spot_img
27.1 C
New Delhi
Wednesday, September 29, 2021
spot_img

केरल में पर्यटन स्थलों के लिए COVID-19 के टीकाकरण अभियान में तेजी

  • वायनाड में व्याथिरी 100% टीकाकरण वाला पहला पर्यटन स्थल बन गया

तिरुवनंतपुरम, 31 जुलाई। केरल ने सभी पर्यटन स्थलों को पर्यटकों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित एवं जोखिम मुक्त बनाने के लिए कोविड -19 के लिए टीकाकरण अभियान को तेज कर दिया है। यही नहीं,वायनाड जिले में व्याथिरी इस पहल के तहत पर्यटन क्षेत्र के हितधारकों सहित पूरी आबादी को कवर करने वाला पहला पर्यटन स्थल बन गया है। महामारी के कम होने पर पूरे केरल को पर्यटकों का स्वागत करने के लिए तैयार रखने के लिए यह पहल मिशन-मोड पर शुरू किया गया। टीकाकरण अभियान ने राज्य भर के हिल स्टेशनों, बैकवाटर हब, समुद्री किनारों के पर्यटन स्थलों और विरासत और सांस्कृतिक पर्यटन केंद्रों सहित सभी पर्यटन स्थलों में गति पकड़ ली है। केरल के पर्यटन मंत्री श्री पी ए मोहम्मद रियास ने इस महीने के शुरुआत में ही इस पहल की घोषणा की थी।

महिला को तालिबानी सजा, निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया, कंधे पर पति को उठाकर चलवाया

समुद्र तल से 700 मीटर उपर और कोझीकोड से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक हरे-भरे इको-टूरिज्म हॉटस्पॉट, व्याथिरी में 13-17 जुलाई तक आयोजित एक गहन टीकाकरण अभियान के दौरान सभी पर्यटन सेवा प्रदाताओं सहित इसकी पूरी आबादी का टीकाकरण किया गया था। कर्नाटक और तमिलनाडु के साथ सीमा साझा करने वाला वायनाड दक्षिण भारत का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है, जो अपनी आश्चर्यजनक प्राकृतिक सुंदरता और अनुकूल वातावरण के लिए जाना जाता है। रियास ने कहा,“महामारी के बाद के चरण में, पर्यटक समय बिताने के लिए सुरक्षित और मेहमानवाजी वाले स्थानों पर जाना चाहेंगे। सरकार राज्य भर के सभी पर्यटन स्थानों में पूरे हितधारकों को कोविड–19 वैक्सीन देना बेहद महत्वपूर्ण मानती है।“

मंत्री ने कहा, “अद्वितीय प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण, वायनाड में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। हमारी योजना इस क्षेत्र को साहसिक पर्यटन सहित फुरसत और अवकाश गतिविधियों के समृद्ध मिश्रण के एक केंद्र के रूप में विकसित करने की है।” केरल सरकार के पर्यटन के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ वी वेणु आईएएस ने कहा, “टीकाकरण अभियान अच्छी तरह से चल रहा है क्योंकि यह एक मिशन मोड पर चलाया जा रहा है। पर्यटन विभाग के साथ,उद्योग निकाय,कर्मचारी मंच और स्थानीय समुदाय इसकी सफलता के लिए इस मिशन में सक्रिय रूप से शामिल है।”

खुशखबरी: दिल्ली से लेह यात्रा में लगने वाला समय होगा आधा

“यह पहल निश्चित रूप से केरल को महामारी के बाद के चरण में यात्रा करने के लिए एक जोखिम-मुक्त स्थान के रूप में दर्जा दिलाएगी,” केरल सरकार के पर्यटन निदेशक श्री वी आर कृष्णा तेजा आईएएस ने कहा। “भविष्य में एक महत्वपूर्ण पहल उन स्थानों पर पर्यटकों का विश्वास बढ़ाना होगा जहां की वे यात्रा करना चाहते हैं।” इस अभियान में होटलों, रिसॉर्टों और होम-स्टे, टूर गाइडों, टैक्सी और ऑटो रिक्शा चालकों और पर्यटन केंद्रों के व्यापारियों सहित यात्रा और आतिथ्य उद्योग से जुड़े पूरे सेवा प्रदाताओं  को कवर किया जा रहा है।

इस पहल में राज्य भर से शामिल किए जाने वाले प्रमुख स्थलों में अलाप्पुझा, मुन्नार, फोर्ट कोच्चि, कुमारकोम, कोवलम और वर्कला शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन और उद्योग निकायों के सहयोग से पर्यटन विभाग की ओर से व्याथिरी में आयोजित टीकाकरण अभियान के दौरान केवल पर्यटन क्षेत्र में ही 5395 लोगों को टीके की पहली डोज दी गई। व्याथिरी में अभियान का संचालन व्याथिरी तालुक अस्पताल और सुगंधगिरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा किया गया था।

Related Articles

epaper

Latest Articles