30.1 C
New Delhi
Monday, June 24, 2024

DSGMC Election : रामगढिय़ा बोर्ड ने सर्वसम्मति से सरना दल को दिया समर्थन

– डीएसजीएमसी चुनावों के पहले बन रहे नए राजनीतिक समीकरण
–सिख आबादी में 40 फीसदी वोट प्रभावित करने में सक्षम

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : सिख समाज में महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले रामगढिय़ा बोर्ड ने 45 वर्षों के बाद पहली बार शिरोमणि अकाली दल (सरना दल), को सर्वसम्मति से समर्थन दिया है। यह समर्थन आने वाले दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबधंक कमेटी चुनावों के मद्देनजर महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। रामगढिय़ा समुदाय दिल्ली के सिख आबादी में 40 फीसदी तक वोटरों को प्रभावित करने में सक्षम है। शिअदद और रामगढिय़ा बोर्ड के बीच गठजोड़, नए राजनीतिक समीकरणों को जन्म देते हुए दिख रही है। इस मौके पर पार्टी के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना एवं महासचिव गुरमीत सिंह शंटी ने सभी सदस्यों का स्वागत किया। साथ ही दावा किया कि रामगढिय़ा समाज के साथ आने से नया बल मिलेगा, और पार्टी मजबूत होगी। शिरोमणि अकाली दल दिल्ली आपके सभी अधूरे कार्यो को पूरा करेगी। पिछली कमेटियों ने पंथ को आगे ले जाने के नाम पर सिर्फ जुमला और खोखले वादे किए है। दिल्ली गुरूद्वरा कमेटी इतिहास के सबसे बुरे वक्त से गुजर रही है। हम सभी को एकजुट होकर पंथ को आगे ले जाने के लिए सेवा करना होगा।
नए सदस्यों का स्वागत करते हुए पार्टी महासचिव गुरमीत सिंह शंटी ने बताया कि रामगढिय़ा समाज के लोग सिखी के आधारभूत सिद्धान्तों का पालन करने में विश्वास रखते हैं। उनको हमेशा ही कीरत करके जीवन निर्वहन करते देखा है। इनके बहुमूल्य समर्थन से हमें पूरे दिल्ली में नया बल मिलेगा। रामगढिय़ा बोर्ड के प्रधान जतिंदरपाल सिंह गग्गी ने बताया कि वह शिअदद पार्टी प्रधान परमजीत सिंह सरना एवं पटना साहिब के पूर्व प्रधान हरविंदर सिंह सरना के विचारों और पंथ के चढ़दीकलां के लिए कर रहे नि:स्वार्थ प्रयासों को देखकर,बोर्ड ने समर्थन का निर्णय लिया है। रामगढिय़ा समाज के उम्मीदवारों को 8 से ज्यादा डीएसजीएमसी सीटों पर टिकट देने की वजह से गग्गी ने शिअदद प्रधान को शुक्रिया भी किया।बोर्ड ने शिअदद के जत्थेदार रंजीत सिंह के साथ मिलकर चुनाव लडऩे के निर्णय की प्रसंशा भी की। साथ ही रामगढिय़ा बोर्ड,दिल्ली ने पंथ की एकता के लिए अपने प्रयासों को जारी रखने का वादा किया।
इस मौके पर इंदरजीत सिंह बब्बू,महेंद्र सिंह भुल्लर ,कुलवंत सिंह, बलविंदर मोहन सिंह सन्धु, अवतार सिंह,गुरिंदर सिंह, करनैल सिंह मनमीत सिंह, चरणजीत सिंह रेनू,जगजीत सिंह पप्पू,
करमजीत सिंह, देविंदर सिंह, गुरदेव सिंह, बलदेव सिंह, मंजीत सिंह सरना, रमनदीप सिंह सोनू,तजेंद्र सिंह गोपा, अमरीक सिंह, जितेंद्र सिंह सोनू, इंदरप्रीत सिंह,भुपिंदर सिंह, हरिंदर पाल सिंह इत्यादि मौजूद थे।

 

latest news

Related Articles

epaper

Latest Articles