spot_img
25.1 C
New Delhi
Friday, September 17, 2021
spot_img

खुशखबरी : 12 मई से पटरी पर उतरेंगी यात्री ट्रेनें

–पहले चरण में 15 जोड़ी चलेंगी एयरकंडीशन यात्री ट्रेनें
-नई दिल्ली से सभी राज्य की राजधानियों को जोड़ेंगी
–सिर्फ एसी ट्रेन चलेगी, 11 मई शाम 4 बजे से होगा रिर्जवेशन
–यात्रियों को मास्क अनिवार्य, स्क्रीनिंग से गुजरना होगा

(खुशबू पाण्डेय)
नई दिल्ली /टीम डिजिटल : कोविड—19 के बढते प्रकोप के चलते देशभर में हुए लॉकडाउन  में बंद की गई भारतीय रेलवे की यात्री ट्रेनें 12 मई से फिर से शुरू हो रही हैं। पहले चरण में सिर्फ 15 जोड़ी (30 वापसी यात्रा) के साथ ट्रेनों की शुरूआत हो रही है। सभी ट्रेनें वातानुकूलित होंगी। इनकी बुकिंग सोमवार से आनलाइन शुरू हो जाएगी। टिकटों की बुकिंग फिलहाल आईआरसीटीसी के माध्यम से ही होगी। पहले चरण में नई दिल्ली से शुरूआत होगी, जो राज्यों की राजधानियों को जोड़ेगी। ये ट्रेनें डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोडऩे वाली नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी।
इसके बाद, भारतीय रेलवे कोविड-19 देखभाल केंद्रों के लिए 20,000 कोचों को आरक्षित करने के बाद उपलब्ध कोचों के आधार पर नए मार्गों पर और अधिक विशेष सेवाएं शुरू करेगा। इसके अलावा पर्याप्त संख्या में कोचों को श्रमिक स्पेशल के रूप में प्रतिदिन 300 ट्रेनों के संचालन को सक्षम करने के लिए आरक्षित किया जाएगा। फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए।

ट्रेनों में आरक्षण के लिए बुकिंग 11 मई को शाम 4 बजे शुरू होगी

इन ट्रेनों में आरक्षण के लिए बुकिंग 11 मई को शाम 4 बजे शुरू होगी। केवल आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर उपलब्ध होगी। रेलवे स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद रहेंगे और कोई काउंटर टिकट (प्लेटफॉर्म टिकट सहित) जारी नहीं किया जाएगा। यात्रा के दौरान केवल वैध कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी।

यात्रियों को चेहरा ढंकना अनिवार्य होगा

रेल मंत्रालय ने स्पष्ट कहा है कि यात्रियों को चेहरा ढंकना अनिवार्य होगा और प्रस्थान के समय स्क्रीनिंग से गुजरना होगा। खासबात यह है कि इस दौरान ट्रेन में चढऩे के लिए केवल यात्रियों को अनुमति होगी। ट्रेन कार्यक्रम सहित अन्य विवरण अलग-अलग समय पर रेलवे जारी करेगी। बता दें कि लॉकडाउन की घोषणा के बाद ही रेल मंता्रलय ने अपनी सभी 13 हजार से अधिक ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया था। सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए मालगाडिय़ां चल रही थी। लेकिन तीसरे लॉकउाउन के समय केंद्र सरकार ने देशभर में फंसे श्रमिकों, पर्यटकों, छात्रों के लिए विशेष स्पेशल ट्रेनों को इजाजत दी है, जो चल र ही हैं।

श्रमिक स्पेशल ट्रेनें सामान्य रूप से चलती रहेंगी : बाजपेयी

रेल मंत्रालय के एक्जक्यूटिव डायरेक्टर (जनसंपर्क)  राजेश दत्त बाजपेयी  के मुताबिक भारतीय रेल धीरे धीरे कुछ यात्री ट्रेन सेवाओं की शुरुआत करने जा रही है। लेकिन मौजूदा श्रमिक स्पेशल ट्रेनें वर्तमान व्यवस्था के अनुसार संबंधित राज्य सरकारों के अनुरोध पर सामान्य रूप से चलती रहेंगी।

Related Articles

epaper

Latest Articles