30.1 C
New Delhi
Monday, June 24, 2024

1984 Sikh दंगा : सज्जन कुमार और Tytler को पार्टी से बाहर निकाले कांग्रेस

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (DSGMC )के पूर्व अध्यक्ष एवं जागो पार्टी के अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके (Manjeet Singh GK) ने कांग्रेस नेता सज्जन कुमार एवं जगदीश टाइटलर (Jagdish Tytler) को पार्टी से निकालने की मांग की है। इसको लेकर जीके ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (mallikarjun kharge) को पत्र लिखा है। पत्र में जीके ने 1984 सिख कत्लेआम के दौरान निर्दोष सिखों की हत्या दोष में उम्र कैद की सजा के तहत पिछले 5 साल से जेल में बंद सज्जन कुमार तथा गुरुद्वारा पुल बंगश पर हमले तथा 3 सिखों के कत्ल के मामले में सीबीआई (CBI) द्वारा चार्जशीट किए गए जगदीश टाइटलर के खिलाफ कानूनी शिकंजे का हवाला दिया हैं। पत्र के अनुसार जीके ने बताया है कि 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) की हत्या के बाद दिल्ली तथा देश के अन्य हिस्सों में निर्दोष सिखों पर हमले हुए।

-सिखों ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को लिखा पत्र
-भारत जोड़ो की बात करने वाली कांग्रेस समुदाय तोडऩे वालों के साथ क्यों खड़ी
-कांग्रेस दंगों के दोषियों को हमेशा से बचाती रही है : मंजीत सिंह

संपत्ति की हानि तथा महिलाओं के साथ गलत सलूक किया गया। इसका जिम्मेदार सिख पंथ शुरू से कांग्रेस के कुछ नेताओं को मानता रहा हैं। इसमें दिल्ली हिंसा के लिए कांग्रेस नेताओं हरिकृष्ण लाल भगत, धर्मदास शास्त्री, ललित माकन, कमलनाथ, सज्जन कुमार तथा जगदीश टाइटलर का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। कई जांच कमेटियों तथा कमीशनों की लंबी जांच के बावजूद सिख अभी भी इंसाफ के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। हालांकि 1984 सिख कत्लेआम के दौरान निर्दोष सिखों के कत्ल के दोष में उम्रकैद की सजा सज्जन कुमार काट रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने भी सज्जन कुमार के जमानत आवेदनों को कई बार ठुकरा दिया है।
इसी तरह हाल ही में गुरुद्वारा पुल बंगश पर हमले तथा 3 सिखों के कत्ल के मामले में सीबीआई द्वारा कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर के खिलाफ चार्जशीट किया है। इसी तरह से कांग्रेस नेता कमलनाथ पर भी गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब पर भीड़ का नेतृत्व करते हुए हमला करने का आरोप है। लेकिन, कांग्रेस पार्टी की सरकारों के समय 1984 सिख कत्लेआम के इन आरोपियों को गांधी परिवार हमेशा बचाता रहा हैं। इन नेताओं को बड़े पद भी कांग्रेस पार्टी में देने के साथ ही गांधी परिवार ने सिखों के इन कातिलों को सांसद, मंत्री तथा मुख्यमंत्री बनाने से भी कभी शर्म महसूस नहीं की है। मंजीत सिंह जीके ने खडग़े से अपील की कि कांग्रेस पार्टी ऐसे लोगों को निकालने का तत्काल आदेश जारी करें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी भारत जोड़ो की बात करते हुए लंबी यात्रा निकालते है। लेकिन दूसरी तरफ अपनी पार्टी में मौजूद सिखों के कातिलों पर चुप्पी रखते हैं। यह कांग्रेस की दोहरी तथा दुविधा ग्रस्त मानसिकता है। जो समुदायों को आपस में तोडऩे वालों को साथ रखकर भारत को जोड़ने का नाटक करते हैं।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles