25 C
New Delhi
Monday, April 19, 2021

BJP पहुंची चुनाव आयोग, कहा-दिल्ली दहलाना चाहती है AAP

–चुनाव आयोग से की केजरीवाल, सिसोदिया, संजय सिंह की शिकायत
–सौंपा ज्ञापन, नेताओं पर अपराधिक मुकदमा दर्ज करने की मांग
-दिल्ली की सुरक्षा से जुड़ा है मामला, तुरंत संज्ञान ले चुनाव आयोग
-केजरीवाल, सिसोदिया का नॉमिनेशन तुरंत प्रभाव से रद्द हो : जावड़ेकर

(साधना मिश्रा) 
नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने बुधवार की देर शाम मुख्य चुनाव आयुक्त (Chief Election Commissioner) से मुलाकात कर आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के नेताओं के द्वारा आपराधिक षडयंत्र रचने और दिल्ली को दहलाने की साजिश करने के खिलाफ शिकायत की है। साथ ही इस बावत एक ज्ञापन भी सौंपा है, जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया व सांसद संजय सिंह पर दिल्ली को जलाने, दहलाने के अपराधिक षडय़ंत्र रचने पर अपराधिक मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर एवं भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री तरूण चुघ के नेतृत्व में शिष्टमंडल ने आम आदमी पार्टी के नेताओं द्वारा किए गए सुनियोजित अपराधिक षडय़ंत्र पर शिकायत दी। साथ ही दिल्ली की सुरक्षा से जुड़े मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत संज्ञान लेकर कठोर कार्रवाई की मांग की है।

शाहीन बाग फायरिंग वाला AAP का सदस्य निकला

भाजपा शिष्टमंडल ने चुनाव आयोग से अपील की है कि भारतीय संविधान के आर्टिकल 324 के तहत कार्रवाई कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया व आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह पर अपराधिक षडयंत्र रचने, दिल्ली में दंगा फैलाने की साजिश करने, सबूत मिटाने के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए और उनके नॉमीनेशन को तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाए।
बीजेपी शिष्टमंडल ने इस सारे प्रकरण को एक गहरी अपराधिक साजिश बताया। साथ ही इसे आम आदमी पार्टी का प्रॉक्सी अभियान बताया। भाजपा ने बताया कि यह शाहीन बाग में प्रदर्शन न केवल देश को दहलाने, दंगा करवाने का प्रयास कर रहा है बल्कि इस सारे षडयंत्र के पीछे केजरीवाल, सिसोदिया व संजय सिंह के गंदे व अपराधिक दिमाग की षडयंत्रकारी ऊपज है,जो अपराधिक साजिश और दंगे फैला कर दिल्ली की सत्तां पर काबिज होना चाहते हैं।

मुलाकात के बाद केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर एवं भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री तरुण चुघ ने मीडिया को बताया कि भाजपा शिष्टमंडल ने शिकायत की है कि पहले शाहीन बाग को आम आदमी पार्टी ने धरने, प्रदर्शन, देश विरोधी भाषणों, उपद्रव का केंद्र बनाया और फिर 31 जनवरी को साजिशन खुद आप पार्टी के नेता संजय सिंह ने बयान जारी कर कहा कि 2 फरवरी को दिल्ली में भाजपा बड़ा बवाल करने जा रही है और फिर अपनी ही पार्टी के सदस्य कपिल गुर्जर को एक गहरी अपराधिक साजिश के तहत भेज कर दिल्ली में धार्मिक दंगा व आग लगाने का प्रयास किया गया। शाहीन बाग में गोली चलाने वाले आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता कपिल गुर्जर ने जानबूझकर षडयंत्र के तहत जय श्रीराम का नारा भी लगाया, जिससे भाजपा को बदनाम किया जा सके।


केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर एवं पार्टी के राष्ट्री मंत्री तरूण चुघ ने कहा कि 1 फरवरी को गोली चलाने वाले कपिल गुर्जर से जब डीसीपी क्राइम ने पूछताछ की तो पता चला कि उसने अपने मोबाईल से सभी सबूतों को मिटाने के लिए मोबाईल से सभी फोटो हटा दी थी, जिसे बाद में रिकवर किया तो पता चला कि वह आम आदमी पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता है। उसने आम आदमी पार्टी के सांसद व नेता संजय सिंह, आतिशी मर्लेना के साथ आम आदमी पार्टी ज्वाइनिंग की थी।

कपिल गुर्जर ने पुलिस को दिए अपने बयान में भी माना है कि वह और उसके पिता गजे सिंह आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता हैं और सक्रिय रूप से आम आदमी पार्टी में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने जानबूझ कर अपने मोबाईल से सभी सबूत मिटाये थे, ताकि आम आदमी पार्टी की साजिश जनता के समक्ष ऊजागर न हो। गौरतलब है कि अपराधिक सबूत मिटाना इण्डियन ऐवीडेंस एक्टं-1872 व आईपीसी की धारा 201 के तहत एक गंभीर अपराध है।

BJP ने अपनी लिखित शिकायत दी

शिष्टमंडल ने मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा, चुनाव आयुक्त अशोक लवासा व चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा को अपनी लिखित शिकायत दी। साथ ही कहा कि इस प्रकरण को राजनैतिक व बल आधार पर दबाने के लिए सांसद संजय सिंह ने डीसीपी क्राइम ब्रांच राजेश देव को नोटिस और प्रेस के समक्ष बयान देकर धमकाया है और षडयंत्र की मुख्य कड़ी कपिल गुर्जर के पिता गजे सिंह पर भी दबाव बनाया जा रहा है।

Related Articles

epaper

Latest Articles