16.4 C
New Delhi
Saturday, January 23, 2021

शिवराज सिंह ने सोनिया गांधी से की कैप्टन अमरिंदर की शिकायत

—बासमती चावल का विवाद गहराया, सोनिया गांधी के यहां पहुंचा
–मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष को लिखा पत्र, हस्तक्षेप की मांग
–पूछा, कांग्रेस पार्टी मध्य प्रदेश के किसानों की विरोधी क्यों है?
–कैप्टन अमरिंदर सिंह बासमती को लेकर फैला रहे हैं भ्रम की स्थिति

नई दिल्ली / टीम डिजिटल : बासमती चावल को लेकर दो राज्यों मध्य प्रदेश और पंजाब के बीच छिड़ा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसको लेकर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री किसानों को ढाल बनाकर भिड़ और अपनी बात पर अड़ गए हैं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद शुक्रवार को इसी मसले पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर हस्तक्षेत की मांग की है। साथ ही पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की सोनिया गांधी से शिकायत की है। शिवराज सिंह ने पत्र में कहा कि अत्यंत दुख हो रहा कि कांग्रेस शासित राज्य पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह अनुचित एवं दुर्भावना पूर्ण बात कर रहे हैं। उनकी बात किसान विरोधी और मध्य प्रदेश विरोधी है तथा काग्रेस के किसान विरोधी चरित्र को उजागर करता है।

शिवराज सिंह ने याद दिलाया कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन जाने पर राहुल गांधी ने 10 दिन में किसानों के कर्ज माफी की घोषणा की थी। लेकिन यह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसे मजाक बना दिया। किसानों को बार-बार वादे किए कर्ज माफी के, पर हकीकत में कुछ नहीं हुआ। फसल बीमा का प्रीमियम का भी कमलनाथ सरकार ने नहीं भरा, जिससे किसानों को दावा राशि नहीं मिल पाई।

इसे भी पढें…‘बासमती चावल ‘ को लेकर भिड़े दो राज्यों के मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सोनिया गांधी को लिखे पत्र में बताया कि उनकी सरकार ने आते ही सबसे पहले 22 सौ करोड़ रुपये की शेष राशि फसल बीमा के प्रीमियम की भरी तब जाकर किसानों को फसल बीमा का दावा राशि प्राप्त हुई। सरकार द्वारा किसानों को जीरो ब्याज पर दिए जाने वाले फसल रिण को भी कांग्रेस की सरकार ने बंद कर दिया। उन्होंने कहा कि आखिर मध्य प्रदेश के किसानों से कांग्रेस की क्या दुश्मनी है?

पाकिस्तान से जोड़कर घटिया राजनीति की कोशिश कर रहे हैं अमरिंदर

उन्होंने सोनिया गांधी को बताया कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर मध्य प्रदेश के बासमती को जीआई टैग दिए जाने के मामले को पाकिस्तान से जोड़कर घटिया राजनीति की कोशिश कर रहे हैं। पाकिस्तान कि साथ कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपेडा) के मामले का मध्य प्रदेश के दावों से कोई संबंध नहीं है। इसके साथ ही अमरिंदर सिंह का यह कहना भी गलत है कि इससे पंजाब और अन्य राज्यों के हित प्रभावित होंगे, जबकि सच्चाई यह है कि पंजाब और हरियाणा के बासमती निर्यातक मध्य प्रदेश से बासमती चावल खरीद रहे हैं। केंद्र सरकार के निर्यात के आंकड़े इस बात की पुष्टि करते हैं। लिहाजा, अमरिंदर ङ्क्षसह द्वारा झूठे तथ्यों के आधार पर मध्य प्रदेश के किसानों को नुकसान पहुंचाने वाला कार्य कांग्रेस के लिए कितना उचित है?
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछा कि कंाग्रेस पार्टी मध्य प्रदेश के किसानों के खिलाफ क्यों खड़ी है? कांग्रेस शासित राज्यों की किसानों के प्रति संवेदनहीनता बहुत पीड़ा दायक है।

Related Articles

Stay Connected

21,397FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles