35 C
New Delhi
Sunday, May 22, 2022

CDS जनरल बिपिन रावत के भाई विजय रावत BJP में शामिल, लड़ सकते हैं चुनाव

नई दिल्ली /अदिति सिंह : देश के पहले सीडीएस रहे दिवंगत जनरल विपिन रावत के भाई कर्नल (सेवानिवृत्त) विजय रावत बुधवार को भाजपाई हो गए। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पार्टी में शामिल करा दिया। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर ङ्क्षसह धामी, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक, प्रदेश के प्रभारी दुष्यंत गौतम और राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर विजय रावत ने कहा कि भाजपा का काम करने का तरीका बहुत प्यारा है और यही एक पार्टी है जो वास्तव में देश का भला करना चाहती है। भाजपा की सोच भी बहुत अच्छी है।
कर्नल अजय रावत ने कहा कि मेरे पिता सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद बीजेपी के साथ थे। अब मुझे एक अवसर मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन विशेष है।

-उत्तराखंड से लड़ सकते हैं चुनाव, भाजपा ने खेला दांव
-उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी ने कराई ज्वाइनिंग, कहा-मिलेगा लाभ
–प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन विशेष है, इसी ने प्रोत्साहित किया : रावत

उनका सारा काम इस देश की प्रगति के लिए है। इसी ने मुझे बीजेपी में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया। उत्तराखंड के लिए उनकी योजना एक महान दृष्टि का उत्पाद है। बीजेपी के काम करने के तरीके की सभी प्रशंसा करते हैं। लोग वास्तविक कल्याण और प्रगति चाहते हैं। रावत ने कहा कि वह बहुत दिनों से भाजपा से जुडऩे की सोच रहे थे, लेकिन अब उन्हें यह अवसर मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी दूर²ष्टि अछ्वुत है और सोच बहुत आगे की है जो आउट ऑफ द बॉक्स (लीक से हटकर) होती है। उन्होंने कहा, उनके (मोदी के) कार्य देश को आगे ले जाने के लिए है और यही एक बहुत बड़ी चीज है, जो हमें भाजपा से जुडऩे के लिए प्रेरणा देती है। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि जनरल विपिन रावत उत्तराखंड के गौरव थे। उत्तराखंड उनकी जन्मभूमि थी, इसलिए वहां से उनका विशेष लगाव था। वह वहां भविष्य में काम भी करना चाहते थे। मुझे बहुत खुशी है कि आज उन्हीं के विचारों को आगे बढ़ाने के लिए कर्नल विजय रावत भाजपा में शामिल हुए हैं। धामी ने कहा कि विजय रावत के आने से पार्टी राज्य में और मजबूत होगी। कर्नल अजय रावत ने 34 साल की सेवा के दौरान कई पदों पर काम किया है। जनरल बिपिन रावत को खोने के बाद से एक खालीपन महसूस कर रहे हैं। उनके भाई अब हमारे साथ हैं। मोदी जी के काम से प्रेरणा लेकर कर्नल विजय रावत हमसे जुड़े हैं। कर्नल रावत का बेटा भी आर्मी में है। परिवार की 3 पीढिय़ां सेना में हैं, हम उनका स्वागत करते हैं।
बता दें कि आठ दिसंबर को सीडीएस जनरल बिपिन रावत अपनी पत्नी मधुलिका रावत और सलाहकार ब्रिगेडियर एल एस लिड्डर के साथ तमिलनाडु के सुलूर एयर बेस से एमआई वी -17 वी 5 से उंटी के पास वेलिंगटन में डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज जा रहे थे, तभी हेलीकॉप्टर लैंड करने के सात मिनट पहले ही दुर्घटना ग्रस्त हो गया था।

Related Articles

epaper

Latest Articles