spot_img
28.1 C
New Delhi
Monday, June 14, 2021
spot_img

ताउते तूफान को चीरती हुई ट्रेन गुजरात से ‘संजीवनी’ लेकर दिल्ली एवं UP के लिए दौड़ी

  • रेलवे के ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने रिकॉर्ड 10 हजार टन ‘प्राण वायु को पहुंचाया

  • चक्रवात के बीच गुजरात से दो ट्रेन दिल्ली एवं यूपी के लिए हुई रवाना

  • दिल्ली सहित 13 राज्यों को ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहुंचा रही है संजीवनी

  • राजधानी दिल्ली में सबसे ज्यादा 3,734 टन ऑक्सीजन पहुंचाया गया

  • रेलवे ने बोकारो से पंजाब के लिए पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहुंचाई

नई दिल्ली/नेशनल ब्यूरो : भारतीय रेल ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस (Oxygen Express) की मदद से सोमवार सुबह तक रिकॉर्ड 10,000 टन तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन की ढुलाई की है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस सेवा 19 अप्रैल को मुंबई से शुरू हुई थी और 13 राज्यों को अभी तक इसका लाभ मिला है। पहले दिन मुंबई से सात खाली ट्रक रवाना हुए थे, जिनमें तरह चिकित्सीय ऑक्सीजन भरा जाना था। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा (Sunit Sharma) ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, सोमवार सुबह तक ऑक्सीजन एक्सप्रेस से रिकॉर्ड 10,000 टन तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन का परिवहन किया गया है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस 13 राज्यों को ऑक्सीजन पहुंचा रही है।

उन्होंने बताया कि रेलवे ने 600 से ज्यादा टैंकरों में भरे 10,300 टन से तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन विभिन्न राज्यों तक पहुंचाया है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें पिछले कुछ दिनों से रोजाना करीब 800 टन तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन की ढुलाई कर रही हैं। अभी तक करीब 60 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ने अपनी यात्रा पूरी की है। अभी तक दिल्ली में करीब 3,734 टन तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन पहुंचाया गया है, जबकि उत्तर प्रदेश में करीब 2,652 टन, महाराष्ट्र में 521 टन, मध्य प्रदेश में 431 टन, हरियाणा में 1,290 टन, तेलंगाना में 564 टन, राजस्थान में 40 टन और कर्नाटक में 361 टन तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन पहुंचाया गया है। उत्तराखंड में 200 टन, तमिलनाडु में 231 टन, पंजाब में 40 टन और केरल में 118 टन तरल ऑक्सीजन पहुंचाया गया है।

गुजरात के लिए दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें चलाई गई

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने बताया, चक्रवात (ताउते) के बावजूद रेलवे ने आज तड़के गुजरात के लिए दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाए और 150 टन ऑक्सीजन की आपूॢत की। एक ट्रेन सुबह चार बजे वड़ोदरा से दो आरओ-आरओ ट्रक और 45 टन तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन लेकर दिल्ली क्षेत्र के लिए रवाना हुई। दूसरी ट्रेन हपा से सुबह साढ़े पांच बजे छह टैंकरों में भरे 106 टन ऑक्सीजन लेकर रवाना हुई, यह उत्तर प्रदेश और दिल्ली क्षेत्र के लिए है। रेलवे ने बोकारो से पंजाब के लिए पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस रवाना की है। 41.07 टन ऑक्सीजन लेकर जा रही ट्रेन के सोमवार देश शाम सात पंजाब पहुंच गई।

देश के 6 राज्यों से संजीवनी लेकर 12 राज्यों तक पहुंचा रहे

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि रेलवे देश के पश्चिम में हापा और मुंद्रा, पूर्व में राउरकेला, दुर्गापुर, जमशेदपुर और अंगुल से ऑक्सीजन लेकर उसे उत्तराखंड, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, हरियाणा, तेलंगाना, पंजाब, केरल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि ट्रेनों की तकनीकी स्टॉपेज को भी कम करके एक मिनट कर दिया गया है, यह सिर्फ चालक दल के सदस्यों को बदलने भर के लिए है।

दिल्ली-यूपी सहित कई राज्यों में आइसोलेशन कोच तैनात किए

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष शर्मा ने बताया कि रेलवे ने राज्य सरकारों के अनुरोध के आधार पर आइसोलेशन कोच (Isolation coach) भी तैनात किया है। फिलहाल गुजरात के साबरमती में 13 आइसोलेशन कोच तैनात किए गए हैं जिनमें 208 बिस्तर हैं, वहीं चंदौलिया में 96 बिस्तरों वाले साते कोच तैनात किए गए हैं। उत्तर प्रदेश के फैजाबाद, भदोही, वाराणसी, बरेली और नाजियाबाद में 10-10 कोच, नगालैंड के दिमापुर में 10 कोच, असम के गुवाहाटी में 21 कोच, बदरपुर और डिब्रूगढ़ में 20-20 कोच और न्यू तिनसुकिया में 10 कोच तैनात किए गए हैं। उन्होंने बताया कि त्रिपुरा के अगरतला में 20 आइसोलेशन कोच तैनात किए गए हैं।

Related Articles

epaper

Latest Articles