spot_img
26.1 C
New Delhi
Thursday, October 28, 2021
spot_img

कोरोना वायरस: BJP अध्यक्ष जेपी नडडा ने पदाधिकारियों को दिए निर्देश

लॉक डाउन में फंसे लोगों एवं क्वारंटाइन में लोगों की मदद करें भाजपाई
–बीजेपी अध्यक्ष जेपी नडडा ने पदाधिकारियों को दिए निर्देश
-कोरोना से निपटने के लिए बीजेपी ने सभी राज्यों को किया एलर्ट
–बीजेपी अध्यक्ष ने बंगाल, आंध्र, कर्नाटक के अध्यक्षों से की सीधी बात

नई दिल्ली/ अदिति सिंह। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के मद्देनजर आज पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के भाजपा अध्यक्षों, संगठन महामंत्रियों, पार्टी पदाधिकारियों, सांसदों, विधायकों एवं जिला अध्यक्षों से बात की। साथ ही लड़ाई को अंजाम तक पहुँचाने का आह्वान किया। उन्होंने कार्यकर्ताओं को यातायात, लॉकडाउन, अस्पताल और क्वारंटाइन में लोगों की मदद करने के निर्देश दिए।

इस मौके पर बीजेपी अध्यक्ष ने देश के पांच करोड़ गरीब लोगों तक खाना पहुंचाने के पार्टी के सबसे बड़े अभियान की प्रगति की समीक्षा भी की। साथ ही पुन: प्रतिबद्धता व्यक्त की कि भाजपा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस आह्वान को जमीन पर उतारने के लिए कृतसंकल्पित है कि संकट की इस घड़ी में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए। इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी. एल. संतोष भी उपस्थित थे। नडडा ने ने केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए मानक परिचालन प्रकिया (एसओपी) जारी करने का स्वागत किया। उन्होंने प्रदेश भाजपा कार्यालयों के कोरोना टोल फ्री नंबर के जरिये मुसीबत में फंसे अधिक से अधिक लोगों तक मदद पहुंचाने की अपील की।

नड्डा ने भाजपा शासित राज्यों सहित देश के सभी राज्य सरकारों द्वारा कोरोना संकट की इस घड़ी में आम जनता के कल्याण के लिए उठाये जा रहे विभिन्न इनिशिएटिव की चर्चा की और इस मानवता की सच्ची सेवा बताया।

कोरोना पर टास्क फोर्स की स्थापना

इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एक कोरोना पर टास्क फोर्स की स्थापना और 40 हजार नए वेंटिलेटर तथा आइसीएमआर के माध्यम से 5 लाख एंटीबॉडी किट और 7 लाख आरएनए किट खरीदे जाने के लिए ऑर्डर जारी करने को सराहनीय कदम बताया।  नड्डा ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा देश में ही दवाओं की मैन्युफैक्चरिंग के लिए लगभग 14 हजार करोड़ रुपये के पैकेज से फार्मा क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने एवं मेक इन इंडिया को प्रोत्साहित करने में मदद मिल सकेगी।

 

Related Articles

epaper

Latest Articles