spot_img
28.1 C
New Delhi
Monday, June 14, 2021
spot_img

रेलवे की बड़ी पहल, 4400 कोविड कोच में बनाए 70 हजार आइसोलेशन बेड

–कोरोना महामारी के बीच भारतीय रेलवे की सबसे बड़ी पहल
–रेलवे ने देश के 17 स्टेशनों पर तैनात किए 298 कोच, 4700 बेड की क्षमता
-दिल्ली, यूपी, गुजरात, असम, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश में पहुंचने लगे हैं मरीज
–असम सरकार ने गुवाहाटी में 21 और सिल्चर में मांगे 20 कोच
–अब तक 177 लोगों को भर्ती किया गया, 60 मरीज बचे

नई दिल्ली /अदिति सिंह : भारतीय रेलवे ने देशभर में कोरोना महामारी के चलते अस्पतालों में जगह ना मिलने की वजह से कोरोना मरीजों को आइसोलेट करने के लिए 4400 कोविड केयर कोच तैयार किए हैं, जिसकी 70 हजार आइसोलेशन बेड की क्षमता है। अब तक दिल्ली सहित देशभर के 17 शहरों के रेलवे स्टेशनों पर 298 आइसोलेशन कोच तैनात किए जा चुके हैं। यहां कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीज भर्ती किए जाते हैं। इनकी कुल बिस्तर क्षमता लगभग 4700 है। हालांकि, इसमें कोरोना मरीज बहुत कम पहुंच रहे हैं। इन आइसोलेशन कोच में खानपान सुविधा एवं स्वच्छता की पूरी व्यवस्था रेलवे की तरफ से की गई है। खास बात यह है कि विभिन्न राज्यों में अब तक उपलब्ध कराए गए कोविड देखभाल रेल डिब्बों में कुल 177 लोगों को भर्ती किया गया, जिनमें से 117 लोगों को छुट्टी दी गई। वर्तमान समय में 60 मरीज इस सुविधा का लाभ प्राप्त कर रहे हैं।


हाल ही में गुजरात राज्य सरकार की मांग पर रेलवे ने साबरमती में 10 और चंडलोडिया में 6 कोविड देखभाल डिब्बों को उपलब्ध कराया। नागालैंड राज्य सरकार की मांग पर रेलवे ने दीमापुर में 10 आइसोलेशन कोच तैनात किए हैं। इसके अलावा जबलपुर में उपलब्ध कराए गए 5 आइसोलेशन कोच की भी सेवाएं शुरू हो गई हैं, जिनकी कुल बिस्तर क्षमता 70 है। महाराष्ट्र के पालघर जिला प्रशासन के साथ नियम एवं शर्तों के समझौतों के अनुरूप पालघर में भी 21 कोविड देखभाल कोच की सेवाएं शुरू हो गई हैं। राज्य स्वस्थ्य विभाग की मदद के लिए आपात स्थिति में उपयोग हेतु ऑक्सीजन सिलेंडर के दो सेट भी उपलब्ध कराए गए हैं।
महाराष्ट्र के नंदुरबार में पिछले दो दिनों के दौरान 10 नए मरीजों को भर्ती किया गया जबकि पहले भर्ती किए गए मरीजों में से 10 को छुट्टी दे दी गई। वर्तमान समय में इस कोविड देखभाल सुविधा का 26 मरीज लाभ प्राप्त कर रहे हैं। यहां अब तक कुल 114 मरीजों को भर्ती किया गया जिनमें से राज्य स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा 88 मरीजों को छुट्टी दी गई। रेलवे ने अजनी, इनलैंड कंटेनर डीपो में भी 11 कोविड देखभाल कोच तैनात किए हैं जिनमें से 1 कोच चिकित्सा कर्मियों और चिकित्सा सामाग्री के लिए आरक्षित है। इस सुविधा केंद्र को नागपुर नगर निगम को सौंप दिया गया है। यहां अब तक 9 मरीज भर्ती हुए और 6 को छुट्टी दी गई। इसी प्रकार असम में नॉर्थ फ्रंटियर रेलवे द्वारा असम के गुवाहाटी और बदरपुर में हाल ही में उपलब्ध कराये गए कोविड देखभाल डिब्बों को मिलकर सबसे रेल आइसोलेशन सेंटर में लगभग 4700 बिस्तर उपयोग के लिए उपलब्ध हैं।

यूपी में 800 कोविड केयर बेड उपलब्ध

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार से अब तक कोविड देखभाल डिब्बों की मांग नहीं आई थी, इसके बावजूद रेलवे ने फैजाबाद, भदोही, वाराणसी, बरेली और नजीबाबाद में प्रत्येक स्थान पर 10-10 डिब्बे पहले से ही उपलब्ध करा दिये हैं। इन 50 कोविड देखभाल डिब्बों की कुल क्षमता 800 बिस्तरों की है।

इंदौर में 300 बेड और 19 मरीज भर्ती, भोपाल में 302 बेड 18 मरीज भर्ती

मध्य प्रदेश राज्य सरकार की मांग पर इंदौर के करीब तीही में 22 कोविड देखभाल डिब्बे उपलब्ध कराएं हैं, जिनकी कुल क्षमता 320 बिस्तरों की है। यहां अब तक 19 मरीजों को भर्ती किया गया और एक मरीज को छुट्टी दी गई। भोपाल में 20 कोविड देखभाल कोच उपलब्ध कराए गए हैं। ताजा आंकड़ों के अनुसार यहा अब तक 28 संक्रमितों को दाखिल किया गया और 10 मरीजों को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। यहां 18 मरीज इस समय भर्ती हैं। इस केंद्र में कुल 302 मरीजों को आइसोलेशन में रखा जा सकता है।

दिल्ली को मिला है 1200 बेड, मरीज पहुंचे मात्र 5

राजधानी दिल्ली में भारतीय रेलवे ने राज्य सरकार की कुल 75 कोविड देखभाल डिब्बों की मांग पूरी की जिनकी कुल क्षमता 1200 बिस्तरों की है। इनमें से 50 रेल डिब्बे शकूरबस्ती में जबकि 25 डिब्बे आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर तैनात किए गए हैं। दिल्ली कोविड देखभाल रेल कोचों में अब तक कुल 5 मरीज भर्ती हुए और इन सभी को छुट्टी दी जा चुकी है। दिल्ली में इन देखभाल डिब्बों में सभी 1200 बिस्तर इस समय उपलब्ध हैं।

Related Articles

epaper

Latest Articles