42.1 C
New Delhi
Monday, June 17, 2024

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के चुनावों की नई तारीखों का ऐलान, 22 अगस्त को होगी वोटिंग

-दिल्ली सरकार ने अदालत को दी जानकारी, 25 अगस्त को होगी मतगणना
-अकाली दल ने जल्द चुनाव कराने को लेकर अदालत से लगाई थी गुहार
-46 की बजाय 45 वार्डों पर एक साथ होगा चुनाव, जल्द जारी होगी अधिसूचना

नई दिल्ली /मोक्षिता : दिल्ली सिख गुरुद्वारा कमेटी के आम चुनाव 22 अगस्त को हो सकते हैं। चुनाव कराने के लिए दिल्ली सरकार के गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय तैयार हो गया है। निदेशालय ने दिल्ली हाईकोर्ट में एक हलफनामा दाखिल कर आगामी 22 अगस्त को चुनाव करवाने और 25 अगस्त को मतगणना करवाने की जानकारी दी है। इसके साथ ही अब गुरुद्वारा चुनाव की प्रक्रिया फिर से शुरू हो जाएगी।
इस बार दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के चुनाव 46 वार्डों की बजाय 45 वार्डों पर ही होंगे। खुरैजी खास सीट पर शिरोमणि अकाली दल दिल्ली के प्रत्याशी का निधन हो गया है। जिसके चलते वार्ड का चुनाव गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय ने रदद कर दिया है। इस सीट के लिए पूरी चुनाव प्रक्रिया नामजदगी और बाकी सारी व्यवस्था नये सिरे से होगी, जबकि 45 वार्डों में कोई नामंाकन नहीं होगा। इस संबंधी पुराने छप चुके बैलेट पेपर पर ही चुनाव करवाया जाएगा। 45 वार्डों के चुनावों के लिये अधिसूचना 7 अगस्त को जारी होने की सम्भावना है।

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के चुनावों की नई तारीखों का ऐलान, 22 अगस्त को होगी वोटिंग
बता दें कि इससे पहले गुरुद्वारा कमेटी के आम चुनाव 25 अप्रैल को होने थे, लेकिन राजधानी दिल्ली में कोरोना को लेकर मची हाहाकार और बढ़ते केसों के कारण दिल्ली सरकार ने 21 अप्रैल को चुनाव स्थगित कर दिए थे। चुनाव स्थगित होने के बाद सभी दलों के प्रत्याशी शांत हो गए और नई तारीखों का इंतजार करने लगे। अब सरकार की ओर से चुनाव कराने के मिले संकेत के बीच चुनाव प्रचार एक बार फिर तेजी पकडऩा शुरू कर दिया है। बता दें कि गुरुद्वारा कमेटी के चुनाव में इस बार शिरोमणि अकाली दल (बादल), शिरोमणि अकाली दल (दिल्ली), जागो पार्टी, पंथक अकाली लहर, सिख सदभावना दल चुनाव मैदान में है। गुरुद्वारा कमेटी चुनाव के लिए करीब साढ़े 3 लाख से अधिक मतदाता हैं, जो मतदान करेंगे। बता दें कि शिरोमणि अकाली दल बादल ने कुछ दिन पहले दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर कर जल्द से जल्द चुनाव कराने की गुहार लगाई थी। पार्टी ने आरोप भी लगाया था कि जानबूझ कर चुनाव को लटकाया जा रहा है। अकाली दल ने इसे अपनी बड़ी जीत बताया है। याचिका अकाली दल की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका ने दायर की थी। इस मामले में आज चीफ जस्टिस डी.एन पटेल व जस्टिस ज्योति सिंह की बैंच के समक्ष सुनवाई थी। सुनवाई के दौरान जब अदालत ने दिल्ली सरकार द्वारा जवाब मांगा तो फिर सरकार ने जवाब दिया कि चुनाव 22 अगस्त को करवाने के लिए तैयार हैं और इनका परिणाम 25 अगस्त को घोषित किया जाएगा।
उधर,शिरोमणी अकाली दल (दिल्ली) के महासचिव हरविंदर ङ्क्षसह सरना ने सरकार के फैसले का स्वागत किया है। साथ ही कहा कि वह बहुत खुश हैं। जल्द से जल्द चुनाव हो जाना चाहिए, यह सभी दलों के लिए ठीक है। उन्होंने कहा कि चुनाव होने के साथ ही बड़े बदलाव आएंगे।

विरोधी दल रूकवाना चाहते थे चुनाव : कालका

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के चुनावों की नई तारीखों का ऐलान, 22 अगस्त को होगी वोटिंग

अकाली दल के प्रदेश अध्यक्ष हरमीत कालका ने कहा कि यह अकाली दल की बड़ी जीत है और विरोधियों द्वारा बार-बार किये जा रहे झूठे दावे औंधे मुँह गिरे हैं। उन्होंने कहा कि हम पहले दिन से यही मांग कर रहे थे कि गुरुद्वारा कमेटी के चुनाव तुरंत करवाये जाएं जबकि विरोधी आप व भाजपा सरकार के साथ मिल कर चुनाव लटकाने में लगे हुए थे, क्योंकि उन्हें पता है कि इन चुनावों में उनका पूरी तरह से सफाया हो जाएगा।

4 साल होता है गुरुद्वारा कमेटी का कार्यकाल

दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों के चुनाव, दिल्ली सरकार गुरुद्वारा चुनाव निदेशालय द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से करवाए जाते हैं। इसके सदस्यों का कार्यकाल चार साल का होता है। पिछला चुनाव फरवरी 2017 में करवाए गए थे। पूरी दिल्ली को चुनाव की दृष्टि से 46 गुरुद्वारा वार्डों में बांटा गया है। गुरुद्वारा वार्ड मतदाता सूची में 18 वर्ष से ऊपर की आयु के पात्र सिक्ख नागरिकों का पंजीकरण किया जाता है। अभी तक की गुररुद्वारा वार्ड मतदाता सूची में 3,83561 मतदाताओं के नाम दर्ज हैं, हालांकि इसी में से फर्जी एवं बोगस वोटों को कैंसिल कर दिया गया है, जो निर्धारित स्थान पर नहीं रह रहे हैं। वर्ष 2017 में हुए गुरुद्वारा चुनाव में 45.68 प्रतिशत मतदान हुआ था। करीब साढ़े 3 लाख वोटर वर्तमान में हैं।

latest news

Related Articles

epaper

Latest Articles