22.1 C
New Delhi
Sunday, December 4, 2022

जागो पार्टी ने अकाल तख्त के जत्थेदार पर किया अटैक, कार्यशैली पर उठाए सवाल

-कार्रवाई ना होने पर भड़के जीके, कहा-जत्थेदार का हाथ सिरसा के साथ
-अमिताभ बच्चन की दान राशि को सही बताने वाले हेड ग्रंथियों के नाम हों सार्वजनिक

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल : फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन से लाखों रूपये की मदद लेने सहित अन्य मामलों में घिरी दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह बचा रहे हैं। वह नहीं चाहते हैं कि कमेटी के प्रबंधकों के खिलाफ किसी प्रकार की कोई कार्रवाई हो। जत्थेदार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए जागो पार्टी के अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके ने आरोप लगाया कि जत्थेदार का हाथ कमेटी अध्यक्ष मनजिंदर ङ्क्षसह सिरसा के ऊपर है। यही कारण है कि कई शिकायतों के बाद भी अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार की ओर से सुनवाई नहीं हो रही है। जागो पार्टी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके ने कमेटी महासचिव हरमीत सिंह कालका के बयान को सिख मर्यादा की अवहेलना तथा श्री अकाल तख्त साहिब को दिल्ली कमेटी द्वारा चुनौती देने के रूप में परिभाषित किया है।

यह भी पढें… महिलाओं ने देश को कोरोना से लड़ने की ताकत दी है : प्रधानमंत्री

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को इस तरह ध्यान देने की अपील करते हुए जीके ने कहा कि कालका ने कल अमृतसर में हेड ग्रंथीयों का हवाला देकर दावा दिया है कि कमेटी किसी के द्वारा भेंट की गई राशि को अस्वीकार नहीं कर सकती। इसका मतलब यह हुआ कि कमेटी अपने हेड ग्रंथीयों की आड़ लेकर अमिताभ बच्चन से स्वीकार की गई राशि को तर्कसंगत साबित कर रहीं हैं। जबकि इस बारे में सभी शिकायतें श्री अकाल तख्त साहिब पर विचाराधीन है। ऐसे में कमेटी के द्वारा हेड ग्रंथीयों से दोष मुक्ति का प्रमाण पत्र लेना श्री अकाल तख्त साहिब के विशेषाधिकार को सीधी चुनौती है।

यह भी पढें…चिकन बिरयानी में लेग पीस न मिलने पर शख्स ने की मंत्री से शिकायत, जानिए फिर क्या हुआ

जीके ने जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब को पुराने 5 से अधिक मामलों को याद कराया, जिसके बारे में कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हुई। जीके ने साफ कहा कि जत्थेदार साहिब लगातार सिरसा को बचाने के दवाब तहत सिरसा के खिलाफ किसी भी मामले में सुनवाई नहीं कर रहे है। दिल्ली की सिख संगत सब देख रही है किस प्रकार अकाल तख्त साहिब की सर्वोच्चता को पलीता लगाकर सिद्धांतक मसलों पर समानांतर फैसले दिल्ली से लिए जा रहे हैं। जागो पार्टी के महासचिव परमिंदर पाल सिंह ने कहा कि जत्थेदार साहिब उसी सेलेबस को पढ़ रहे हैं जो पाठयक्रम बादल परिवार एवं शिरोमणि कमेटी ने उपलब्ध करवाया है।

यह भी पढें…बड़ी बहन सुरभि की मांग में डाला सिंदूर और छोटी बहन से हुई शादी

हालांकि सिख गुरुओं ने धर्म का नेतत्व करने वाले को किसी का पक्षपात ना लेने की शिक्षा दी थी लेकिन जत्थेदार एक सियासी पार्टी के दबाव में सिख मर्यादाओं का हो रहा चीरहरण चुपचाप देख रहे हैं।
इस मौके दिल्ली कमेटी की धर्मप्रचार कमेटी के पूर्व चेयरमैन परमजीत सिंह राणा ने जत्थेदार की ढीली कार्यशैली पर अफसोस जताते हुए जत्थेदार को श्री अकाल तख्त साहिब की मर्यादा बचाने की दुहाई दी। साथ ही कहा कि धार्मिक मामलों को अदालतों की ओर मजबूरन जाने का आधार तैयार ना हो, यह भी जत्थेदार साहिब को देखना है।

Related Articles

epaper

Latest Articles