spot_img
29.1 C
New Delhi
Monday, August 2, 2021
spot_img

भारतीय रेलवे ने जनवरी माह में माल ढुलाई में बनाया उच्चतम रिकार्ड

–रेलवे ने दिए आर्थिक विकास के तेजी से आगे बढऩे का संकेत
–संचयी माल लदान के पिछले साल के माल लदान के आंकड़ों को पार करने की उम्मीद

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : भारतीय रेलवे ने जनवरी माह में माल ढुलाई का अबतक का उच्चतम आंकड़ा यानी 119.79 मिलियन टन (एमटी) दर्ज किया है। पिछला सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन मार्च 2019 में 119.74 मिलियन टन (एमटी) ढुलाई का था। मिशन मोड में, पिछले कुछ महीनों में भारतीय रेलवे माल लदान पिछले वर्ष के लदान और उसी अवधि में की गई कमाई के आकड़ों को पार कर गया है। उम्मीद है कि ढुलाई के लिए इस वर्ष का संचयी माल लदान पिछले साल के माल लदान के आंकड़े को पार कर जाएगा।
रेल मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक फरवरी, 2021 के लिए कल तक के आंकड़ों के अनुसार, भारतीय रेलवे का लदान 30.54 मिलियन टन था। इसमें 13.61 मिलियन टन कोयला, 4.15 मिलियन टन लौह अयस्क, 1.04 मिलियन टन खाद्यान्न, 1.03 मिलियन टन उर्वरक, 0.96 मिलियन टन खनिज तेल और 1.97 मिलियन टन सीमेंट (क्लिंकर को छोड़कर) शामिल है।
बता दें कि रेल द्वारा माल ढुलाई को बेहद आकर्षक बनाने के लिए भारतीय रेलवे की ओर से कई रियायतें एवं छूट दी जा रही हैं। भारतीय रेलवे द्वारा कोविड-19 से उपजी परिस्थितियों का उपयोग अपनी चौतरफा दक्षता और प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए किया गया है। इसके अलावा, नए व्यवसाय को आकर्षित करने और अन्य मौजूदा ग्राहकों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से रेल मंत्रालय ने लौह एवं इस्पात, सीमेंट, बिजली, कोयला, ऑटो मोबाइल और लॉजिस्टिक्स से जुड़ी सेवा प्रदाताओं के शीर्ष नेतृत्व के साथ बैठकें भी की हैं। यही नहीं, जोनल एवं मंडल स्तरों पर मौजूद व्यावसायिक विकास इकाइयां (बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट्स) और माल ढुलाई की गति को दोगुना करने के कदम सतत विकास की प्रक्रिया को गति प्रदान करने में अपना योगदान दे रहे हैं।

Related Articles

epaper

Latest Articles