39.1 C
New Delhi
Sunday, June 16, 2024

BJYM की बड़ी पहल, स्वामी विवेकानंद के जीवन दर्शन को युवाओं से कराया परिचित

नई दिल्ली /टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी (BJP)  की यूथ विंग भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) ने स्वामी विवेकानन्द जी के जीवन दर्शन से सभी युवाओं को परिचित कराने के मकसद से एक बडी पहल की है। भाजयुमो की दिल्ली ईकाई ने इसको लेकर विशेष आनलाइन क्वीज प्रतियोगिता का आयोजन किया। इसमें दिल्ली सहित देशभर के युवाओं ने भाग लिया। यह क्वीज प्रतियोगिता स्वामी विवेकानन्द जी के जीवन दर्शन पर आधारित था। इसकी अगुवाई भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष वासु रूखड़ ने की।
बता दें कि विश्व के सबसे प्राचीन सनातन संस्कार, और जीवन पद्धति की वैज्ञानिकता से सम्पूर्ण विश्व को परिचित कराने वाले एवं युवाओं के प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानन्द जी की जयंती ‘युवा दिवस’ के रूप में मनाई गई। इस अवसर पर दिल्ली भाजयुमो (भारतीय जनता युवा मोर्चा) के प्रदेश अध्यक्ष वासु रूखड़ ने युवा मोर्चा द्वारा ऑनलाइन कॉम्पिटिशन आयोजित की गई।

—भाजयुमो ने आनलाइन क्वीज प्रतियोगिता का आयोजन किया
—दिल्ली सहित देशभर के युवाओं ने लिया हिस्सा, 19 को आएगा रिजल्ट
—क्वीज प्रतियोगिता में 18 से 35 वर्ष के सभी युवा आमंत्रित थे
—विजेताओं को प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुस्कार दिया जाएगा

दिल्ली प्रदेश भाजयुमो के मीडिया प्रभारी दमनजीत सिंह दुग्गल ने बताया कि इस क्वीज प्रतियोगिता में 18 से 35 वर्ष के सभी युवा आमंत्रित थे। प्रतियोगिता में जुड़ने के लिए भाजयुमो दिल्ली प्रदेश द्वारा एक लिंक दिया गया था। यह प्रतियोगिता ऑनलाइन अपराह्न 3 बजे से शाम 6 बजे तक थी। इसका परिणाम 19 जनवरी को घोषित की जाएगी।

BJYM की बड़ी पहल, स्वामी विवेकानंद के जीवन दर्शन को युवाओं से कराया परिचित
प्रथम, द्वितीय और तृतीय विजेताओं को क्रमशः 11 हजार, 71 सौ और 51 सौ रूपये की राशि पारितोषिक के रूप में दी जाएगी। मीडिया प्रभारी ने बताया कि भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष वासु रूखड़ का इस आयोजन का मुख्य उद्देश प्रतियोगिता के माध्यम से स्वामी विवेकानन्द जी के जीवन दर्शन से सभी युवाओं को परिचित कराना और स्वामी जी के सपनों के भारत का निर्माण करना है। युवा शक्ति भारत की राष्ट्रशक्ति है। इसे मजबूत करना भाजयुमो का परम कर्तव्य है, जो स्वामी विवेकानन्द जी के विचारों के मार्गदर्शन के बिना सम्भव नहीं है।

देश 12 जनवरी को मनाता है राष्ट्रीय युवा दिवस

बता दें कि महान संत और दार्शनिक स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को हुआ था। स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में हर वर्ष देश 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाता है। विवेकानंद संत रामकृष्ण परमहंस के शिष्य थे।
वह वेदांत और योग पर भारतीय दर्शन से पश्चिमी दुनिया का परिचय कराने वाली प्रमुख हस्ती थे। उन्हें 19वीं सदी के अंत में हिंदू धर्म को दुनिया के प्रमुख धर्मों में स्थान दिलाने का श्रेय जाता है। उन्होंने अपने गुरु की याद में रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन की स्थापना की।

शिकागो में दिया था यादगार भाषण

विवेकानंद को 1893 में अमेरिका के शिकागो में हुई विश्व धर्म संसद में दिए गए उनके भाषण की वजह से सबसे ज्यादा याद किया जाता है। दुनिया भर के धार्मिक नेताओं की मौजूदगी में जब विवेकानंद ने, ‘अमेरिकी बहनों और भाइयों’ के साथ जो संबोधन शुरू किया तो आर्ट इंस्टीट्यूट ऑफ शिकागो में कई मिनट तक तालियां बजती रहीं। इस धर्म संसद में उन्होंने जिस अंदाज में हिंदू धर्म का परिचय दुनिया से कराया, उससे वे पूरे विश्व में प्रसिद्ध हो गए।

latest news

Previous article
Next article

Related Articles

epaper

Latest Articles