29 C
New Delhi
Sunday, April 11, 2021

राहुल गांधी के RSS पर दिए बयान पर भड़की BJP, कहा, देशभक्ति की सबसे बड़ी पाठशाला है RSS

-RSS पर बयान देने के लिए राहुल गांधी पर भड़की भाजपा
–संघ को समझने में राहुल गांधी को लगेगा बहुत समय : भाजपा
–राहुल गांधी के आपातकाल वाले बयान पर भी पलटवार
-संस्थागत ढांचे को नुकसान नहीं पहुंचाया, ये कहना हास्यास्पद : जावड़ेकर

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) को देशभक्ति के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी पाठशाला करार देते हुए इसकी तुलना पाकिस्तान के कट्टरपंथी इस्लामिक संगठनों से करने पर राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया। साथ ही कहा कि कांग्रेस नेता को RSS को समझने में बहुत समय लगेगा। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भाजपा मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए दावा किया कि आरएसएस देशभक्ति की दुनिया में सबसे बड़ी पाठशाला है। इसलिए दुनिया में उसका आदर है और भारत में इसकी भूमिका है। लोगों में अच्छा परिवर्तन लाना, लोगों को देशभक्ति के लिए प्रेरित करना, यही संघ करता है। बता दें कि अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और भारत के पूर्व मुख्य आॢथक सलाहकार कौशिक बसु के साथ हुए एक संवाद के दौरान राहुल गांधी ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि आरएसएस अपने द्वारा चलाए जा रहे स्कूलों को इस्तेमाल विश्व के बारे में एक विशेष विचार को आगे बढ़ाती है जैसे पाकिस्तान में कट्टरपंथी इस्लामी मदरसा करते हैं।

यह भी पढें...महिला IPS का स्पेशल DGP ने पकड़ा हाथ, पिछले हिस्से पर करने लगे KISS

भाजपा नेता जावड़ेकर ने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए उनके उस बयान को हास्यास्पद करार दिया जिसमें उन्होंने स्वीकार किया था कि आपातकाल एक गलती थी लेकिन कांग्रेस ने कभी भी देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का प्रयास नहीं किया। जावड़ेकर से जब राहुल के आपालकाल संबंधी स्वीकारोक्ति के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह आज इस पर ज्यादा टिप्पणी नहीं करना चाहते लेकिन उनका अगला वाक्य महत्वपूर्ण है, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस ने कभी भी देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का प्रयास नहीं किया। जावड़ेकर ने कहा, आपातकाल के दौरान सारे संस्थानों को बंद कर दिया। सारे संगठनों की आजादी खत्म कर दी। सभी पाॢटयों पर प्रतिबंध लगा दिया गया। सारे सांसदों और विधायकों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। लाखों लोगों को बंदी बनाया गया। साथ ही साथ अखबारों की आजादी खत्म कर दी। केंद्रीय मंत्री ने कहा, संस्थागत ढांचे को नुकसान नहीं पहुंचाया, ये कहना हास्यास्पद है।

यह भी पढें...राशन की दुकान चलाएंगी महिलाएं, हर जिले में खुलेगा महिला पुलिस थाना

उन्होंने कहा, कांग्रेस पार्टी ने भारत के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का प्रयास कभी नहीं किया और कांग्रेस के पास ऐसा करने की काबिलियत भी नहीं है। हम ऐसा करना चाहें तब भी हमारी संरचना ऐसी है कि हम नहीं कर पाएंगे। केंद्रीय मंत्री ने असम में नागरिकता संशोधन विधेयक (CAA) को समाप्त करने के कांग्रेस के वादे के लिए विपक्षी दल को आड़े हाथों लिया। जावड़ेकर ने एक ट््वीट में कहा, कांग्रेस ने 2015 में बांग्लादेश से आए बंगाली हिन्दुओं और बौद्ध के लिए नागरिकता की मांग की थी और वही कांग्रेस आज कह रही है कि वह सत्ता में आई तो सीएए को समाप्त कर देगी। उन्होंने इसे कांग्रेस की चुनावी मौकापरस्ती करार दिया। फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप और अभिनेत्री तापसी पन्नू के खिलाफ आयकर विभाग के छापे का उनकी भाजपा विरोधी कथित टिप्पणियों से जोड़े जाने के आरोपों को खारिज करते हुए जावड़ेकर ने कहा कि जांच एजेंसियां तथ्यों और ठोस सूचनाओं के आधार पर जांच करती है और मामला अदालतों में भी जाता है।

Related Articles

epaper

Latest Articles