29 C
New Delhi
Tuesday, April 16, 2024

पंजाब में 65.32 फीसद मतदान, 2017 की तुलना में कम हुई वोटिंग

नई दिल्ली/ अदिति सिंह : पंजाब विधानसभा की 117 सीटों पर रविवार को शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न हो गया। वोटिंग शाम 6 बजे तक चली और अब 1304 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है। देर रात साढे 9 बजे तक की रिपोर्ट के मुताबिक करीब 65.32 फीसद मतदान हुआ है।2.14 करोड़ वोटरों ने 117 नए विधायक चुनने के लिए वोट डाला। मतदान के लिए पूरे प्रदेश में 14,751 जगहों पर 24,740 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। पुलिस का कड़ा पहरा रहा। वोटिंग के दौरान राज्य में सभी दुकानें और व्यवसायिक संस्थान बंद रहीं। कर्मचारी भी वोटिंग कर सकें, इसलिए चीफ सेक्रेटरी की तरफ से उन्हें पेड छुट्‌टी दी गई और श्रम विभाग की स्पेशल सेक्रेटरी ने सभी व्यवसायिक संस्थान बंद रखने को कहा था। कांग्रेस, भाजपा, आम आदमी पार्टी, शिरोमणि अकाली, पंजाब लोक कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है। कांग्रेस को अपनी सत्ता बचानी है तो पिछले चुनाव में उभरी आम आदमी पार्टी (आप) दिल्ली के बाद इस सूबे में अपने पैर जमाना चाहती है।

—117 सीटों पर शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न
—1304 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद

भाजपा अमरिंदर सिंह की पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस के साथ मैदान में है। वहीं, बसपा के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ रहा अकाली दल बड़े उलटफेर की कोशिश में है। इस वजह से राज्य की कई सीटों पर मुकाबला त्रिकोणीय तो कहीं 4 पार्टियों के बीच सीधी फाइट है।
पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए मतदान का काम पूरा हो गया है और म‍तदान के अंतिम आंकड़े का इंतजार है। देर रात साढे 9 बजे तक की रिपोर्ट के मुताबिक करीब 65.32 फीसद मतदान हुआ है। यह आंकड़ा पांच बजे तक का है और अंतिम दौर में हुए मतदान के आंकड़े का अब भी इंतजार है। मतदान के दौरान केंद्रों पर शाम तक वोटरों की लंबी कतारें दिख रही थींं, लेकिन मतदान प्रतिशत 2017 के विधानसभा चुनाव से कम रहने का अनुमान है। मतदान के दौरान कुछ जगहों से ईवीएम में गड़बड़ी से देर से मतदान शुरू होने की खबरें भी मिलीं। राज्‍य में मतदान सुबह ठीक आठ बजे शुरू हुआ। राज्‍य की सभी 117 विधानसभा सीटों के लिए आज एक ही चरण में वोट डालेगए। मतदान शाम छह बजे चला। इस तरह राज्य के मतदाताओं ने कुल 1304 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में दर्ज कर दिया। अब मतगणना 19 मार्च को होगी। राज्‍य में कुल 2.14 करोड़ मतदाता हैं।
आप के सीएम फेस भगवंत मान, कांग्रेस के सीएम फेस चरणजीत सिंह चन्नी और अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर बादल खुद के लिए ही वोट डाल पाए। उनकी वोट उनके हलके के बजाय दूसरे हलके में और उन्होंने वहीं जाकर वोट डाला। धूरी से चुनाव लड़ रहे भगवंत मान ने मोहली में वोट डाला। भदौड़ और श्री चमकौर साहिब विधानसभा क्षेत्र से मैदान में सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने खरड़ में वोट डाला। जलालाबाद से शिअद प्रत्याशी सुखबीर बादल ने पिता के हलके लंबी में मतदान किया। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चमकौर साहिब व भदौड़ सीट से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन उन्हाेंने अपना मत खरड़ विधानसभा हलके में डाला। आम आदमी पर्टी के सीएम फेस भगवंत मान धूरी से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन उनका वोट मोहाली में है। मान ने परिवार तथा मोहाली से अपने पार्टी प्रत्याशी कुलवंत सिंह के साथ मोहाली के गुरुद्वारा साचा धन्न साहिब जाकर माथा टेका, फिर मोहाली में वोट डाला। सपा अध्यक्ष जसवीर सिंह गढ़ी ने अपने हलके फगवाड़ा में ही वोट किया। पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल गिद्दड़बाहा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन उन्होंने अपना वोट गांव बादल में डाला। खुली जीपों के शौकीन मनप्रीत सिंह बादल परिवार समेत जीप में सवार होकर बादल गांव पहुंचे, जहां परिवार के अन्य सदस्यों के साथ वोट किया।

पंजाब में 65.32 फीसद मतदान, 2017 की तुलना में कम हुई वोटिंग

इसी प्रकार जलालाबाद से चुनाव लड़ रहे अकाली दल प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने भी परिवार समेत अपने पैतृक गांव में जाकर वोट किया। इसके बाद वह विधानसभा हलका जलालाबाद के लिए रवाना हुए। पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने सुबह पहले पठानकोट में वोट डाला। पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने भी पहले एक घंटे के दौरान वोट डाला। पंजाब के कैबिनेट मंत्री विजय इंद्र सिंगला, परगट सिंह समेत कई बडे़ नेता पहले एक घंटे के दौरान अपना-अपना वोट डालकर विधानसभा क्षेत्रों में निकले।

latest news

Previous article
Next article

Related Articles

epaper

Latest Articles