spot_img
11.1 C
New Delhi
Saturday, January 29, 2022
spot_img

दिल्ली के धर्मशिला, संजय गांधी, अंबेडकर एवं इन्द्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल में लगेंगे ऑक्सीजन जेनेरेटर

spot_imgspot_img
Indradev shukla

– एक ऑक्सीजन जेनेरेटर 250 बिस्तरों को सालभर तक ऑक्सीजन देगा
– ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले लगेंगे अत्याधुनिक संयंत्र
– फ्रांस ने भारत को दिए हैं 8 ऑक्सीजन जेनेरटर
– हरियाणा, तेलंगाना को भी मिलेगा आक्सीजन जेनेटर

नई दिल्ली, अदिती सिंह: देश में कोरोना महामारी के विकराल रूप धारण करने के बाद मचे हाहाकार के बीच दुनिया के दो दर्जन से अधिक देशों ने भारत पर दरियादिली दिखाते हुए मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। इसमें फ्रांस भी शामिल है, जिसने भारत को अस्पताल में ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले आठ अत्याधुनिक संयंत्र प्रदान किये हैं। नोवएयर प्रीमियम आर एक्स 400 हॉस्पिटल लेवल ऑक्सीजन जेनेरेटर 250 बिस्तरों को सालभर तक ऑक्सीजन दे सकता है। ये ऑक्सीजन जेनेरेटर देश के आठ अस्पतालों को दस साल से अधिक समय तक अनवरत प्राणवायु प्रदान करने में सक्षम है।

Indradev shukla

दिल्ली के इन 4 अस्पतालों में लगाए जाएंगे ऑक्सीजन जेनेरेटर

केंद्र सरकार ने प्राथमिकता एवं आवश्यकता के आधार पर उन आठ अस्पतालों को पहले से चिह्नित कर लिया है जहां ये संयंत्र लगाये जाएंगे। इनमें से राजधानी दिल्ली के चार अस्पताल धर्मशिला अस्पताल, संजय गांधी अस्पताल, अंबेडकर अस्पताल और इन्द्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल शामिल हैं। इनके अलावा हरियाणा एवं तेलंगाना के अस्पताल हैं। इससे कई महत्वपू्र्ण स्थानों पर ऑक्सीजन (Oxygen) आपूर्ति को लेकर राहत मिल सकेगी।

दिल्ली में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन की खपत रोजाना 700 मीट्रिक टन

खास बात यह है कि प्रत्येक नोवएयर प्रीमियम आर एक्स 400 हॉस्पिटल लेवल ऑक्सीजन जेनेरेटर (Oxygen generator) 250 बिस्तरों को सालभर तक ऑक्सीजन दे सकता है। इससे दिल्ली के अस्पतालों में आक्सीजन को लेकर हो रही मारामारी से निजात मिल जाएगी। फ्रांस की सरकार ने इस खेप को भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी के माध्यम से भारत सरकार को सौंपा है। बता दें कि फ्रांस के राष्ट्रपति एमेनुअल मैंकों ने सोशल मीडिया पोस्ट पर भारत से एकजुटता व्यक्त करते हुए एक संदेश हिन्दी में दिया था। गौरतलब है कि कोरोना महामारी के बीच सबसे ज्यादा आक्सीजन की डिमांड राजधानी दिल्ली में रही। दिल्ली में आक्सीजन की खपत रोजाना 700 मीट्रिक टन की हो रही है। इसके लिए भारत सरकार एवं रेल मंत्रालय देश के अलग अलग हिस्सों से आक्सीजन एक्सप्रेस के जरिये दिल्ली को संजीवनी पहुंचाने में जुटा है। इन आधुनिक जेनेरेटरों के लग जाने से बड़ी समस्या हल हो जाएगी।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img