31.1 C
New Delhi
Wednesday, August 17, 2022

शीला के करीबी कांग्रेस से 3 बार MLA रहे सिख नेता मारवाह हुए भाजपाई

नई दिल्ली /अदिति सिंह : दिल्ली से तीन बार कांग्रेस के विधायक रहे तरविंदर सिंह मारवाह बुधवार को भाजपाई हो गए। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े और पूर्व विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा की मौजूदगी में मारवाह ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। मारवाह दिल्ली की जंगपुरा विधानसभा सीट से तीन बार कांग्रेस पार्टी से विधायक रहे। वह मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के संसदीय सचिव भी रह चुके हैं। इस मौके पर तावड़े ने मारवाह का भाजपा में स्वागत किया और कहा कि उनकी क्षमता के अनुसार पार्टी उन्हें दायित्व देगी। बता दें कि मारवाह सिखों की संस्था गुरू सिंह सभा के अध्यक्ष भी हैं।

-BJP महासचिव तावड़े की मौजूदगी में ज्वाइन की भाजपा
-डेढ़ साल से राहुल गांधी ने नहीं दिया वक्त, अमित शाह ने 24 घंटे में बुलाया
– कांग्रेस पर लगा दी आरोपों की झड़ी, सोनिया को कहा  महारानी 

भाजपा में ज्वाइन करने के बाद उन्होंने कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर पार्टी के पुराने नेताओं को नजरअंदाज करने और दरबारियों को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया।
मारवाह ने कहा कि जब तक उनके प्राण रहेंगे तब तक वह भाजपा की सेवा करते रहेंगे और वह भी बिना किसी पद व लालच के। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से जुड़ी कुछ घटनाओं का उल्लेख किया और उनकी कड़ी आलोचना की।

इस दौरान उन्होंने सोनिया गांधी को  महारानी  और राहुल गांधी को  राजा  कहकर संबोधित किया। साथ ही आरोप लगाया कि देश की सबसे पुरानी पार्टी में नेताओं की कद्र नहीं है और पार्टी के लिए कुर्बानियां देने वालों को नजरअंदाज किया जाता है, इसलिए दुखी होकर उन्होंने कांग्रेस छोडऩे का फैसला किया। मारवाह ने कहा कि वह पिछले डेढ़ साल से राहुल गांधी से मिलने का समय मांग रहे हैं, लेकिन आज तक उन्हें समय नहीं मिला जबकि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें 24 घंटे के भीतर समय दिया और आधे घंटे बातचीत भी की। हाल ही में राज्यसभा के लिए निर्वाचित कांग्रेस सदस्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि प्रियंका गांधी वाड्रा सहित गांधी परिवार के तीनों सदस्य अपने पसंदीदा नेताओं को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस के मीडिया विभाग में हाल ही हुई नियुक्तियों का भी जिक्र किया और आरोप लगाया, जो परिचारक बनने के लायक नहीं हैं, उन्हें प्रवक्ता बनाया जाता है। कई ऐसे महासचिव हैं जिन्हें कोई जानता तक नहीं है। चुनाव हारने वालों को राज्यसभा में भेजा जाता है। उन्होंने कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं के समूह जी-23 में शामिल नेताओं से भी आग्रह किया कि वह भाजपा में शामिल हो जाएं, जहां उन्हें सम्मान मिलेगा। मारवाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर सराहना की और कहा कि देश को आज तक उनके जैसा कोई अन्य प्रधानमंत्री नहीं मिला।

Related Articles

epaper

Latest Articles