35 C
New Delhi
Sunday, May 22, 2022

DSGMC अध्यक्ष हरमीत कालका ने विपक्ष पर किया अटैक, अकाल तख्त से शिकायत

नयी दिल्ली/ खुशबू पाण्डेय : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC) ने शनिवार को अंतरिम बोर्ड के चुनाव के दौरान जनरल हाउस में परमजीत सिंह सरना, हरविंदर सिंह सरना तथा मनजीत सिंह जी.के के विपक्षी गुट द्वारा श्री गुरु ग्रंथ साहिब की मौजूदगी में हुड़दंगबाज़ी कर गुरु साहिब की बेअदबी करने की शिकायत जत्थेदार अकाल तख्त साहिब ज्ञानी हरप्रीत सिंह से की है। साथ ही मामले की पूरी वीडियो रिकार्डिंग मंगवा कर दोषियों को श्री अकाल तख्त साहिब पर तलब करने की मांग की है।
दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका व महासचिव जगदीप सिंह काहलों ने पत्रकारों को बताया कि कल विपक्षी दल ने चुनाव प्रक्रिया को रोकने की पुरज़ोर कोशिश की। पोलिंग बूथ व बैलट पेपर सहित पूरे सामान पर कब्ज़ा कर लिया तथा श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की हजूरी में हुड़दंगबाजी कर मर्यादा भंग की, जिसके चलते समूची कौम शर्मसार हुई है। उन्होंने बताया कि ज्ञानी हरप्रीत सिंह जी को चिट्ठी लिख कर अपील की है कि पूरी चुनाव प्रक्रिया की वीडियो मंगवा कर जांच की जाये तथा जो कोई भी दोषी हो उसे अकाल तख्त साहिब तलब कर सज़ा दी जाए क्योंकि पूरा सच संगत के सामने आना बहुत जरूरी है।

—चुनाव रोकने के लिए श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की: कालका
—श्री गुरु ग्रंथ साहिब की हजूरी में हुड़दंगबाजी कर मर्यादा भंग की
—श्री अकाल तख्त साहिब पर तलब करने की मांग की

कालका व काहलों ने कहा कि सरना बंधूओं तथा मनजीत सिंह के बीच हुए नापाक गठबंधन को संगत ने पहले आम चुनावों में हराया था और फिर सदस्यों ने भी उनका कोई साथ नहीं दिया। इससे बौखला कर वह पहले से ही चुनावों में रूकावट डालने की मंशा बना कर आये थे जैसा कि वह पहले भी अदालतों के माध्यम से चुनाव लटकाने की कोशिश करते रहे हैं। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ सदस्य सुखबीर सिंह कालड़ा ने चश्मा नहीं लगाई थी तो उन्होंने प्रोटैम चेयरमैन गुरदेव सिंह से पूछ लिया कि कहां अपनी वोट डालनी है जिसके बाद सरना बंधूओं ने हंगामा शुरु कर दी। पंथ की महान संस्था शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी द्वारा भी मामला हल करने के लिए दिये गये सुझाव उन्होंने नहीं माने तथा 10 घंटे तक वोटिंग रुकी रही।

यह भी पढें…DSGMC चुनाव : सरना का आरोप, गुरुद्वारा कमेटी में लोकतंत्र की हत्या, विपक्ष को कुचला

पश्चात पुलिस ने भी उन्हें मनाने की कोशिश की पर वह नहीं मानें। सरना बंधूओं ने धामी के खिलाफ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल भी किया। उन्होंने कहा कि कल जो कुछ भी हुआ, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण था और इसके लिए प्रबंधक होने के नाते पश्चाताप के रूप में 25 जनवरी को सुबह 11 बजे गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में श्री अखंड पाठ साहिब रखवाने का फैसला किया है। वह संगत से भी अपील करते हैं कि बढ़ चढ़ कर इस मौके पर हाज़री भरें। उन्होंने कहा कि जो विपक्षी दलों ने किया, उसने 50 वर्षों का इतिहास कलंकित कर दिया है।
इस मौके पर कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरविंदर सिंह के.पी, उपाध्यक्ष आत्मा सिंह लुबाणा, संयुक्त सचिव जसमेन सिंह नोनी तथा कार्यकारिणी सदस्यों में सरवजीत सिंह विरक, अमरजीत सिंह फतिह नगर, गुरमीत सिंह भाटिया, बीबी रणजीत कौर, विक्रम सिंह रोहिणी, भुपिंदर सिंह भुल्लर, अमरजीत सिंह पिंकी, बलबीर सिंह, सुरजीत सिंह जीती व जसबीर सिंह जस्सी के अलावा अन्य सदस्य भी मौजूद रहे।

Related Articles

epaper

Latest Articles