14.1 C
New Delhi
Sunday, December 4, 2022

महिलाएं बनेंगी आत्मनिर्भर, गारमेंट्स क्षेत्र में रोजगार की सम्भावनाएं, बांटे टूल किट

बलिया/ आशीष पाण्डेय : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद बलिया के चन्द्रशेखर उद्यान में पूर्व प्रधानमंत्री जननायक स्व0  चन्द्रशेखर  की प्रतिमा का अनावरण किया। उन्होंने पुलिस लाइन परेड ग्राउण्ड में जनपद के विकास से सम्बन्धित लगभग 80 करोड़ रुपये की लागत की 46 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने जनपद बलिया की सब्जियों को दोहा, कतर के निर्यात के लिए ट्रक को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही, उन्होंने मिशन शक्ति के ‘आजीविका से आत्मनिर्भरता की ओर’ कार्यक्रम के अन्तर्गत निराश्रित महिलाओं को स्वावलम्बी एवं आत्मनिर्भर बनाने हेतु महिलाओं को टूल किट वितरित किये।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि   चन्द्रशेखर  ने हमेशा मूल्यों व आदर्शों की राजनीति की तथा देशहित को सर्वाेपरि रखा। संसदीय लोकतंत्र को मजबूत करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। चन्द्रशेखर जी ने बलिया को एक नई पहचान दी। उनके प्रसंशक देश और दुनिया में हैं। जब लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास हुआ तो चन्द्रशेखर देश के लिए मुखर स्वर बने तथा स्वदेशी आन्दोलन का खुलकर समर्थन किया। मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश शासन की ओर से  स्व0 चन्द्रशेखर जी को विनम्र श्रद्धांजलि दी।

— बलिया में पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर की प्रतिमा का अनावरण किया
—बलिया की सब्जियां खाएंगे दोहा, कतर के लोग, ट्रक को हरी झंडी दिखाई
—महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु टूल किट वितरित किये

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क, कृषि, पर्यटन के क्षेत्र में विकास के लिए विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास हुआ है। उन्होंने आश्वस्त किया कि बलिया के विकास के लिए कोई परियोजना लंबित नहीं रहेगी। हम सब मिलकर मजबूती के साथ काम करेंगे। बलिया बागी स्वभाव के लिए जाना जाता रहा है, लेकिन जनपद बलिया उससे भी अलग हटकर अपनी पहचान बना सके, इसका आज शुभारम्भ हुआ है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कृषक उत्पादक संगठनों के माध्यम से जनपद बलिया में अलग-अलग सब्जियों का उत्पादन होगा और यहां की ताजी सब्जियां दुनिया के बाजारों में जायंेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की मंशा के अनुरूप यदि अन्नदाता किसान की आमदनी को दोगुना करना है तो ‘बीज से बाजार तक’ का सफर बेहतर तरीके से कराना होगा। सब्जी की प्रोसेसिंग व पैकिंग कर जल मार्ग से भेजे जाने की जनपद बलिया में अपार सम्भावनाएं हैं। यहां के कृषक उत्पादक संगठन अपने उत्पादों को वैश्विक बाजार तक पहुंचाने के लिए तैयार हैं, तो यहां पर मल्टीमोडल लॉजिस्टिक हब बनाने की दिशा में अच्छा कार्य हो सकता है, क्योंकि बलिया में एक तरफ गंगा जी हैं, तो दूसरी ओर सरयू जी का प्रवाह है। जल यातायात के माध्यम से यहां के उत्पाद को वैश्विक बाजार तक पहुंचाने में मदद मिलेगी।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि किसान की आय बढ़ेगी, तो जनपद की आय तथा रोजगार में वृद्धि होगी। परिणामस्वरूप प्रदेश को 01 ट्रिलियन यू0एस0 डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य को हम लोग आसानी से प्राप्त कर सकेंगे। वाराणसी-हल्दिया राष्ट्रीय जलमार्ग बलिया होकर जाता है। इस राष्ट्रीय जलमार्ग के उपयोग को बढ़ाना होगा। इससे यहां के हजारों लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। दुनिया के लोग बलिया आकर रोजगार प्राप्त करें, हमें ऐसी स्थितियां विकसित करनी होंगी। इस कार्य में कृषक उत्पादक संगठन महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर सकते हैं। यहां की ऊर्जा का भरपूर प्रयोग हो तो लोगों की आमदनी को कई गुना बढ़ाया जा सकता है। महिला कृषक उद्यमियों को भी आगे बढ़ाना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यहां पर्यटन के क्षेत्र में अपार सम्भावनाएं हैं। जिला प्रशासन भृगु बाबा कॉरिडोर के लिए शासन को प्रस्ताव बनाकर भेजेे। पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चन्द्रशेखर जी की जन्मभूमि इब्राहिमपट्टी में बने अस्पताल को बेहतर ढंग से संचालित करने की दिशा में कार्याें को आगे बढ़ायें। जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर शीर्ष प्राथमिकता पर मेडिकल कॉलेज के लिए जमीन को चिन्हित करते हुए ठोस प्रस्ताव समय से शासन को भेजा जाए।
मुख्यमंत्री जी ने निराश्रित महिलाओं के स्वावलम्बन की पहल की सराहना करते हुए कहा कि टूल किट के साथ इनके समुचित प्रशिक्षण एवं अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जाए। महिला स्वयंसेवी समूहों को मिल्क प्रोड्यूसर एवं पोषण मिशन के साथ जोड़ा जाए, ताकि पोषण से जुड़े शासकीय कार्य पारदर्शी तरीके से क्रियान्वित हो सकंे। जनपद झांसी एवं आगरा में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने बेहतर उदाहरण प्रस्तुत किये हैं। जनपद झांसी का बलिनी मिल्क प्रोड्यूसर संघ उत्कृष्ट उदाहरण है, जो आज 41 हजार महिलाओं के साथ कार्य कर रहा है। आज इस संघ का कुल व्यवसाय 1500 करोड़ रुपये का है, जिसमें शुद्ध लाभ 14 से 15 करोड़ रुपये का है। रेडीमेड गारमेंट्स के क्षेत्र में महिलाओं के लिए रोजगार की अनन्त सम्भावनाएं हैं।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने जनपद बलिया के कृषक उत्पादक संगठनों के तीन किसानों को भारत सरकार का पंजीयन प्रमाण-पत्र प्रदान किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  दयाशंकर सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री  के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में प्रदेश निरन्तर विकास की नई ऊंचाईयों को छू रहा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बनने से यहां से लखनऊ का रास्ता आसान हुआ है और व्यापार के क्षेत्र में तेजी आई है।

Related Articles

epaper

Latest Articles