20.1 C
New Delhi
Friday, February 23, 2024

योगमय बना सूरत,  मिनी इंडिया में दिखा योग का अद्भुत नजारा, बना World Record

गांधीनगर/,डिजिटल टीम :  जब पूरी दुनिया उत्साह के साथ ‘विश्व योग दिवस’ मना रही है, तब गुजरात के सूरत शहर में 1.25 लाख लोगों ने एक साथ योगाभ्यास कर एक नया इतिहास रच दिया है। ‘मिनी इंडिया’ के नाम से पहचाने जाने वाले सूरत में एक साथ, एक ही स्थान पर 1.25 लाख नागरिकों के योग अभ्यास की इस ऐतिहासिक घटना को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है।बुधवार को सूरत के वाई जंक्शन में आयोजित राज्य स्तरीय योग कार्यक्रम में सुबह से ही लोगों का जमावड़ा होना शुरू हो गया था। योग कार्यक्रम में वाई जंक्शन से लेकर एसवीएनआईटी सर्किल तक और वाई जंक्शन से रत्नभूमि पार्टी प्लॉट तक 4-4 किमी तक तथा वाई जंक्शन से सूरत एयरपोर्ट गेट तक 4.5 किमी तक के दायरे सहित कुल 12.5 किमी के मार्ग पर प्रति किमी लगभग 10,000 लोगों समेत कुल 1,25,000 से अधिक नागरिकों ने योगाभ्यास किया।

योगमय बना सूरत,  मिनी इंडिया में दिखा योग का अद्भुत नजारा, बना World Record

उल्लेखनीय है कि इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जारी ऑनलाइन लिंक पर केवल एक ही दिन में एक लाख से अधिक लोगों ने रजिस्ट्रेशन कर लिया था। भारत की प्राचीन परंपरा और संस्कृति की अमूल्य देन योग को बढ़ावा देने के लिए आयोजित इस कार्यक्रम में लोगों का उत्साह देखते ही बनता था।

सूरत द्वारा बनाए गए इस विश्व रिकॉर्ड के ऐतिहासिक अवसर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधियों ने अधिकृत रूप से इसका एलान किया तथा गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल को रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौंपा।

सूरत महानगर पालिका और जिला प्रशासन ने इस कार्यक्रम को लेकर पूरी तैयारियां की थीं। लाखों लोगों की सुविधा के लिए समुचित बुनियादी व्यवस्थाएं की गई थीं। आयोजन स्थल पर मोबाइल वैन के साथ चिकित्सकों की टीमें, पार्किंग, पेयजल और मोबाइल टॉयलेट का इंतजाम किया गया था।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री  भूपेंद्र पटेल ने कहा कि हमारी स्वास्थ्य धरोहर योग को वैश्विक स्वीकृति मिल चुकी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सार्थक प्रयासों से पूरी दुनिया में योगविद्या के प्रचलित होने से भारत माता को अनूठा गौरव मिला है। उन्होंने कहा कि भारत की भव्य विरासत योग के कारण दुनिया में ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की भावना अधिक मजबूत हुई है, जिसका श्रेय हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को जाता है।

उन्होंने कहा कि स्वस्थ और तनाव मुक्त जीवन कैसे जिया जा सकता है, इसका बेहतरीन उदाहरण हमारे ऋषि-मुनियों और योगाचार्यों ने पूरी दुनिया को बताया है।

श्री पटेल ने कहा कि राज्य में योग को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार ने योग बोर्ड की स्थापना की है, जिससे 5000 लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है। उन्होंने इन प्रयासों को और आगे बढ़ाते हुए राज्य में 51 नए योग स्टूडियो के निर्माण की घोषणा भी की।‘विश्व योग दिवस’ के अवसर पर पूरे गुजरात में सवा करोड़ से अधिक नागरिक ‘योगमय गुजरात’ अभियान में हर्षोल्लास के साथ शामिल हुए।

गृह, युवक सेवा और सांस्कृतिक मंत्री श्री हर्ष संघवी ने कहा कि पूरी दुनिया विशाल जनभागीदारी के साथ योग दिवस मना रही है, तब सूरत में रचा गया इतिहास हम सभी के लिए गौरवशाली क्षण है।प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और सांसद श्री सीआर पाटिल ने उपस्थित लोगों से स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए जनसाधारण की पसंद बने योग को जीवन का एक हिस्सा बनाने का आग्रह किया।इस अवसर पर मुख्यमंत्री और महानुभावों ने योग के महत्व और इतिहास पर आधारित एक कॉफी टेबल बुक ‘योग’ का विमोचन किया और योग अवॉर्ड प्रदान किए। योग बोर्ड के चेयरमैन श्री शीशपाल राजपूत ने कॉमन योग प्रोटोकॉल अभ्यास कराया।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles