41.8 C
New Delhi
Sunday, May 19, 2024

एयरलाइंस को टक्कर देने लगी है रेलवे की वंदे भारत एक्सप्रेस

नई दिल्ली /खुशबू पाण्डेय : भारतीय रेलवे (Indian Railways) की अत्याधुनिक ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) लोगों को इतनी पसंद आने लगी है कि अब एयरलाइंस को भी टक्कर देने लगी है। चेन्नई-बेंगलुरु, तिरुवनंतपुरम-कासरगोड, मुंबई-पुणे, जामनगर-अहमदाबाद और दिल्ली-जयपुर मार्गों पर वंदे भारत की शुरुआत के साथ, इन क्षेत्रों में हवाई किराए में अप्रैल के स्तर से 20-30 प्रतिशत की की गिरावट आई है। इन मार्गों पर वंदे भारत की शुरूआत से एयरलाइंस के 10-20 प्रतिशत ग्राहक आधार पर काफी प्रभाव पड़ा है। रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) के एक वरिष्ठ अधिकारी के दावे पर यकीन करें तो इन क्षेत्रों पर वंदे भारत एक्सप्रेस की शुरुआत से पहले के हवाई किराए की तुलना में इन मार्गों पर हवाई किराए में उल्लेखनीय गिरावट आई है। यहां तक कि चेन्नई से बेंगलुरु के बीच यात्री किराये अप्रैल में 900 रुपए से 2000 रुपए के बीच रहे।

—दिल्ली-जयपुर सहित 5 रूटों पर हवाई किराए में 20-30 प्रतिशत की गिरावट
—एयरलाइंस के 10-20 प्रतिशत ग्राहकों पर सीधे प्रभाव पड़ा
—चेन्नई से बेंगलुरु के बीच यात्री किराये अप्रैल में 900 रुपए से 2000 रुपए के बीच रहे
—रेलवे का दावा, वंदे भारत एक्सप्रेस ने हवाई किराए की गतिशीलता को बदल दी

अधिकारी के मुताबिक वंदे भारत एक्सप्रेस ने हवाई किराए की गतिशीलता को बदल दिया है। इसके साथ ही लोग अपने वाहन से यात्रा करने के बजाय वंदे भारत एक्सप्रेस को प्राथमिकता दे रहे हैं। उदाहरण के लिए विजयवाड़ा से रेनीगुंटा (तिरुपति) तक वंदे भारत एक्सप्रेस में 5 घंटे लगते हैं जबकि सड़क यात्रा में 7 घंटे लगते हैं। यही कारण है कि वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन आज पूरे भारत में सबसे अधिक मांग वाली ट्रेन हो गई है। युवाओं के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस का क्रेज सोशल मीडिया पर देखा जा सकता है, जहां लोग भारतीय रेलवे की इस नई ट्रेन के साथ अपनी सेल्फी अपलोड कर रहे हैं और वीडियो बना रहे हैं।

कुल 34 वंदे भारत ट्रेनों को चलाया जा रहा

बता दें कि भारतीय रेलवे ने अब तक कुल 34 वंदे भारत ट्रेनों को चलाया है। इसमें 68 सेवाएं यात्रियों को दी जा रही हैं। सभी बडे शहरों को वंदे भारत ट्रेनों से कनेक्ट कर दिया गया है। जो शहर बचे हैं अगले 6 महीने में वहां भी वंदे भारत ट्रेन दौड़ने लगेगी। आने वाले एक—दो महीने के भीतर 10 रूटों की पड़ताल की जा रही है जहां वंदे भारत ट्रेनों को एक साथ चलाया जाएगा। इसमें अयोध्या, चित्रकूट, खजुराहो, आगरा जैसे धार्मिक एवं पर्यटन क्षेत्र हैं, जिसे कनेक्ट किया जाना है।

एयरलाइंस को टक्कर देने लगी है रेलवे की वंदे भारत एक्सप्रेस

नौजवानों, बच्चों और कामकाजी वर्ग के बीच खासी लोकप्रियता

भारतीय रेलवे की अत्याधुनिक ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस को लेकर नौजवानों, बच्चों और कामकाजी वर्ग के बीच खासी लोकप्रियता मिल रही है और इसके कारण से कई महानगरों के बीच विमान सेवाओं के किराये एवं फेरों की संख्या पर भी असर पड़ा है। रेलवे बोर्ड ने विभिन्न वंदे भारत ट्रेनों में अब तक हुई बुकिंग के आंकड़ों का अध्ययन करने के बाद कहा है कि देश के युवाओं और कामकाजी वर्ग में गति, सुविधा और समय बचाने के लिए भारतीय रेलवे की पूर्ण स्वदेशी तकनीक से निर्मित यह ट्रेन सेट सबसे पसंदीदा यात्रा विकल्प के रूप में उभर रहा है। आंकड़ों के अनुसार वंदे भारत में यात्रा करने वाले 25-34 वर्ष आयु वर्ग के युवाओं (पुरुष, महिला) के, औसतन 27.5 प्रतिशत यात्री इसी आयु वर्ग के हैं। इसी तरह, 35-49 वर्ष के बीच आयु वर्ग में, औसतन 28.6 प्रतिशत यात्री परिवहन के अन्य साधनों की तुलना में वंदे भारत एक्सप्रेस को प्राथमिकता देते हैं। कुल मिलाकर, लगभग 56 प्रतिशत यात्री युवा और कामकाजी वर्ग के हैं।

वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी मुफीद है वंदे भारत ट्रेन

एयरलाइंस को टक्कर देने लगी है रेलवे की वंदे भारत एक्सप्रेस

वंदे भारत ट्रेन में यात्रा करने वाले सभी आयु वर्ग के यात्रियों में यह आयु वर्ग सबसे अधिक हो गया है। यही नहीं, देश में 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों ने भी अपनी सुविधा और गति के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के प्रति अपनी रुचि दिखाई है। एक आंकड़े के मुताबिक, सभी यात्रियों में औसतन 12.5 फीसदी यात्री इसी आयु वर्ग के होते हैं।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles