35.7 C
New Delhi
Sunday, April 21, 2024

Darshan Education फाउंडेशन की कार्यशाला शुरू, बच्चों की शिक्षा, व्यक्तिगत विकास के बताए मूलमंत्र

नई दिल्ली /अदिति सिंह : दर्शन एजूकेशन फाउंडेशन (Darshan Education Foundation’) की ओर से कृपाल आश्रम, दिल्ली में राष्ट्रीय स्तर (National level) की प्रारंभिक शिक्षा की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। इसका उदघाटन दिल्ली सरकार के डायरेक्टर ऑफ एजूकेशन के उच्च अधिकारी IAS हिमांशु गुप्ता (IAS Himanshu Gupta) ने किया। इस मौके पर हिमांशु गुप्ता ने शिक्षा के मूलभूत स्तर पर ध्यान केन्द्रित करने पर जोर देते हुए कहा कि यह बच्चों की शिक्षा और उनके सामाजिक और व्यक्तिगत विकास को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। उन्होंने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि किस प्रकार प्रारंभिक शिक्षा बच्चों में आवश्यक कौशल, ज्ञान और मूल्य की वृद्धि करती है, जोकि उन्हें सारी उम्र किसी भी चीज़ को सीखने और उसमें सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरी है। गुणवत्ता से भरपूर मूलभूत शिक्षा के द्वारा हम अपने बच्चों और समाज के लिए एक उज्जवल भविष्य की नींव रखते हैं।
तीन दिवसीय कार्यशाला में कई विषयों को शामिल किया जाएगा। जिसमें नवीन शैक्षणिक अभ्यास, बुनियादी स्तर पर साक्षरता और कौशलता के लिए योजना, खेल-आधारित शिक्षा पद्धति सीखने की योजना, प्रभावी कहानी कहने की तकनीक, माता-पिता के दवाब से निपटना और राष्ट्रीय पाठयचर्या (national curriculum)की रूपरेखा शामिल हैं। इसके अलावा एनसीएफ के पालन में मूल्यांकन के तरीके और उपकरण के साथ-साथ शिक्षकों और छात्रों के बीच सकारात्मक संबंधों को बढ़ावा देना आदि भी शामिल हैं। इस कार्यशाला का उद्देश्य शिक्षकों को उनके पढ़ाने के तरीकों को सुधारने और उनके लिए विशेष शिक्षा परिणाम तैयार करने के लिए उन्हें तैयार करना है।
दर्शन एकेडमीज़ (Darshan Academies) का प्रतिनिधित्व करने के लिए भारत के विभिन्न हिस्सों से 90 शिक्षक और कोर्डिनेटर्स इस कार्यशाला में अपने अनुभव और जानकारी को एक-दूसरे के साथ बांटने के लिए इस सांझे मंच पर एकत्र होंगे।
इस प्रकार की कार्यशालाएं शिक्षा के समुदाय को बढ़ावा देने और उन्हें सभी सुविधाएं प्रदान करने के लिए आयोजित की जाती हैं।
बता दें कि दर्शन एजूकेशन फाउंडेशन 27 वर्षों से काली, कोलंबिया सहित पूरे देशभर में प्रतिष्ठित दर्शन एकेडमियों का संचालन कर रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता हासिल करने के अलावा दर्शन एजूकेशन फाउंडेशन अपने शिक्षकों को सशक्त बनाने और लगातार कुछ नया सीखने को बढ़ावा देने के लिए नियमित रूप से प्रशिक्षण सत्र और कार्यशालाएं आयोजित करता रहता है।
इस कार्यशाला की शुरूआत दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशक  हिमांशु गुप्ता के एक ज्ञानवर्धक उदघाटन सत्र के साथ हुई। जिन्होंने मुख्य अतिथि के रूप में इस कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। उनकी उपस्थिति से कार्यशाला में भाग लेने वाले सभी शिक्षकों को प्रेरित करते हुए एक सकारात्मक माहौल बना दिया। दर्शन एजूकेशन फाउंडेशन के अध्यक्ष   ए.के. सचदेवा ने हिमांशु गुप्ता का बड़ी गर्मजोशी के साथ स्वागत करते हुए उनकी बहुमूल्य उपस्थिति के लिए उनका आभार व्यक्त किया। इसके अलावा उन्होंने   हिमांशु गुप्ता को प्रशंसात्मक प्रतीक के रूप में एक पौधा, कार्ड और आध्यात्मिक पुस्तकें भी भेंट कीं।
दर्शन मेडिटेशन हॉल, कृपाल आश्रम, दिल्ली जहां यह कार्यशाला आयोजित की जा रही है, सकारात्मकता का माहौल बना हुआ है। इस अवसर पर दिखाई गई ध्यान-अभ्यास पर एक बहुत ही आकर्षक विडियो और छोटे से ध्यान-अभ्यास सत्र ने सभी शिक्षकों को सीखने और चिंतन के लिए अनुकूल माहौल तैयार कर दिया। इस अवसर पर दर्शन एकेडमी के छात्रों ने एक मधुर प्रार्थना गीत गाकर माहौल को और भी बेहतर बना दिया, जिससे कि इस अवसर पर शांति के स्पर्श ने सबके मन को छू लिया।
दर्शन एजूकेशन फाउंडेशन छात्रों को गुणवत्ता की शिक्षा प्रदान करने और उनके विकास को बढ़ावा देने के अपने मिशन के लिए प्रतिबद्ध है। शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय स्तर की फाउंडेशनल स्टेज वर्कशाप जैसी कार्यशालाओं के द्वारा दर्शन एजूकेशन फाउंडेशन का लक्ष्य शिक्षकों को सशक्त बनाने के साथ-साथ उनके व्यावसायिक विकास को बढ़ावा देना है, जिससे कि अंततः शैक्षिक समुदाय को ही लाभ होगा और साथ ही साथ देश में एक उज्जवल भविष्य का मार्ग भी प्रशस्त होगा।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles