24 C
New Delhi
Monday, April 15, 2024

BJP का ऐलान, कर्नाटक में लागू होगी NRC,यूनिफॉर्म सिविल कोड का वादा

बेंगलुरु/ संदीप जोशी। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कर्नाटक में 10 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को जारी अपने चुनावी घोषणापत्र में समान नागरिक संहिता (यूसीसी) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लागू करने का वादा किया है। घोषणापत्र के अनुसार, समान नागरिक संहिता लागू करने के उद्देश्य के लिए एक समिति का गठन किया जाएगा। इस उच्च स्तरीय समिति द्वारा दी गई सिफारिशों के आधार पर हम कर्नाटक में समान नागरिक संहिता लागू करेंगे। पार्टी ने कहा, हम कर्नाटक में राष्ट्रीय नागरिक पंजी लाएंगे और राज्य में सभी अवैध प्रवासियों का तेजी से निर्वासन सुनिश्चित करेंगे। घोषणापत्र जारी करने के बाद भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा, भारत का संविधान हमें समान नागरिक संहिता की दिशा में आगे बढ़ने की अनुमति देता है।

—BJP का घोषणा पत्र जारी, BPL परिवार को आधा किलो दूध, 3 गैस सिलेंडर मुफ्त
—आधा लीटर दूध, राशन किट, पांच किलो ‘श्री अन्न- सिरी धन्य’मिलेगा
—धार्मिक कट्टरवाद और आतंक के खिलाफ विशेष विंग बनाने का वादा

सभी के लिए न्याय और किसी का भी तुष्टीकरण नहीं, यही हमारी नीति है। पार्टी ने राज्य में धार्मिक कट्टरवाद और आतंक के खिलाफ ‘कर्नाटक स्टेट विंग’ (के-स्विफ्ट) नामक एक विशेष विंग बनाने का भी वादा किया। भाजपा ने कहा कि वह गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल) जीवन यापन करने वाले सभी परिवारों को उगादि, गणेश चतुर्थी और दीपावली के महीनों के दौरान तीन मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर प्रदान करेगी। पार्टी ने अपने घोषणापत्र में कहा, हम राज्य के हर नगर निगम के हर वार्ड में एक ‘अटल आहार केंद्र’ स्थापित करेंगे ताकि राज्य भर में सस्ता, गुणवत्तापूर्ण और स्वास्थ्यकर भोजन प्रदान किया जा सके। पार्टी ने ‘पोशाने’ योजना शुरू करने का भी वादा किया, जिसके माध्यम से प्रत्येक बीपीएल परिवार को हर दिन आधा लीटर ‘नंदिनी’ दूध और मासिक राशन किट के माध्यम से पांच किलो ‘श्री अन्न- सिरी धन्य’ प्रदान किया जाएगा। पार्टी ने ‘सर्वरिगु सुरू योजना’ का भी वादा किया, जिसके तहत राजस्व विभाग बेघर लोगों के लिए राज्य भर में 10 लाख आवास स्थलों की पहचान करेगा और उनके बीच वितरित करेगा। नड्डा के अनुसार, भाजपा का घोषणापत्र छह ‘ए’ के आसपास केंद्रित है। उन्होंने कहा, ये छह-ए अन्न (खाद्य सुरक्षा), अक्षर (गुणवत्तापूर्ण शिक्षा), आरोग्य (किफायती स्वास्थ्य), आदाया (सुनिश्चित आय), अभय (सामाजिक सुरक्षा) और अभिवृद्धि (विकास) हैं।

महिलाओं के लिए 10,000 रुपये तक की जमा राशि  

भाजपा ने कहा कि वह ‘ओनाके ओबाव्वा सामाजिक न्याय निधि’ नामक एक योजना शुरू करेगी, जिसके माध्यम से वह अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति परिवारों की महिलाओं के लिए योजना के तहत किए गए पांच साल के सावधि जमा पर 10,000 रुपये तक की समान जमा राशि प्रदान करेगी। घोषणापत्र के मुताबिक कर्नाटक अपार्टमेंट स्वामित्व अधिनियम-1972 में सुधार और शिकायत निवारण तंत्र को आधुनिक बनाने के लिए ‘कर्नाटक निवासी कल्याण सलाहकार समिति’ का गठन किया जाएगा। प्रस्तावित विश्वेश्वरैया विद्या योजना के तहत, पार्टी ने सरकारी स्कूलों को ‘शीर्ष श्रेणी के मानक’ में समग्र उन्नयन के लिए प्रतिष्ठित व्यक्तियों और संस्थानों के साथ साझेदारी करने का वादा किया। पार्टी ने कहा कि प्रतिभाशाली युवा पेशेवरों के लिए शिक्षा और रोजगार का एक गतिशील पारिस्थितिकी तंत्र निर्मित करने के वास्ते छोटे और मध्यम उद्यमों और औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के बीच सहयोग के लिए ‘समन्वय योजना’ शुरु की जाएगी।

आरोग्य श्रेणी में मिशन स्वास्थ्य कर्नाटक का वादा 

आरोग्य श्रेणी में भाजपा ने ‘मिशन स्वास्थ्य कर्नाटक’ शुरू करने का वादा किया है। इसके तहत नगर निगमों के प्रत्येक वार्ड में एक-एक ‘नम्मा क्लीनिक’ (हमारा क्लिनिक) स्थापित किए जाएंगे जो नैदानिक सुविधाओं से लैस होंगे। इसके अलावा, यह वरिष्ठ नागरिकों के लिए साल में एक बार मुफ्त स्वास्थ्य जांच की सुविधा प्रदान करेंगे। पार्टी ने कहा कि अगर वह सत्ता में आती है तो वह कल्याण सर्किट, बनवासी सर्किट, परशुराम सर्किट, कावेरी सर्किट और गनागापुरा कॉरिडोर को विकसित करने के लिए 1,500 करोड़ रुपये आवंटित करेगी ताकि कर्नाटक को भारत के सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थल में बदला जा सके। इसके अलावा, उसने कहा कि उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजनाओं के दायरे को व्यापक बनाया जाएगा जो अंततः कर्नाटक में 10 लाख नौकरियां पैदा करेगी।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles