spot_img
17.1 C
New Delhi
Tuesday, December 7, 2021
spot_img

खुशखबरी, वयस्कों के लिए कोविड टीका अक्टूबर में, बच्चों के लिए 5 महीने बाद मिलेगा टीका

spot_imgspot_img
—सीरम इंस्टीटयूट कोविशील्ड का उत्पादन बढ़ाने का प्रयास कर रही
—पूनावाला ने संसद में गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की
—सरकार हमारा सहयोग कर रही है और हमारे समक्ष कोई वित्तीय संकट नहीं
Indradev shukla

नयी दिल्ली /टीम डिजिटल : सीरम इंस्टीटयूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत में उनकी कंपनी द्वारा बनाया जाने वाला कोविड-19 का एक अन्य टीका कोवोवैक्स वयस्कों के लिए अक्टूबर में जारी हो जाएगा और बच्चों के लिए यह 2022 में जारी होगा। उन्होंने सीरम इंस्टीटयूट को सहायता देने के लिए सरकार को धन्यवाद दिया और कहा कि कंपनी कोविशील्ड का उत्पादन बढ़ाने का प्रयास कर रही है ताकि मांग पूरी की जा सके। पूनावाला ने संसद में गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और दोनों के बीच बैठक 30 मिनट तक चली। पूनावाला ने बैठक के बाद से कहा,सरकार हमारा सहयोग कर रही है और हमारे समक्ष कोई वित्तीय संकट नहीं है। सभी सहयोग एवं समर्थन के लिए हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार प्रकट करते हैं।बच्चों के टीका के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, बच्चों के लिए कोवोवैक्स अगले वर्ष शुरू होगा और ज्यादा संभावना है कि जनवरी-फरवरी तक शुरू हो जाए। पूनावाला ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वयस्कों के लिए कोवोवैक्स अक्टूबर में शुरू हो जाएगा और यह डीसीजीआई की मंजूरी पर निर्भर करता है।

Indradev shukla

उन्होंने बताया कि यह दो खुराक वाला टीका होगा और शुरू करने के वक्त इसकी कीमत तय की जाएगी। कोविशील्ड की उत्पादन क्षमता के बारे में उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रति महीने 13 करोड़ टीका का उत्पादन हो रहा है और इसे और बढ़ाने का प्रयास जारी है। ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका के साथ लाइसेंस समझौता के तहत कोविशील्ड का निर्माण और आपूर्ति भारत में सीरम इंस्टीटयूट कर रहा है। पूनावाला ने स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया से भी मुलाकात की। मंत्री ने टवीट किया कि कोविशील्ड टीके की आपूर्ति पर पूनावाला के साथ उनकी सकारात्मक चर्चा हुई। मांडविया ने कहा, कोविड-19 को कम करने में उनकी भूमिका की मैं प्रशंसा करता हूं और टीका उत्पादन में सरकार के सहयोग का आश्वासन दिया।आधिकारिक सूत्रों ने बताया था कि भारत के केंद्रीय औषधि प्राधिकरण के विशेषज्ञों की एक समिति ने पिछले महीने दो वर्ष से 17 वर्ष उम्र तक के बच्चों के लिए कोवोवैक्स के दूसरे/तीसरे चरण के परीक्षण की खातिर सीरम इंस्टीटयूट ऑफ इंडिया को मंजूरी दी थी। परीक्षण में 920 बच्चे शामिल होंगे जिनमें 12 से 17 वर्ष और दो से 11 वर्ष तक के उम्र वर्ग में 460 – 460 बच्चे होंगे।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img