19.1 C
New Delhi
Sunday, November 27, 2022

CM योगी का सख्त निर्देश, खत्म हो अंग प्रत्यारोपण, बाईपास सर्जरी की लंबी वेटिंग

लखनऊ /नेशनल ब्यूरो :  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ स्थित SGPGI, किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय एवं डॉ0 राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में अंग प्रत्यारोपण, बाईपास सर्जरी एवं अन्य महत्वपूर्ण ऑपरेशनों की लम्बी प्रतीक्षा सूची को चरणबद्ध ढंग से कम करने के निर्देश दिए हैं। उन्हांने कहा कि यह सभी चिकित्सा संस्थान प्रतीक्षा सूची को कम करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। चिकित्सा संस्थानों द्वारा इस सम्बन्ध में प्रस्ताव चिकित्सा शिक्षा विभाग को उपलब्ध कराया जाए। चिकित्सा शिक्षा विभाग एवं वित्त विभाग चिकित्सा संस्थानों के प्रस्तावों पर त्वरित निर्णय लेकर सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराएं।

—पीजीआई में प्रतीक्षा सूची को चरणबद्ध ढंग से कम करने के निर्देश दिए
—न्यूरो साइंस सेन्टर, न्यूरो ट्रॉमा सेन्टर के कार्यों को आगे बढ़ाया जाए

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक बैठक में चिकित्सा शिक्षा विभाग के कार्याें की समीक्षा कर रहे थे। SGPGI का अपना एक स्टैण्डर्ड है, इसके दृष्टिगत SGPGI, किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय, डॉ0 राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान तथा मेडिकल कॉलेजों की सुपर स्पेशिएलिटी व्यवस्था के लिए अलग-अलग नीति होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि SGPGI, किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय एवं डॉ0 राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में बेहतर चिकित्सा सुविधा सुलभ कराने के दृष्टिगत मानव संसाधन मं आवश्यकतानुसार वृद्धि की जाए। SGPGI की कैडर रीस्ट्रक्चरिंग करते हुए तकनीकी बदलाव के कारण अनुपयुक्त हो गये पद समाप्त किये जाएं तथा आवश्यकतानुसार नये पद सृजित किये जाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉ0 राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में एडवांस न्यूरो साइंस सेन्टर, न्यूरो ट्रॉमा सेन्टर तथा गामा नाइफ के सम्बन्ध में शासन स्तर पर निर्णय हो चुका है। इन कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाया जाए। इस संस्थान का पूर्वी उत्तर प्रदेश से इलाज के लिए प्रदेश की राजधानी में आने वाले मरीजों का काफी भार होता है। इस चिकित्सा संस्थान का इस प्रकार प्रभावी ढंग से संचालन सुनिश्चित किया जाए, जिससे प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र से आने वाले मरीजों को उच्चस्तरीय चिकित्सा सुविधा इस संस्थान में उपलब्ध हो सके।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि कल्याण सिंह सुपर स्पेशिएलिटी कैंसर संस्थान लखनऊ का प्रभावी ढंग से संचालन सुनिश्चित करने के लिए शीघ्र निर्णय लेकर व्यवस्था लागू की जाए। संस्थान को योग्य एवं कुशल विशेषज्ञों के माध्यम से संचालित करने का प्रयास किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संस्थान को मुम्बई के टाटा कैंसर इंस्टीट्यूट की तर्ज पर संचालित किया जाना उपयुक्त रहेगा। इससे प्रदेशवासियों को राहत मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय से सम्बद्ध संस्थाओं में सत्र एवं एडमिशन की कार्यवाही समयबद्ध ढंग से सम्पन्न की जानी चाहिए। संस्थान के प्रशासनिक भवन के निर्माण कार्य को निर्धारित समय में पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विश्वविद्यालय से सम्बद्ध नर्सिंग कॉलेजों में शत-प्रतिशत इन्फ्रास्ट्रक्चर सुविधाएं तथा कम से कम 75 प्रतिशत फैकल्टी की उपलब्धता होनी चाहिए। इनके अभाव में सम्बन्धित संस्था को मान्यता न दी जाए। उन्होंने कहा कि संस्था की फैकल्टी आधार से लिंक होनी चाहिए। फैकल्टी को एक ही संस्था से जुड़ा होना चाहिए। नर्सिंग संस्थाओं में अधिकतर संख्या बालिकाओं की होती है। इसलिए इनकी परीक्षा इनके ही संस्थान में आयोजित की जानी चाहिए किन्तु परीक्षा प्रभारी किसी अन्य संस्थान का होना चाहिए, जिससे परीक्षा पारदर्शी और शुचिता पूर्ण ढंग से सम्पन्न हो सके।

Related Articles

epaper

Latest Articles