35.3 C
New Delhi
Saturday, July 2, 2022

महिलाओं ने देश को कोरोना से लड़ने की ताकत दी है : प्रधानमंत्री

—मन की बात में PM मोदी ने की सेना की तारीफ, देश की चुनौतियों पर चर्चा
—सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र पर चला NDA का 7 साल

नई दिल्ली /खुशबू पाण्डेय : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन एनडीए सरकार के 7 वर्षों के कार्यकाल में देश सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र पर चला है। मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात में देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि एनडीए शासनकाल के 7 वर्षों में सरकार ने देश की सेवा में हर क्षण समर्पित भाव से काम किया है और इन 7 वर्षों में जो कुछ भी उपलब्धि रही है वह देश और देशवासियों के लिए रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संक्रमण का जिक्र किया। इसके बाद उन्होंने ताउते और यास, छोटे-मोटे भूकंपों का भी जिक्र किया जिससे देश के कई राज्य प्रभावित हुए। उन्होंने कहा, देश की जनता पूरी ताकत के साथ लड़ी। उन्होंने इन हादसों में मारे गये परिजनों के प्रति संवेदना भी प्रकट की।

मन की बात में प्रधानमंत्री ने सभी सरकारों के योगदान का जिक्र किया। केंद्र, राज्य सरकारें और स्थानीय प्रशासन सभी एक साथ मिलकर इस आपदा के सामने करने में जुटे हैं। मैं उन सभी लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं, जिन्होंने अपने करीबियों को खोया है। इस दौरान पीएम ने एक ऑक्सीजन आपूर्ति करने वाले टैंकर चालक से भी बात की। कोरोना से जारी लड़ाई का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने एक महिला रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस की चालक से बात करते हुए कहा कि महिलाओं ने भी आपदा में अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है। पीए ने कहा, महिलाओं ने देश को कोरोना से लड़ने की ताकत दी है। भारतीय रेलवे की ऑक्सीजन एक्सप्रेस देश के कोने-कोने तक पहुंच रही है। एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस तो सिर्फ महिलाएं चला रहीं हैं। यह अपने आप में बडे गर्व की बात है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम यह देखते हैं कि अब भारत दूसरे देशों की सोच और उनके दबाव में नहीं अपने संकल्प से चलता है तो हम सब को गर्व होता है। जब हम देखते हैं कि अब भारत अपने खिलाफ साजिश करने वालों को मुंहतोड़ जवाब देता है तो हमारा आत्मविश्वास और बढ़ता है। जब भारत राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर समझौता नहीं करता जब हमारी सेनाओं की ताकत बढ़ती है तो हमें लगता है कि हां हम सही रास्ते पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोग देश की तरक्की पर खुश होते हैं कि, क्योंकि 70 वर्ष बाद उनके गांव में पहली बार बिजली पहुंची है। उनके बेटे बेटियां उजाले में पंखे में बैठकर पढ़ रहे हैं। कितने ही लोग कहते हैं कि हमारा भी गांव अब पक्की सड़क से शहर से जुड़ गया है।

यह भी पढें… कोविड में अनाथ हुए बच्चों के लिए प्रधानमंत्री मोदी का बड़ा ऐलान, देंगे 10 लाख रुपए

उन्होंने कहा कि मुझे याद है कि एक आदिवासी इलाके से कुछ साथियों ने मुझे संदेश भेजा था कि सड़क बनने के बाद पहली बार उन्हें ऐसा लगा कि वह भी बाकी दुनिया से जुड़ गए हैं। ऐसे ही कहीं कोई बैंक खाता खोलने पर खुशी साझा करता है तो कोई अलग-अलग योजनाओं की मदद से जब नया रोजगार शुरु करता है तो वह खुशी से मैं मुझे भी आमंत्रित करता है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर मिलने हैं के बाद गृह प्रवेश के आयोजन में कितने ही निमंत्रण मुझे दे देश वासियों की ओर से लगातार मिलते रहते हैं इन 7 वर्षों में आप सब की ऐसी करोड़ों खुशियों में मैं शामिल हुआ हूं। पीएम ने महामारी से मुकाबले के दौरान वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के अलावा सेना, एयरफोर्स और नौसेना के योगदान का जिक्र भी किया। चर्चा के दौरान उन्होंने हिंडन एयर बेस पर तैनात ग्रुप कैप्टन ए के पटनायक से बात करते हुए उनका हौसला बढ़ाया।

पीएम ने उनकी बेटी अदिति से भी चर्चा करते हुए बेटियों की बात को मां सरस्वती के मुख से निकला आशीर्वाद बताते हुए कहा कि देश इस महामारी से जरूर जीतेगा। पीएम ने अपने संबोधन में दिल्ली के एक संस्थान की प्रयोगशाला में तैनात लैब टेक्नीशियन के अनुभवों से देश के लोगों को रूबरू करवाया। पीएम ने कहा देश में हजारों टेस्टिंग लैब में कोरोना की जांच हो रही है। एक दिन में लाखों लोगों की जांच हो रही है। ऐसे में उन्होंने चौबीसों घंटे काम करने वाले लैब टेक्नीशियंस का आभार जताया।बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पिछले एपिसोड में डॉक्टर्स, नर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और कोरोना सर्वाइवर्स पर अपनी बात रखी थी। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश की स्थिति और अनुभवों का जिक्र किया था। वैक्सीनेशन को लेकर फैली अफवाहों को भी दूर करने की कोशिश की थी।

Related Articles

epaper

Latest Articles