36.1 C
New Delhi
Sunday, June 23, 2024

JEE-एडवांस्ड रिजल्ट : दिल्ली से मृदुल को शीर्ष स्थान, लड़कियों में काव्या अव्वल

नयी दिल्ली/ टीम डिजिटल : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) में दाखिले के लिये जेईई-एडवांस्ड प्रवेश परीक्षा में इस वर्ष दिल्ली क्षेत्र से मृदल अग्रवाल ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया । मृदुल अग्रवाल ने आईआईटी प्रवेश परीक्षा में अब तक के सर्वाधिक अंक हासिल किए। इस परीक्षा के नतीजे शुक्रवार को घोषित किए गए । अग्रवाल (17 वर्ष) को संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई)- एडवांस्ड में 360 में से 348 अंक मिले। वह आईआईटी बंबई से कम्प्यूटर विज्ञान में बीटेक करना चाहते हैं। राजस्थान के रहने वाले अग्रवाल ने जेईई-मुख्य परीक्षा में भी 100 पर्सेंटाइल हासिल किए थे और 17 अन्य उम्मीदवारों के साथ शीर्ष स्थान पर रहे थे। दिल्ली क्षेत्र की ही काव्या चोपड़ा (Kavya Chopra) ने लड़कियों में जेईई-एडवांस्ड में शीर्ष स्थान हासिल किया है। वह जेईई-मुख्य परीक्षा में पहला स्थान हासिल करने वाली पहली महिला बनी थीं। काव्या को 360 में से 286 अंक मिले हैं और उनकी कुल रैंक 98 है। अधिकारियों ने बताया कि इस साल जेईई-एडवांस्ड में 41,862 उम्मीदवारों को सफलता मिली है जिनमें से 6,452 लड़कियां हैं। जेईई-एडवांस्ड में दिल्ली से ही धनंजय रमण ने दूसरा स्थान और अनंत लूनिया ने तीसरा स्थान प्राप्त किया । इस साल भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) खडग़पुर ने यह परीक्षा आयोजित करायी थी। देशभर के इंजीनियङ्क्षरग कॉलेजों में दाखिले के लिए होने वाली जेईई-मेन्स परीक्षा को जेईई-एडवांस्ड के लिए योग्यता परीक्षा माना जाता है।

जेईई-एडवांस्ड के लिए 42 विदेशी उम्मीदवारों ने परीक्षा दी

जेईई-एडवांस्ड के पेपर एक और दो, दोनों में कुल 1,41,699 उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘परीक्षा के लिए 97 विदेशी उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था, लेकिन उनमें से केवल 42 ने परीक्षा दी और सात उम्मीदवारों को सफलता मिली। रैंक तैयार करने के लिये एक प्रक्रिया अपनायी गई थी । इसमें कुल अंकों की गणना गणित, भौतिकी और रसायन में प्राप्त अंक के कुल योग के आधार पर की गई । इसमें छात्रों को रैंक की सूची में आने के लिये विषयवार तथा कुल पात्रता अंकों को पूरा करना था । शीर्ष 100 रैंक में आईआईटी बम्बे क्षेत्र और आईआईटी दिल्ली क्षेत्र से 28-28 छात्रों को स्थान मिला जबकि आईआईटी हैदराबाद क्षेत्र से 27 छात्र, आईआईटी रूड़की क्षेत्र से 13 छात्र, आईआईटी कानपुर क्षेत्र से 3 और आईआईटी खडगपुर क्षेत्र से एक छात्र को स्थान मिला ।

जेईई-मेन परीक्षा चार बार करायी गयी

छात्रों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए और अंकों में सुधार करने का मौका देने के लिए इस साल जेईई-मेन परीक्षा चार बार करायी गयी। पहले चरण की परीक्षा फरवरी में हुई और दूसरी मार्च में। अगले चरणों की परीक्षा अप्रैल और मई में करायी जानी थी, लेकिन कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण परीक्षा स्थगित कर दी गयी। तीसरे चरण की परीक्षा 20 से 25 जुलाई जबकि चौथे चरण की परीक्षा 26 अगस्त से दो सितंबर तक करायी गई। पहले से उपलब्ध नीति के अनुसार, चार सर्वश्रेष्ठ अंकों को ध्यान में रखते हुए उम्मीदवारों की रैंक जारी की गयी।

latest news

Previous article
Next article

Related Articles

epaper

Latest Articles