13.7 C
New Delhi
Wednesday, January 27, 2021

पंचतत्व में विलीन हुए भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

—राष्ट्रपति, उपराष्टपति, लोकसभा अध्यक्ष, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रणव दा को दी अंतिम विदाई

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : भारत रत्न और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का मंगलवार को लोधी रोड़ स्थित शवदाह गृह में अंतिम संस्कार किया गया। प्रणब मुखर्जी का 84 साल की उम्र में सोमवार को निधन हो गया था। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत सीमित लोगों की उपस्थिति में अंतिम संस्कार किया गया। उनका शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया। कोरोना संक्रमित होने की वजह से प्रणब दा के पार्थिव शरीर को ताबूत में रखा गया और उनके पुत्र अभिजीत मुखर्जी ने पीपीई किट पहनकर अंतिम क्रिया में सभी संस्कारों को पूरा किया। पूरे मिलेट्री सम्मान के साथ प्रणब मुखर्जी का अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें सलामी दी गई।

श्मशान घाट में कोरोना संक्रमण से बचाव के सभी इंतजाम किए गए थे। इससे पहले प्रणब मुखर्जी के पार्थिव शरीर को 10 राजाजी मार्ग, दिल्ली के उनके आावास पर लाया गया था, जहां लोग उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि देने पहुंचे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्टपति वैंकैया नायडू, लोकसभा अध्यक्ष ओम विरला, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नडउा भी पूर्व राष्ट्रपति के आवास पर पहुंचे और उन्होंने यहां उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अंतिम यात्रा से पहले सेना के बैंड ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। अंतिम यात्रा के रूट पर सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किए गए। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सारी सावधानी बरती गई। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अंतिम संस्कार से पहले पीएम मोदी ने श्रद्धांजलि दी। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रणब मुखर्जी को विद्वान और कद्दावर स्टेट्समैन बताया. प्रधानमंत्री ने कहा- देश की विकास यात्रा में प्रणब मुखर्जी ने अमिट छाप छोड़ी है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत आर्मी चीफ जनरल नरवणे, एयरफोर्स चीफ और नौसेना प्रमुख ने भी श्रद्धांजलि दी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने पूर्व राष्ट्रपति को नमन किया।

प्रणब मुखर्जी एक शून्य छोड़कर चले गए : मोहन भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी। मोहन भागवत ने कहा- प्रणब मुखर्जी एक शून्य छोड़कर चले गए हैं। वे उदार और दयालु थे, जो मुझे ये भुला देते थे कि मैं भारत के राष्ट्रपति से बात कर रहा हूं। राजनीतिक मतभेदों के बावजूद, सभी को अपना बनाना उनकी प्रकृति में था। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया साथ में श्रद्धांजलि देने पहुंचे। पूर्व राष्ट्रपति के सम्मान में सात दिनों का राजकीय शोक घोषित किया गया है।

Related Articles

Stay Connected

21,422FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles