32.1 C
New Delhi
Monday, July 15, 2024

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने वैजयंतीमाला, चिरंजीवी, फातिमा बीवी को पद्म विभूषण से किया सम्मानित

नई दिल्ली /अदिति सिंह: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने गुजरे जमाने की अभिनेत्री वैजयंतीमाला बाली, तेलुगू अभिनेता कोनिडेला चिरंजीवी, उच्चतम न्यायालय की पहली महिला न्यायाधीश (दिवंगत) एम फातिमा बीवी और बॉम्बे समाचार के मालिक एच. एन. कामा समेत अन्य प्रतिष्ठित व्यक्तियों को बृहस्पतिवार को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया। राष्ट्रपति भवन में आयोजित नागरिक अलंकरण समारोह में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता ओ. राजगोपाल, लद्दाख के दिवंगत आध्यात्मिक नेता तोगदान रिनपोचे तथा तमिल अभिनेता दिवंगत कैप्टन विजयकांत (दोनों मरणोपरांत), गुजराती समाचार पत्र ‘जन्मभूमि’के समूह संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कुंदन व्यास को भी पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

—राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने प्रतिष्ठित व्यक्तियों को पद्म पुरस्कार से नवाजा
—भारतीय जनता पार्टी के नेता ओ. राजगोपाल को दिया पद्म पुरस्कार

वैजयंतीमाला (90) और चिरंजीवी (68) को पद्म विभूषण से नवाजा गया, वहीं बीवी, कामा, राजगोपाल, विजयकांत, रिनपोचे और व्यास को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। बीवी, विजयकांत और रिनपोचे के परिवार के सदस्यों ने पुरस्कार प्राप्त किए। इस अवसर पर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह उपस्थित थे। देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों- पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री में प्रदान किए जाते हैं। पुरस्कारों की घोषणा हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है। वर्ष 2024 के लिए, राष्ट्रपति ने 132 पद्म पुरस्कार प्रदान करने की मंजूरी दी थी, जिसमें दो युगल मामले (पुरस्कार को एक के रूप में गिना जाता है) शामिल हैं। इस सूची में पांच पद्म विभूषण, 17 पद्म भूषण और 110 पद्म श्री पुरस्कार शामिल हैं। आधे से अधिक पुरस्कार विजेताओं को 22 अप्रैल को सम्मानित किया गया था, शेष को बृहस्पतिवार को सम्मान से नवाजा गया। भारतीय सिनेमा की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक मानी जाने वाली वैजयंतीमाला ने 1950 और 1960 के दशक तक सिने परदे पर राज किया। ‘देवदास’, ‘नया दौर’, ‘आशा’, ‘साधना’, ‘गंगा जमना’, ‘संगम’, ‘ज्वेल थीफ’ समेत वह कई चर्चित फिल्मों का हिस्सा रहीं। उन्होंने कुछ तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और बांग्ला फिल्मों में भी अभिनय किया। वैजयंतीमाला की आखिरी हिंदी फिल्म 1970 की ‘गंवार’ थी। वैजयंती माला को 1968 में चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया गया। दक्षिण के सुपरस्टार में से एक चिरंजीवी ने तेलुगु के साथ-साथ हिंदी, तमिल और कन्नड़ में 150 से अधिक फिल्मों में काम किया है। उनकी कुछ लोकप्रिय फिल्मों में ‘रुद्र वीणा’, ‘इंद्र’, ‘टैगोर’, ‘स्वयं कृषि’, ‘साई रा नरसिम्हा रेड्डी’, ‘स्टालिन’ और ‘गैंग लीडर’ शामिल हैं। चिरंजीवी 2023 में ‘भोला शंकर’ में दिखे थे और आगामी दिनों में उनकी फिल्म ‘विश्वंभरा’ आएगी। अभिनेता को 2006 में तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles