spot_img
27.1 C
New Delhi
Sunday, September 19, 2021
spot_img

बालिकाओं की सुरक्षा व महिलाओं का सशक्तीकरण UP सरकार की शीर्ष प्राथमिकता

—महिला सशक्तीकरण के लिए यूपी में मिशन शक्ति अभियान संचालित
—CM योगी ने राज्यपाल के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर सम्बोधित किया
—प्रदेश सरकार ने अपराधियों एवं माफियाओं के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की

लखनऊ/ टीम डिजिटल: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधान सभा में राज्यपाल जी द्वारा समवेत सदनों में दिए गए अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के समर्थन में बोलते हुए कहा कि लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत संवाद है। सहमति-असहमति के बीच संवाद का सिलसिला चलता रहना चाहिए। सदन के सदस्यों ने धन्यवाद प्रस्ताव पर अपने विचारों को व्यक्त करते हुए लोकतंत्र के इस मन्दिर को एक महत्वपूर्ण मंच बनाया है। उन्होंने राज्यपाल के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर विचार व्यक्त करने के लिए सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया। राज्यपाल का अभिभाषण विधान मण्डल के लिए एक दस्तावेज होता है। शासन की उपलब्धियां और भावी योजनाएं अभिभाषण के माध्यम से रखी जाती हैं। सदन में अभिभाषण पर चर्चा से न केवल सरकार, बल्कि प्रदेश को एक दिशा, एक दृष्टि प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल प्रदेश का संवैधानिक प्रमुख है। संवैधानिक प्रतीकों, संवैधानिक प्रमुखों का सम्मान, चुने गये जनप्रतिनिधियों का दायित्व होना चाहिए।
मुख्यमंत्री योेगी ने कहा कि बालिकाओं की सुरक्षा व महिलाओं का सशक्तीकरण प्रदेश सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। इसके लिए मिशन शक्ति अभियान संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और सशक्तीकरण के लिए सभी को जागरूक होने की आवश्यकता है। वर्तमान सरकार द्वारा विगत लगभग साढ़े तीन वर्षों में राज्य में 59 नए थाने, 29 नई चौकियां, आर्थिक अपराध शाखा के 04 थाने, विजिलेंस के 10 थाने, साइबर क्राइम के 16 थाने तथा 59 अग्निशमन केन्द्र स्थापित किए गए हैं। प्रदेश में एसडीआरएफ (SDRF) का गठन किया गया है। साथ ही, UP पुलिस और फॉरेन्सिक साइंस इंस्टीट्यूट की स्थापना की जा रही है। पुलिस में पूरी निष्पक्षता और पारदर्शिता के साथ 01 लाख 37 हजार 640 पुलिस कर्मियों की भर्ती की गई है।

बलात्कार के मामलों में 45.43 प्रतिशत की कमी आयी

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने अपराधियों एवं माफियाओं के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की है। गैंगस्टर अधिनियम के अन्तर्गत 12,032 अभियोग पंजीकृत किए गए हैं तथा 37,511 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। 1,000 करोड़ रुपए की सम्पत्ति की जब्ती अथवा ध्वस्तीकरण की कार्यवाही की गई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 की तुलना में वर्ष 2020 में शस्त्र अधिनियम के अन्तर्गत पंजीकृत मामलों में 27.55 प्रतिशत, एन0डी0पी0एस0 में 52.94 प्रतिशत, गैंगस्टर एक्ट में 31.09 प्रतिशत तथा रासुका में 19.57 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 के सापेक्ष वर्ष 2020 में डकैती में मामलों में 65.72 प्रतिशत, लूट में 66.15 प्रतिशत, हत्या में 19.80 प्रतिशत, बलवा में 40.20 प्रतिशत तथा बलात्कार के मामलों में 45.43 प्रतिशत की कमी आयी है।

जनता के सामूहिक प्रयास से कोरोना के प्रति संघर्ष में सफलता मिली

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना प्रबन्धन में पूरी प्रतिबद्धता और टीमवर्क के साथ कार्य किया गया। कोरोना प्रबन्धन में जनता द्वारा दिये गये धन का उपयोग हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को सुदृढ़ करने में किया गया। कोविड प्रबन्धन में प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन के लिए उनके प्रति आभार जताते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोेरोना से निपटने में केन्द्र सरकार ने हर प्रकार से सहयोग किया। सदन के सदस्यों सहित प्रदेश की जनता के सामूहिक प्रयास से कोरोना के प्रति संघर्ष में सफलता मिली। मुख्यमंत्री ने कोरोना प्रबन्धन के लिए मिले जनसहयोग के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि एक वृद्ध महिला ने उनसे सम्पर्क कर कोरोना प्रबन्धन हेतु अपनी पूरी पूंजी दान कर दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड-19 पर नियंत्रण व उपचार के लिए तेजी से कार्य किया। प्रत्येक जनपद में कोविड अस्पतालों की स्थापना कर 1.5 लाख बेड की व्यवस्था की गयी। उस समय 36 जनपदों में वेंटिलेटर उपलब्ध नहीं थे।

Related Articles

epaper

Latest Articles