36.8 C
New Delhi
Wednesday, May 29, 2024

RPF का कमाल, Railway के कंफर्म टिकटों में घुसपैठ करने वाले पकड़े 42 सॉफ्टवेयर

नई दिल्ली /खुशबू पाण्डेय : भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने गर्मी की छुट्टियों एवं शादी विवाह के आने वाले सीजन के चलते ट्रेनों में कंफर्म टिकटों (confirmed tickets) को लेकर हो रही मारामारी के बीच एक बड़ा अभियान चलाया। इसके तहत 42 से अधिक अवैध सॉफ्टवेयरों का पता चला, जिनके जरिये दलाल (Broker) और बड़े खिलाड़ी टिकटों का खेल करते थे। फिलहाल रेलवे ने इन सभी सॉफ्टवेयरों को नष्ट करने का दावा किया है। इस पूरे खेल में अवैध सॉफ्टवेयरों के 955 दलालों, डेवलपर्स, बड़े विक्रेताओं, विक्रेताओं और खुदरा विक्रेताओं को गिरफ्तार किया गया है। अप्रैल महीने में चले इस अभियान में अनधिकृत टिकट बुकिंग के खिलाफ भी कार्रवाई की गई। धरपकड़ और छापेमारी की कार्रवाई भारतीय रेलवे (Indian Railways)  की अपनी सुरक्षा इकाई रेल सुरक्षा बल (RPF) ने की है।

-रेलवे ने 955 दलाल गिरफ्तार किए, डेवलपर्स, बड़े विक्रेताओं भी शामिल
-RPF ने अनधिकृत टिकट बुकिंग के खिलाफ भी की बड़ी कार्रवाई
-ट्रेनों पर पथराव को रोकने के लिए रेलवे चला रहा अभियान
-RPF ने अप्रैल माह में दिल्ली सहित देशभर में चलाया अभियान

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक भारतीय रेलवे (Indian Railways)  सुरक्षा को बढ़ाने के अपने मिशन को ध्यान में रखते हुए, आरपीएफ ने रेलवे सुरक्षा के लिए दो महत्वपूर्ण चुनौतियों का समाधान करने के लिए अप्रैल में एक देशव्यापी विशेष अभियान शुरू किया। पहला रेलवे ई-टिकटों की दलाली सहित दलाली में शामिल अपराधियों की पहचान करना और कानून के प्रावधानों के तहत उनके खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई करना था। दूसरा अभियान ब्लैक स्पॉट और पथराव की घटनाओं के प्रति अतिसंवेदनशील ट्रेनों की पहचान करना था और इस खतरे को रोकने के लिए सभी आवश्यक उपाय करना था। अभियान के दौरान, आरपीएफ कर्मियों ने अनधिकृत टिकट बुकिंग एजेंटों का पता लगाने और उन्हें पकडऩे के लिए रेलवे स्टेशनों, आरक्षण काउंटरों और ऑनलाइन सामग्री का नियमित निरीक्षण किया।

RPF का कमाल, Railway के कंफर्म टिकटों में घुसपैठ करने वाले पकड़े 42 सॉफ्टवेयर

आरपीएफ कर्मियों ने जनता को अनधिकृत एजेंटों के माध्यम से टिकट बुक करने के खतरों के बारे में भी शिक्षित किया और उन्हें टिकट खरीदने के लिए वैध साधनों का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। इन प्रयासों के परिणामस्वरूप, आरपीएफ ने 42 से अधिक अवैध सॉफ्टवेयरों को नष्ट कर दिया और ऐसे अवैध सॉफ्टवेयरों के 955 दलालों, सुपर विक्रेताओं, विक्रेताओं और खुदरा विक्रेताओं को गिरफ्तार किया।

वीआईपी ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) सहित चलती ट्रेनों पर पथराव की घटनाओं में अचानक वृद्धि देखी, जिससे यात्रा करने वाले यात्रियों की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा हो गया। इसे रोकने के लिए आरपीएफ ने स्थानीय अधिकारियों और ग्राम प्रशासन, जैसे ग्राम पंचायतों और उनके प्रतिनिधियों, स्कूलों, ट्रैक के साथ बस्तियों, और कॉलेजों के साथ मिलकर काम करके पथराव के परिणामों के बारे में जनता के बीच कई जागरूकता अभियान चलाए। इस मुद्दे पर समाचार पत्रों में नोटिस और पैम्फलेट प्रकाशित किए गए और जनता के बीच पत्रक वितरित किए गए। इसके अलावा, आरपीएफ ने कई अन्य उपाय किए, जैसे कि ब्लैक स्पॉट्स पर तैनाती, ट्रेन के मार्ग की निगरानी और अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ अभियान, जिसके परिणामस्वरूप रेलवे अधिनियम के प्रावधानों के तहत 2773 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। इस संबंध में पुलिस, खुफिया एजेंसियों और अन्य कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ विशेष समन्वय बैठकें भी आयोजित की गई और जिसके परिणामस्वरूप इस अपराध में लिप्त 84 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles