36.8 C
New Delhi
Wednesday, May 29, 2024

सिख सरदारों के नाम से कभी कांपते थे मुगल…किरण बेदी ने उड़ाई खिल्ली

नयी दिल्ली /प्रज्ञा शर्मा : पूर्व पुलिस अधिकारी एवं पुडुचेरी की पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी के द्वारा सिखों के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी पर विवाद खड़ा हो गया है। दिल्ली से लेकर पंजाब तक सिख संगठनों ने बेदी के मजाक का विरोध जताया है। साथ ही गुस्से का इजहार किया है। इसको लेकर सिखों ने दिल्ली के मुखर्जी नगर पुलिस स्टेशन में बाकायदा शिकायत देते हुए एफआईआर दर्ज करने की मांग कर डाली है। हालांकि, सोशल मीडिया पर किरण बेदी का वीडियो वायरल होने और विवाद बढ़ने के बाद बेदी को माफी मांगनी पड़ी है।

किरण बेदी ने सरदारों के 12 बजने का उड़ाया मजाक, भड़के सिख
-बेदी के खिलाफ सिखों ने दिल्ली पुलिस में दी शिकायत, दर्ज हो केस
-गुरुद्वारा कमेटी सहित सभी सिख संगठनों ने जताई आपत्ति, कहा मांगें माफी
-बवाल बढ़ता देख, किरण बेदी ने ट्विटर पर मांगी माफी
-शिरोमणि अकाली दल दिल्ली ने श्री अकाल तख्त से करेगी शिकायत

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका ने सिख समुदाय के खिलाफ दिए गये बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की तथा उनसे सिख समुदाय से तुरंत माफी मांगने के लिए कहा। कालका ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि स्वयं को देश में नंबर 1 आईपीएस अधिकारी कहलाने वाली व देश में सम्मानित पदों पर रहने वाली किरण बेदी को यह बात समझ नहीं आई कि वह किस कौम के खिलाफ वह बयानबाजी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि किरण बेदी सिख कौम से तुरंत माफी मांगे। जो बात किरण बेदी ने कही है वह उनके लिए व्यंग्य हो सकती है पर इससे सिखों के हृदय को गहरी चोट पहुंची है।
जागो पार्टी के अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके ने कहा कि किरण बेदी को सिखों का इतिहास पढ़ना चाहिए। मुझे सिखों के 12 बजने पर गर्व है। क्योंकि जब सिखों के 12 बजते थे तब हिंदुस्तान की बहू बेटियों की रक्षा होती थी।
शिरोमणि अकाली दल (दिल्ली) के महासचिव गुरमीत सिंह शंटी ने कहा कि पूर्व पुलिस अधिकारी किरण बेदी को सिख इतिहास पढ़ने की सख्त जरूरत है।

सिख सरदारों के नाम से कभी कांपते थे मुगल...किरण बेदी ने उड़ाई खिल्ली

सरदारों ने हमेशा चडदीकला और पंथ की भलाई के लिए काम किया है। सिखों की शहीदियों का लंबा लासानी इतिहास रहा है। उस कौम के बारे में खिल्ली उड़ाना गलत है। इससे सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। किरण बेदी को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए और गुरु घर में नतमस्तक होना चाहिए। शंटी ने दावा किया कि वह किरण बेदी के खिलाफ श्री अकाल तख्त साहिब में शिकायत भी दर्ज कराएंगे।
सिख संगठन से जुड़े एवं भाई परमानंद कालोनी निवासी सरदार जसप्रीत सिंह माटा ने किरण बेदी के खिलाफ दिल्ली के मुखर्जी नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दी है।

साथ ही एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। जसप्रीत सिंह माटा ने दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना एवं दिल्ली पुलिस के आयुक्त राकेश अस्थाना को भी शिकायती पत्र भेजा है।

बता दें कि किरण बेदी का वायरल वीडियो  एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम 13 जून का बताया जा रहा है। वह निर्भीक प्रशासन किताब के विमोचन कार्यक्रम में पहुंची थी। इस दौरान किरण बेदी ने मजाकिया अंदाज में कहा, अभी बजे हैं पूरे 20 मिनट कम 12, यहां कोई सरदार जी नहीं हैं।

 

क्या है सिखों के 12 बजने की कहानी

कहते हैं कि अहमद शाह अब्दाली हिंदू लड़कियों और महिलाओं घरों से उठाकर बेचने के लिए गजनी के बाजार में ले जाता था। अब्दाली के आतंक से बचने के लिए महिलाओं ने सिखों के समक्ष गुहार लगाई। इसके बाद सिख जरनैल बाबा जस्सा सिंह आहलूवालिया ने रात को 12 बजे एक विशेष अभियान के तहत अटैक किया और (2200 लड़कियों और महिलाओं को एक साथ बचाया था) बचाया था। बाद लें उनकी इज्जत बचाई और उनके घरों को छोड़ कर आए थे। इसके बाद सिख जरनैल 12 बजे ही अत्याचार के खिलाफ अभियान चलाते थे। इसी अभियान का मुगलों में डर पैदा हो गया था। कहते थे कि सरदार आ जाएंगे 12 बज गए हैं, सावधान हो जाओ।

latest news

Related Articles

epaper

Latest Articles