35 C
New Delhi
Sunday, May 22, 2022

भारत आत्मनिर्भर बनेगा तभी आधुनिक भारत का निर्माण होगा : मोदी

नई दिल्ली /अदिति सिंह : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आम बजट को देश की अर्थव्यवस्था को सही दिशा में एवं तेज गति से ले जाने वाला बताया। साथ ही कहा कि देश में जीवन की सुगमता ईज ऑफ लिविंग और कारोबार की सुगमता अर्थात ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के अगले चरण के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री मोदी ने आज यहां बुधवार को केंद्रीय बजट 2022-23 के परिप्रेक्ष्य में देश भर के भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल संवाद किया। साथ ही कहा कि विश्व भर के लोग एक सशक्त भारत देखना चाहते हैं। इसके लिए यह जरूरी है कि हम अपने देश को तेज गति से आगे ले चलें और विभिन्न सेक्टरों को मजबूत किया जाए। यह समय नई आकांक्षाओं को पूरा करने का है। यह महत्वपूर्ण है कि भारत आत्मनिर्भर बने और इस आधार पर आधुनिक भारत का निर्माण हो। उन्होंने कहा कि ये समय नए अवसरों का है, नए संकल्पों की सिद्वि का समय है। बहुत जरूरी है कि भारत आत्मनिर्भर बने और आत्मनिर्भर भारत की नींव पर एक आधुनिक भारत का निर्माण हो।

-प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं से किया संवाद, गिनाए बजट के फायदे
-कारोबारी सुगमता : ईज ऑफ डूइंग बिजनेस 2.0 शुरू करने को तैयार
-युवा आकांक्षाओं और युवा सपनों को समझती है भाजपा
-देश को तेज गति से आगे ले चलना है : प्रधानमंत्री

उन्होंने कहा कि सरकार कारोबारी सुगमता का दूसरा संस्करण ईज ऑफ डूइंग बिजनेस 2.0 शुरू करने के लिए तैयार है। हम सबने महामारी का मिलकर एवं मजबूती से सामना किया है। हमारी अर्थव्यवस्था के बुनियादी तत्व मजबूत हैं और दिशा सही एवं गति तेज हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कल बहुत ही अच्छे ढंग से बजट के कुछ पहलुओं को हमारे सामने रखा है। बजट भाषण में पूरा बजट संभव नहीं होता है, क्योंकि बजट में बहुत बड़ा दस्तावेज होता है, बारीकियां होती हैं और सदन में ये सब बोलना संभव भी नहीं होता है। उन्होंने कहा कि इस समय 100 साल में आई सबसे बड़ी वैश्विक महामारी से देश लड़ रहा है। कोरोना का ये कालखंड दुनिया के लिए अनेक चुनौतियां लेकर आया है। दुनिया उस चौराहे पर आकर खड्ी हो गई है जहां टर्निंग प्वाइंट निश्चित है। आगे जो दुनिया जो हम देखने वाले हैं, वो वैसी नहीं होगी, जैसी कोरोना से पहले थी। पीएम मोदी ने कहा कि यह बजट गरीब, मध्यम वर्ग और युवाओं पर केंद्रित है तथा इसका मकसद उन्हें बुनियादी जरूरतें मुहैया कराना है। हमारी सरकार बुनियादी सुविधाओं को हर जगह सुलभ कराने के लिए काम कर रही है।
प्रधानमंत्री मोदी ने प्रो-पीपल और प्रोग्रेसिव बजट के विभिन्न आयामों से कार्यकर्ताओं को अवगत कराया। देश भर में लगभग 1800 स्थानों से राज्य, जिला और मंडल स्तर से भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उप-मुख्यमंत्री, राज्य सरकार में मंत्री, पार्टी पदाधिकारी, पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं लाखों पार्टी कार्यकर्ता जुड़े। पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा युवा आकांक्षाओं और युवा सपनों को समझती है। ये इस बजट में भी स्पष्ट रूप से दिखता है। इस बजट में स्टार्ट अप्स के लिए टैक्स बेनिफिट को आगे बढ़ाया गया है। अब पोस्ट ऑफिस के खातों में भी बैंकों की तरह ही मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम और ऑनलाइन फंड ट्रांसफर की सुविधा मिल पाएगी। अभी देश में डेढ़ लाख से अधिक पोस्ट ऑफिस हैं, जिसमें से अधिकतर गांवों में हैं। पोस्ट ऑफिस में जिनके सुकन्या समृद्धि अकाउंट और पीपीएफ अकाउंट हैं, उनको भी अब अपनी किश्त जमा करने पोस्ट ऑफिस जाने की ज़रूरत नहीं है। अब वो सीधे अपने बैंक अकाउंट से ऑनलाइन ट्रांसफर कर पाएंगे। अब पोस्ट ऑफिस के खातों में भी बैंकों की तरह ही मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम और ऑनलाइन फंड ट्रांस्फर की सुविधा मिल पाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते सात वर्षों में जो निर्णय लिए गए, जो नीतियां बनीं, पहले की जिन नीतियों में सुधार हुआ, उस वजह से आज भारत की अर्थव्यवस्था का निरंतर विस्तार हो रहा है। 7-8 साल पहले भारत की जीडीपी 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपए थी। आज भारत की अर्थव्यवस्था 2 लाख 30 हजार करोड़ के आसपास की है। जब गरीब को मूलभूत सुविधाएं मिलती हैं तो वो अपनी ऊर्जा, अपने विकास, देश के विकास में लगाता है। इस बजट का भी फोकस गरीब, मिडिल क्लास और युवाओं को बुनियादी सुविधाएं देने और आय के स्थाई समाधानों से जोडऩे पर है।
इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बी. एल. संतोष, पार्टी के सभी राष्ट्रीय महासचिव, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, केंद्र सरकार में मंत्री तथा पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी एवं नेता डॉ अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली और कई अन्य जगहों से वर्चुअली जुड़े।

