spot_img
8.1 C
New Delhi
Saturday, January 29, 2022
spot_img

ओडिशा में दी यास ने दस्तक, चक्रवाती तूफान के चलते कई इलाको में भारी बारिश

spot_imgspot_img
Indradev shukla

नई दिल्ली/ साधना मिश्रा: ताऊते चक्रवात (Taoute Cyclone) के बाद भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक ही भारत के पूर्वी तटीय क्षेत्रों में ‘यास’ (Yaas) चक्रवात का प्रभाव दिखाई देना शुरु हो गया है। बीते सोमवार की रात से ही भुवनेश्वर में भारी बारिश हो रही है। बताया जा रहा कि अगले 24 घंटो में ये तूफान बंगाल और ओडिशा के तटो से टकरा सकता है। इसी बीच ओडिशा और बंगाल के तटीय क्षेत्रों से लोगों को निकाल कर सुरक्षित स्थान पर ले जाने का काम शुरु कर दिया गया है।

भुवनेश्वर समेत कई इलाको में भारी बारिश के साथ तेज हवाएं
मौसम विभाग के मुताबिक ‘यास’ साइक्लोन 26-27 मई को आने वाला था। लेकिन ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर समेत कई इलाकों में बीती सोमवार रात से ही इसका असर दिखाई देना शुरु हो गया है। यहां बारिश के साथ-साथ तेज हवाएं भी चल रही है। 26 मई तक ओडिशा और पश्चिम बंगाल (West Bengal) के तटो से चक्रवात के टकराने की संभावना जताई जा रही है। फिलहाल तटीय इलाको से लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाने का काम जारी है।

Indradev shukla

यह भी पढ़े… खाद्य मंत्री इमरान हुसैन ने किया राशन दुकानों का औचक निरीक्षण, मिली गड़बड़ी

यास साइक्लोन को लेकर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि, जिले के जिन 20 राज्यों को तूफान प्रभावित कर सकता है उससे निपटने के लिए हमने सभी जरुरी इंतजाम कर लिए है। उन्होंने आगे कहा कि राज्य किसी भी नुकसान से बचाने के लिए कम से कम 10 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित करने का बना रहा है।

यह भी पढ़े… दिल्ली में संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर केजरीवाल सरकार ने कसी कमर

आपको बता दें कि बीते दिनों महाराष्ट्र, गोवा, गुजरात, केरल सहित कई राज्यों में चक्रवाती तूफान ताऊते ने भीषण तबाही मचाई थी। तूफान के चलते कोरोना काल में बड़ी संख्या में जानमाल का नुकसान हुआ था। ताऊते साइक्लोन के कारण 22 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

spot_imgspot_imgspot_img

Related Articles

epaper

spot_img

Latest Articles

spot_img