spot_img
29.1 C
New Delhi
Sunday, July 25, 2021
spot_img

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में करोना के 91 मामले बढ़े

-दिल्ली में 1 की मौत, अभी भी स्थिति नियंत्रण में, कोरोना फैलता है, तो हम तैयार हैं
——348 मरीजों में से 58 मरीज विदेशी यात्रा वाले हैं : केजरीवाल
—सभी को दिल्ली में विभिन्न अस्पतालों में रख कर क्वारंटाइन किया गया

(अदिति सिंह)

नई दिल्ली / टीम डिजिटल : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली में अभी तक कुल 384 कोरोना के मरीज हुए हैं। कल तक यह 293 थे। पिछले 24 घंटे में 91 और कोरोना के मरीज बढ़ गए हैं। एकदम से देखने में यह काफी चिंताजनक स्थिति लगती है। 348 मरीजों में से 58 मरीज विदेशी यात्रा वाले हैं। यह वे लोग हैं, जो पिछले दो महीने में विदेश यात्रा की थी और वहीं से कोराना लेकर आए थे। इनमें से कई लोग दिल्ली के भी नहीं हैं। फिर भी इनमें कोरोना के लक्षण मिलने पर इन्हें दिल्ली में विभिन्न अस्पतालों में रख कर क्वारंटाइन किया गया है। इनको यह बीमारी दिल्ली में नहीं लगी है।

259 मरीज मरकज वाले हैं। जो लोग विदेश से यात्रा करके आए और अपने परिवार में कोरोना फैला दिया है, ऐसे 38 लोग हैं। एक तरह से दिल्ली के अंदर कोरोना एक-दूसरे से संपर्क करने से मात्र 38 लोगों में फैला है। यह आंकड़ा ज्यादा नहीं बढ़ी है। यही पर थोड़ी उम्मीद की किरण नजर आ रही है कि दिल्ली में कोरोना अभी फैलना शुरू नहीं हुआ है।
दिल्ली सरकार, दिल्ली की जनता और केंद्र सरकार के प्रयास से जो लोग भी विदेश से कोरोना लेकर आए, उसको आगे फैलने से रोका गया है। दिल्ली में कोरोना की वजह से अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है। कल तक यह आंकड़ा 4 था। आज जिस व्यक्ति की मौत हुई है, वह मरकज से निकाले गए लोगों में शामिल था। हमारे जितने भी मरीज अस्पताल में हैं, उनमें से दो मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया है। जिनकी स्थिति हम नाजुक कह सकते हैं।

भगवान से प्रार्थना है कि वे भी ठीक हो जाएंगे। शेष मरीजों की हालत स्थिर दिख रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कल मैने कहा कि था कि दो बातें महत्वपूर्ण है। एक यह कि कोरोना कितनी तेजी से फैल रहा है और इससे कितने लोगों की मौत हो रही है।

अभी घबराने की जरूरत नहीं

दिल्ली के परिप्रेक्ष्य में यह दोनों स्थिति अभी नियंत्रण में है। अभी घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन प्रधानमंत्री जी ने जो लाॅक डाउन का एलान किया है, उसको बहुत इमानदारी के साथ पालन करते रहना है। यह कब फैल जाए, किसी को पता भी नहीं चलता है। हमें दूसरे देशों से सीख कर सामाजिक दूरी और लाॅक डाउन का पूरी तरह से पालन करना है। मैं लगातार डाॅक्टरों के संपर्क में हूं। भगवान न करे कि कोरोना फैले और अगर कोरोना फैलता है, तो उसके लिए भी हम तैयार हैं।

Related Articles

epaper

Latest Articles