाया गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिकायत के बाद जांच शुरू गयी, जिसमें यह पता चला कि कई अन्य लोगों से भी इसी तरह ठगी की गयी है। जांच के दौरान पुलिस ने पंजाब के जीरकपुर में छापा मारा लेकिन आरोपी पुलिस दल के पहुंचने से एक दिन पहले वहां से दूसरी जगह चला गया था। पुलिस उपायुक्त (उत्तर) सागर ङ्क्षसह कलसी ने बताया कि उनके दल को सूचना मिली कि एक आरोपी, तिवारी उत्तर प्रदेश के बहराइच में 14 अप्रैल को सगाई करने जा रहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस का एक दल बहराइच भेजा गया और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। अधिकारी ने बताया, पूछताछ के दौरान यह पता चला कि तिवारी 2016 में पुणे में रोहित कुमार से मिला था। वे दोनों यात्रा एजेंट के तौर पर काम करने लगे और उन्हें भारी नुकसान हुआ। उन्होंने कहा, कुछ महीने पहले उन्होंने जीरकपुर को अपना ठिकाना बनाया और यात्रियों से ठगी की साजिश रची। आरोपियों ने इसके बाद फर्जी मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल कर सुलेखा मोबाइल ऐप पर एजेंट के तौर पर अपना पंजीकरण कराया। आरोपी हवाई यात्रा के टिकट के लिए लुभावनी पेशकश देकर ग्राहकों से संपर्क करते थे। वे टिकट बुक करते थे और ग्राहक के भुगतान करने के बाद उसे रद्द कर देते थे तथा अपना मोबाइल फोन बंद कर देते थे।

Related Articles

epaper

Latest Articles