32.9 C
New Delhi
Sunday, April 21, 2024

CM योगी के मिशन शक्ति अभियान से सशक्त होंगी UP की महिलाएं

लखनऊ /अदिति सिंह। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने मिशन शक्ति के चौथे चरण के अंतर्गत आज महिला सशक्तिकरण जागरूता रैली का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने रैली को यहां हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के बाद कहा कि ‘मिशन शक्ति’ अभियान पूरे प्रदेश में लोकप्रिय हुआ है। महिला सम्बन्धी अपराधों को नियंत्रित करने और अपराधियों को दण्डित करने में प्रदेश, देश के अग्रणी राज्यों में है। प्रदेश के मिशन शक्ति अभियान की सफलता का परिणाम है कि आज केंद्र सरकार ने भी महिला सुरक्षा के लिए चलने वाले अभियान का नाम मिशन शक्ति रखा है। यह इस बात को दर्शाता है कि यदि हम कोई भी ऐसा इनीशिएटिव लेंगे जो समाज के सम्मान और स्वावलंबन से जुड़कर व्यापक जागरूकता का कारण बनेगा, तो उसको राष्ट्रव्यापी बनने में देर नहीं लगती। उन्होंने कहा कि लाभार्थियों को समय पर सही जानकारी प्रदान की जानी चाहिए, इसलिए आज प्रदेश के सभी 75 जनपदों में एक साथ महिला सुरक्षा के लिए यह जागरूकता रैली निकाली जा रही है।

—मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिखाई हरी झंडी
—सभी 75 जिलों में महिला सुरक्षा के लिए जागरूकता रैली

इसके उपरांत प्रत्येक जनपद में कार्यक्रम होंगे। स्कूल और विद्यालयों में प्रभात फेरियां निकाली जा रही हैं। इन जनपदों में महिला सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन से जुड़े हुए क्षेत्र में अच्छा कार्य करने वाले लोगों को सम्मानित किया जाएगा। यह कार्यक्रम कल से प्रत्येक स्तर पर प्रारम्भ होंगे। जनपद स्तर पर प्रत्येक गांव और नगर निकाय के वॉडरं में, केंद्र और राज्य सरकार की नारी गरिमा, सुरक्षा और सम्मान से जुड़ी विभिन्न योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। लोगों को महिला सुरक्षा से सम्बन्धित विभिन्न मुद्दों से भी अवगत कराया जाएगा। दूसरी तरफ प्रत्येक थाना क्षेत्र में इनफोर्समेन्ट का भी कार्य होगा। यदि कोई अपराधी महिला सुरक्षा में सेंध लगाने का दुस्साहस करेगा तो उससे सख्ती से निपटने के आदेश दिए गए हैं। जो लोग इस प्रकार के अपराध करने के अभ्यस्त हैं, उनके साथ सख्ती से निपटने की कारर्वाई प्रदेश भर में की जाएगी। प्रत्येक थाना क्षेत्र में महिलाओं के विरुद्ध हुए अपराधों के प्रति हुई कार्यवाही से सम्बन्धित सारे रिकॉडर् समय पर प्राप्त किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। यह सभी अभियान प्रभावी रूप से आगे बढ़ सकें, इस द्दष्टि से यह रैली अत्यन्त महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि घरेलू हिंसा से पीड़ित महिला की मदद में ‘181′ हेल्प लाइन नम्बर किस प्रकार सहायक हो सकता है, ‘वन स्टॉप सेन्टर’ की क्या भूमिका हो सकती है, ‘1090′ हेल्प लाइन नम्बर किस रूप में सहायक हो सकता है तथा इमरजेंसी कॉल के नंबरों का प्रयोग किस रूप में किया जाय, इन सब के बारे में जागरूकता प्रसार के कार्यक्रम वर्ष भर निरंतर चलते रहेंगे। प्रदेश में इस दिशा में पहले से किए गए प्रयासों के अच्छे परिणाम आए हैं। अब इन प्रयासों को प्रभावी ढंग से आगे बढ़ाने का कार्यक्रम ‘मिशन शक्ति’ अभियान के चतुर्थ संस्करण में दिखना चाहिए। प्रदेश में अलग-अलग स्तर पर भी जागरूकता से सम्बन्धित कार्यक्रम चलेंगे। स्वयं सहायता समूह भी विभिन्न जनपदों में ग्राम पंचायत स्तर पर इस प्रकार के कार्य कर रहे हैं।

महिलाएं बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी बनकर गांवों में कर रही काम

योगी ने कहा कि प्रदेश में बी0सी0 सखियों की उत्कृष्ट भूमिका रही है। जिन महिलाओं के बारे में लोग कहते थे कि बहुत पढ़ी-लिखी न होने के कारण वह क्या काम कर पाएंगीं, आज वही महिलाएं बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट सखी बनकर गांवों में बैंकों की कमी को पूरा कर रही हैं। इसके द्दष्टिगत गांवों में हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण महिलाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इन्हें राज्य सरकार ने 06 माह तक मानदेय उपलब्ध कराया। आज वह बैंक से लेनदेन कर कमीशन प्राप्त करती हैं। इनमें सबसे कम कमाने वाली महिलाओं की आय 25 हजार रुपए प्रतिमाह और सर्वाधिक कमाने वाली महिलाओं की आय सवा लाख से डेढ़ लाख रुपए प्रतिमाह तक है। यह चीजें दिखाती हैं कि प्रयासों को आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने बताया कि जनपद झांसी में वर्ष 2019 में केंद्र और राज्य सरकार ने मिलकर ‘बलिनी मिल्क प्रोड्यूसर कम्पनी’ की स्थापना की थी। इसका टर्नओवर डेढ़ सौ करोड़ रुपये प्रतिवर्ष व 15 से 16 करोड़ रुपए प्रतिवर्ष शुद्ध लाभ होता है। इसमें 40 हजार से अधिक महिलाएं जुड़ी हुई हैं। कार्य करने की इच्छा शक्ति और सरकार का समर्थन होना आवश्यक है। प्रशासन सकारात्मक भाव से महिलाओं के साथ खड़ा हो जाए तो वह कुछ भी कर सकती हैं। प्रदेश की आधी आबादी के लिए प्रयास किए जाने चाहिए। इस अवसर पर मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, गृह एवं सूचना संजय प्रसाद, पुलिस महानिदेशक विजय कुमार, स्पेशल डी0जी0 (कानून-व्यवस्था) प्रशान्त कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक (प्रशासन) नीरा रावत, सलाहकार मुख्यमंत्री अवनीश कुमार अवस्थी, निदेशक सूचना शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

latest news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related Articles

epaper

Latest Articles