इस बार के बजट में पब्लिक इन्वेस्टमेंट है

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस बार बजट में एक बात जो सबसे खास, और सबसे अलग है तो वो है – पब्लिक इन्वेस्टमेंट। ये कितना बड़ा कदम है और इसका असर कितना बड़ा होगा, इस बात का अनुमान इससे लगा सकते हैं कि वर्ष 2013-14 में सार्वजानिक निवेश सिर्फ 1 लाख 87 हजार करोड़ था। इस बजट में ये 7 लाख 50 हजार करोड़ रुपए है। उन्होंने कहा कि 2014 में देश में 90 हजार किलोमीटर नेशनल हाइवेज थे। ये 90 हजार किलोमीटर हाइवे पिछले 70 सालों में बने थे। हमने पिछले 7 सालों में ही 50 हजार किलोमीटर नेशनल हाइवेज बनाए हैं। पीएम गतिशक्ति मास्टर प्लान के तहत देश में नए हाइवे और बनाएँगे।

देश में कोई क्षेत्र पिछड़ा रहे, ये ठीक नहीं : मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत जैसे देश में कोई क्षेत्र पिछड़ा रहे, ये ठीक नहीं था। इसलिए आकांक्षी जिला अभियान शुरू किया था। इन जिलों में गरीब की शिक्षा के लिए, स्वास्थ्य के लिए, सड़कों के लिए, बिजली-पानी के लिए जो काम हुए, उसकी प्रशंसा संयुक्त राष्ट्र ने भी की है। सीमा पर मौजूद गांवों के विकास के बारे में नए सिरे से सोचा गया है। ऐसे गावों में हर प्रकार की सुविधा हो, बिजली-पानी-सड़क का इंतजाम हो, इसके लिए बजट में विशेष वाइब्रेंट विलेज प्रोगाम का ऐलान किया गया है। राष्ट्र रक्षा से जुड़े एक और बड़े अभियान ‘पर्वतमाला परियोजनाÓ की बजट में घोषणा की गई है। ये हिमालय के क्षेत्रों में आधुनिक कनेक्टिविटी और आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर को विस्तार देने वाली है।

Related Articles

epaper

Latest Articles