29 C
New Delhi
Sunday, April 11, 2021

मध्य प्रदेश में पर्यटकों को आकर्षित करने की अपार क्षमता : अश्वनी लोहानी

—खजुराहो में ‘मेकिंग खजुराहो-एज़ आइकॉनिक टूरिस्ट डेस्टिनेशन’ पर समारोह
—खजुराहो को विकसित करने और पर्यटन को बढ़ावा देने पर दिग्गजों ने की चर्चा

खजुराहो /अदिति सिंह : भारत सरकार का पर्यटन मंत्रालय खजुराहो के ‘छत्रसाल सम्मेलन केन्द्र’ में 25 से 27 मार्च 2021 तक बैठक, प्रोत्साहन, सम्मेलन और प्रदर्शनियों का एक कार्यक्रम ‘मीट इन इंडिया’ एक माइस रोड-शो आयोजित कर रहा है। इस कार्यक्रम का स्वागत समारोह आयोजित किया गया और ‘इंडिया कन्वेंशन प्रमोशन ब्यूरो’ (आईसीपीबी) के उपाध्यक्ष अमरेश तिवारी ने भारत में माइस इंडस्ट्री के भविष्य पर एक प्रस्तुति दी। उसके बाद अपर प्रबंध-निदेशक सुश्री सोनिया मीणा द्वारा एक और प्रस्तुति दी गई। इसके अलावा मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड के प्रबंध निदेशक द्वारा मध्य प्रदेश के कई पर्यटक आकर्षण भी प्रस्तुत किये गए। जीएमआर ग्रुप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अश्वनी लोहानी ने अपने संबोधन में कहा कि, मध्य प्रदेश वास्तव में भारत का हृदय स्थल है और इसमें पर्यटकों को आकर्षित करने की अपार क्षमता है। उन्होंने कोविड काल के बाद पर्यटन के क्षेत्र में हो रहे बदलावों पर भी अपने विचार व्यक्त किये। पर्यटन मंत्रालय में सचिव अरविंद सिंह ने कहा कि, उनका मंत्रालय विभिन्न हितधारकों के साथ काम करने तथा देश में पर्यटन क्षेत्र को विकसित करने के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करने के लिए उत्सुक है।

दिन का दूसरा सत्र ‘मेकिंग खजुराहो-एज़ आइकॉनिक टूरिस्ट डेस्टिनेशन’ पर आयोजित किया गया था, इस सत्र के दौरान खजुराहो के मास्टर प्लान पर एक विस्तृत प्रस्तुति डिज़ाइन एसोसिएट्स के सहयोगी जे काकटिकर द्वारा दी गई थी। पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ने इस प्रस्तुति को देखा और उन्होंने इस पर विस्तार से चर्चा की। इसके बाद, विभिन्न स्थानीय हितधारकों तथा स्थानीय मीडिया ने भी खजुराहो के विकास पहलुओं पर अपने विचार प्रस्तुत किए और खजुराहो के मास्टर प्लान पर अपनी प्रतिक्रिया एवं टिप्पणियां व्यक्त कीं।

खजुराहो को विकसित करने और पर्यटन को बढ़ावा देने की योजना

इस मौके पर खजुराहो को विकसित करने और पर्यटन को बढ़ावा देने से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर आधारित एक प्रतिष्ठित गंतव्य के रूप में सांस्कृतिक, प्राकृतिक तथा विरासत स्थलों एवं आसपास के आकर्षणों के महत्व पर चर्चा की गई। इस उद्घाटन सत्र में भारत सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, भारत सरकार के पर्यटन सचिव अरविंद सिंह, मध्य प्रदेश सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति प्रधान सचिव शेखर शुक्ला, स्वागत विरासत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अविनाश मंघानी, सांस्कृतिक टेक्नोक्रेट डॉ नवीना जाफा, आईटीडी में अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक जी कमला वर्धन राव और प्रणव सरकार ने भाग लिया।। सत्र का संचालन अर्न्स्ट एंड यंग के वरिष्ठ सहयोगी और नेता गौरव तनेजा ने किया।

Related Articles

epaper

Latest Articles