30.6 C
New Delhi
Saturday, February 27, 2021

पालकी साहिब के दर्शनों के लिए उमड़ा संगतों का सैलाब

सैकड़ों संगतों ने किए पालकी साहिब के दर्शन
–पाकिस्तान से आए नगर कीर्तन का पश्चिमी दिल्ली में भव्य स्वागत
-दर्शनों के लिए उमड़ा संगतों का सैलाब, दिखा खालसाई रंग

(आकर्ष शुक्ला )

नई दिल्ली, 2 अक्टूबर::  ननकाणा साहिब की पवित्र धरती से आए अन्र्तराष्ट्रीय नगर कीर्तन के पश्चिमी दिल्ली पहुंचने पर दर्शनों के लिए संगतों का सैलाब उमड़ पड़ा। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी ने हरी नगर डिपो के पास कीर्तन का भव्य स्वागत किया। नगर कीर्तन के दर्शन के लिए सिख संगतें सुबह से ही पहुंचनी शुरु हो गई थी। लिहाजा, नगर कीर्तन पहुंचने पर संगतों ने फूलों की बारिश की और बौले सौ निहाल के जैकारे लगाये। जेल रोड पर ही 4 घण्टे के करीब नगर कीर्तन को लग गये। सैकड़ों की संख्या में संगत नगर कीर्तन के दर्शन के लिए पहुंची, जिसमें सिख ही नहीं बल्कि हर धर्म के लोग मौजूद थे। बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सभी की एक ही तमन्ना थी कि किसी भी तरह से एक झलक उन्हें पालकी साहिब की दिख जाये।

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी अध्यक्ष मनजिन्दर सिंह सिरसा, महासचिव हरमीत सिंह कालका, तख्त श्री हरिमन्दिर जी पटना साहिब के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह हित, बीबी रणजीत कौर, मशहूर पंजाबी गायक दलेर मेंहदी सहित बड़ी संख्या में दिल्ली कमेटी सदस्य और अकाली वर्कर भी नगर कीर्तन के स्वागत के लिए पहुंचे।

 

तीसरे दिन गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब से आरंभ होगा नगर कीर्तन

नगर कीर्तन पश्चिमी दिल्ली से मोती नगर, पटेल नगर के रास्ते नगर कीर्तन रात को गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब पहुंचा और कल सुबह अर्थात तीसरे दिन गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब से आरंभ होकर यह नगर कीर्तन गुरुद्वारा बंगला साहिब, अशोका रोड, इंडिया गेट, जाकिर हुसैन मार्ग, निजामुद्दीन, जंगपुरा, आश्रम चोंक, महारानी बाग चोंक, गुरुद्वारा बाला साहिब, सराय काले खां, यमुनापार, मयुर विहार फेस-1, कल्याणपुरी, शशि गार्डन, मंडावली, पांडव नगर, गणेश नगर, वी3 एस मॉल, ईस्ट गुरु अंगद नगर, वैस्ट गुरु अंगद नगर, डेरा बाबा करम सिंह, गीता कालौनी 14 ब्लाक-7 ब्लाक-2, गुरुद्वारा झील कुरंजां, कृष्णा नगर, शर्मा विहार, रामप्रस्त, सूर्या नगर, दिलशाद गार्डन, बेबे नानकी गुरुद्वारा, दुर्गापुरी चैंक से बाहिने तरफ- राम नगर, डबल स्टोरी, मौजपुर, यमुना विहार, भजनपुरा, खजुरी, वजीराबाद, सिगनेचर ब्रिज से होता हुआ गुरुद्वारा साहिब मजनु का टीला पहुंचेगा।

Related Articles

epaper

Latest Articles