13.7 C
New Delhi
Wednesday, January 27, 2021

दिल्ली के लाखों किरायेदारों को मिलेगी मुफ्त बिजली…जाने कैसे

दिल्ली के लाखों किरायेदारों को मिलेगी मुफ्त बिजली
— रेंट एग्रीमेंट या रसीद और पहचान पत्र के आधार पर ले सकते हैं बिजली कनेक्शन
—24 घंटे बिजली, सबसे सस्ती बिजली-दिल्ली के हर नागरिक का हक

(नीतू शुक्ला) 
नई दिल्ली। दिल्ली की सत्ताधारी दल आम आदमी पार्टी ने आज दिल्ली के लाखों लोगों को लुभाने के लिए बडा दांव खेला है। दिल्ली सरकार ने आज यहां ऐलान किया कि दुनिया में पहली बार दिल्ली में लाखों किरायेदारों को दो सौ यूनिट तक मुफ्त बिजली मिलेगी। बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना को लागू किया। इसके तहत किरायेदार रेंट एग्रीमेंट या रेंट रसीद तथा उस पता का सरकारी पहचान पत्र देकर बिजली कनेक्शन ले सकते हैं। इसके लिए किरायेदारों को कहीं जाने की आवश्यकता भी नहीं है। उन्हें बस बिजली कंपनी को फोन करना होगा। बिजली कंपनी कर्मचारी किरायेदार के घर आएंगे और दस्तावेज लेकर बिजली कनेक्शन देंगे। किरायेदारों को अब दो सौ यूनिट तक मुफ्त बिजली मिलेगी।

दिल्लीवालों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए कहा, किराएदारों को भी मिलेगी अब मुफ्त बिजली! मुख्यमंत्री किराएदार मीटर योजना के तहत मकान मालिकों को मिल रहा लाभ अब किराएदारों तक भी पहुंचेगा। 24 घंटे बिजली, सबसे सस्ती बिजली – दिल्ली के हर नागरिक का हक है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी तक नियम था कि बिजली कनेक्शन के लिए मकान मालिक एनओसी देते थें। ज्यादातर मकान मालिक एनओसी नहीं देते थें। इस कारण किरायेदारों को बिजली कनेक्शन नहीं मिल पाता था। नई योजना के तहत नियम बना दिया है कि मकान मालिक से एनओसी की आवश्यकता नहीं है। साथ ही किरायेदार मकान बदलता है और दूसरा व्यक्ति किरायेदार बनकर आते हैं तो नए किरायेदार पर यह निर्भर करेगा कि वह पुराना कनेक्शन रखे या नहीं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक अगस्त को दिल्ली के मकान मालिकों के लिए प्रति महीने 200 यूनिट तक बिजली बिल्कुल फ्री कर दी थी। जिसके तहत महीने में 200 यूनिट बिजली खपत करते हैंं तो आपको बिल नहीं भरना होगा। वहीं 201 यूनिट होने पर बिल देना होगा। 201 से 400 यूनिट तक आधी सब्सिडी मिल रही है। अरविंद केजरीवाल सरकार की नीतियों और काम की वजह से बिजली चोरी में भारी गिरावट आई। इसी का नतीजा है कि 2015 के मुकाबले 2019 तक बीएसईएस राजधानी के घरेलू उपभोक्ता 22 प्रतिशत बढ़ गए। जबकि, टाटा पावर के घरेलू उपभोक्ताओं में 20 फीसद की बढ़ोतरी हुई।

सिर्फ दो दस्तावेज से मिलेगा कनेक्शन

दिल्ली के लाखों किरायेदार अब सीधा बिजली कंपनी से कनेक्शन ले सकते हैं। इसके लिए उनके पास रेंट एग्रीमेंट या रसीद और सरकारी पहचान पत्र होना चाहिए। इसके आधार पर तीन हजार रुपये सिक्योरिटी लगेंगे। जिसे कनेक्शन सरेंडर करने के समय वापस कर दिया जाएगा। साथ ही इंस्टालेशन चार्ज तीन हजार लगेगा। यह जमा करते ही बिजली का प्री पेड मीटर लग जाएगा। किरायेदार कनेक्शन को कितने भी रकम से रिचार्ज करा सकते हैं। दो सौ यूनिट तक उनका रिचार्ज पैसा नहीं कटेगा।

मकान मालिकों को भी डरने की आवश्यकता नहीं

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस योजना के तहत मकान मालिकों को भी डरने की आवश्यकता नहीं है। इस योजना का नाम ही किरायेदार बिजली मीटर योजना है। इससे साफ है कि कनेक्शन लेने वाला किरायेदार है। साथ ही यह व्यवस्था भी की गई है कि मीटर पर भी किरायेदार लिखा है। इससे साफ है कि इस मीटर को लेने वाला कभी भी खुद को मकान मालिक होने का दावा नहीं कर सकेगा।

मकान मालिकों का बिजली बिल भी होगा कम

अभी तक कई मकान ऐसे हैं, जहां कई किरायेदार रहते हैं। वहां एक ही कनेक्शन है। जिससे बिजली की खपत ज्यादा है। इस कारण बिजली यूनिट की खपत ज्यादा है, बिजली बिल ज्यादा आता है। मकान मालिक किरायेदारों से आठ से दस रुपये प्रति यूनिट बिल वसूल करता है। अब अलग अलग कनेक्शन होने से कई किरायेदारों को तो मुफ्त बिजली मिलने की संभावना है। वहीं चार सौ यूनिट तक खपत पर मकान मालिक को भी सब्सिडी का लाभ मिलने की संभावना है। इस तरह यह योजना किरायेदार के साथ मकान मालिक के लिए भी लाभकारी है।

दिल्ली पहला शहर, जहां सस्ती और 24 घंटे बिजली

मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि दिल्ली के लोगों को 24 घंटे बिना रुकावट बिजली मिल रही है। दिल्ली शायद पूरे देश में अकेला शहर है जहां पर अब 24 घंटे बिजली मिलने लगी है। मुझे याद है जब हमारी सरकार बनी थी तो 2 साल तक हमने कितनी जद्दोजहद की थी पूरी दिल्ली में 24 घंटे बिजली मुहैया कराने के लिए, लेकिन बहुत बड़े स्तर के ऊपर जिस तरह से ट्रांसफार्मर बदले गए, जगह-जगह बिजली की तारे बदली गई, तो अब कुछ इलाकों को छोड़कर जहां पर अभी भी ट्रांसफार्मर बदले जा रहे हैं बाकी पूरी दिल्ली के अंदर आज 24 घंटे बिजली है। पूरे देश के अंदर आज सबसे सस्ती बिजली दिल्ली में है। ऐसा कोई राज्य नहीं है जहां 200 यूनिट बिजली मुफ्त हो और दूसरे स्लैब के अंदर भी आज मुकाबला कर लीजिए सबसे सस्ती बिजली आज दिल्ली के लोगों को मिल रही है। तो अच्छी क्वालिटी की बिजली मिल रही है, सबसे सस्ती बिजली मिल रही है और 24 घंटे बिजली मिल रही है।

इन नंबरों पर फोन कर लें कनेक्शन

किरायेदार बिजली कनेक्शन लेने के लिए इन नंबरों पर फोन कर सकते हैं। बीएसईएस यमुना का नंबर है 19122। बीएसईएस राजधानी का नंबर है 19123 । टाटा का नंबर है 19124। इन नंबरों पर आप फोन कीजिए और कहिए कि हमें अपने घर मीटर लगवाना है, सरकारी कर्मचारी अपॉइंटमेंट फिक्स करके आपके घर आएंगे और मीटर लगा कर चले जाएंगे। मेरे पास काफी किरायेदार आए। उन्होंने मांग रखी कि लाखों किरायेदारों के लिए भी बिजली बिल में सब्सिडी योजना लाई जाए। सरकार काफी विचार विमर्श के बाद प्री पेड मीटर योजना लेकर आई। इसमें किरायेदारों को एक फोन पर अपना कनेक्शन मिलेगा।

फिक्सड चार्ज भी घटा था

दिल्ली सरकार ने अगस्त में ही फिक्सड चार्ज भी घटाए थे। जिन लोगों का सैंक्शन लोड 2 किलोवाट तक है, उन्हें हर महीने पहले 125 रुपये/किलोवाट के हिसाब से फिक्स्ड चार्ज देना पड़ता था, 1 अगस्त से अब उन्हें 20 रुपये/ किलोवाट के हिसाब से फिक्स्ड चार्ज देना पड़ रहा है। इस तरह से दो किलोवाट लोड पर सभी चार्ज को मिलाकर 244 रुपये तक की बचत हो रही है। 3 किलोवाट तक लोड होने पर 313 रुपये तक हर महीने बचत हो रही है।

दुनिया में पहली बार दो सौ यूनिट बिजली मुफ्त

दुनिया में पहली बार दिल्ली सरकार किरायेदारों के लिए दो सौ यूनिट फ्री बिजली की योजना लेकर आई है। पूरी दुनिया में कहीं भी किरायेदारों को फ्री बिजली देने की योजना नहीं है। ब्रिटेन और साउथ अफ्रीका में जरूर किरायेदारों के लिए प्री पेड बिजली मीटर की व्यवस्था है। लेकिन, उन्हें भी फ्री बिजली नहीं मिलती। भारत में बैंगलुरू में किरायेदारों के लिए प्री पेड बिजली मीटर की योजना है, लेकिन वहां भी दो सौ यूनिट बिजली नहीं है।

 

Related Articles

Stay Connected

21,422FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles