spot_img
30.1 C
New Delhi
Friday, October 22, 2021
spot_img

पश्चिम बंगाल सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों का बिगुल बजा

-पश्चिम बंगाल 8 चरणों में होगा चुनाव, 2 मई को आएगा रिजल्ट
-कुल 824 विधानसभा सीटों पर हो रहा है विधानसभा चुनाव
–असम में 3 फेज, केरल, तमिलनाडु एवं पुदुचेरी में एक-एक फेज में चुनाव
–चुनाव के दौरान अधिकारियों का होगा वैक्सीनेशन, सख्त होगा पहरा

नई दिल्ली/ खुशबू पाण्डेय : केंद्रीय चुनाव आयोग ने आज यहां पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया। इनमें पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु एवं पुदुचेरी शामिल है। रिजल्ट सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे एक साथ ही 2 मई को घोषित किए जाएंगे। इन सभी पांचों राज्यों में कुल 824 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा। इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पांच राज्यों में सबसे खास 294 विधानसभा सीटों वाला पश्चिम बंगाल राज्य है, जहां 8 चरणों में मतदान होगा। इससे पहले 2016 में राज्य में 7 चरणों में मतदान हुआ था। इसके अलावा 126 विधानसभा सीट वाला असम राज्य में चुनाव 3 फेज में करवाया जाएगा। जबकि, तमिलनाडु, केरल, एवं पुदुचेरी में एक-एक चरणों में मतदान होगा। इस चुनाव में खर्च की भी लक्ष्मण रेखा खींच दी गई है। आयोग के मुताबिक पुडुचेरी में कोई उम्मीदवार अधिकतम 22 लाख रुपये चुनाव प्रचार पर खर्च कर सकता है। लेकिन बाकी 4 राज्यों में किसी एक सीट पर कोई उम्मीदवार अधिकतम 38 लाख रुपये खर्च कर सकेगा।

केंद्रीय चुनाव आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार की शाम विज्ञान भवन में चुनाव की तारीखों का ऐलान किया। साथ ही बताया कि कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में वोटिंग कराने का फैसला लिया गया है। बंगाल, असम समेत 5 राज्यों के चुनाव में मतदान का समय एक घंटा ज्यादा होगा। सभी मतदान केंद्र गाउंड फ्लोर पर ही स्थित होंगे। पश्चिम बंगाल समेत सभी राज्यों में सीआरपीएफ की तैनाती की जाएगी। सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में मतदान कराया जाएगा। मुख्य चुनाव आयुक्त के मुताबिक 824 सीटों पर 18 करोड़ लोग वोट डालेंगे। राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश की कुल 824 सीटों पर मतदान होगा। 18.6 करोड़ से ज्यादा मतदाता इन राज्यों में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। कोरोना से बचाव के लिए सभी राज्यों में मतदान केंद्रों की संख्या में इजाफा किया गया है। 5 राज्यों के कुल 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर वोटिंग होगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि चुनाव से पहले राज्यों के सभी चुनाव अधिकारियों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। उसके बाद दिल्ली मुख्यालय में मौजूद लोगों का वैक्सीनेशन होगा। मुख्यालय में भी वैक्सीनेशन की शुरुआत जूनियर कर्मचारियों से की जाएगी। इसके अलावा पोलिंग बूथों में भी कोविड से बचाव के लिए सभी इंतजाम किए जाएंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त के मुताबिक पश्चिम बंगाल की 30 सीटों के पहले चरण के लिए दो मार्च को अधिसूचना जारी की जाएगी और 9 मार्च तक नामांकन पत्र दाखिल किए जा सकेंगे। नामांकन पत्रों की जांच 10 मार्च को होगी और 12 मार्च तक नाम वापस लिए जाएंगे। पहले चरण के लिए 27 मार्च को मतदान होगा। बंगलादेश, झारखंड और बिहार की सीमा से सटे इस राज्य में प्रदेश के अलावा केंद्रीय सुरक्षा बल की निगरानी में चुनाव कराया जाएगा।

पश्चिम बंगाल में 1,01,916 कुल पोलिंग स्टेशन बनाए

पश्चिम बंगाल में कुल 7,34,07,832 वोटर हैं, जो अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसके लिए पश्चिम बंगाल में 1,01,916 कुल पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं। पिछले विधानसभा चुनाव के मददेजनर 2021 के चुनाव में पोलिंग बूथों की संख्या में 31.65 प्रतिशत बढोतरी की गई है। पश्चिम बंगाल में 1.40 लाख ईवीएम मशीनों एवं 1.50 लाख वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा।

सिर्फ 5 लोग करेंगे घर-घर जाकर प्रचार

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के मुताबिक चुनाव प्रचार के लिए भी गाइडलाइंस जारी कर दी गई है। उम्मीदवार समेत 5 लोगों को घर-घर जाने की इजाजत होगी। जबकि नामांकन दाखिल करने के लिए भी प्रत्याशी के साथ सिर्फ दो अन्य लोग जा सकेंगे। रिटर्निंग ऑफिसर के दफ्तर में सिर्फ दो वाहन ले जाने की ही अनुमति होगी। चुनाव आयुक्त ने कहा कि परीक्षाओं और त्योहारों के दिन मतदान नहीं कराया जाएगा। सभी त्योहारों का ख्याल रखा गया है।

प्रत्याशी ऑनलाइन भी भर सकेंगे नामांकन

कोविड के चलते विधानसभा चुनावों में उम्मीदवारों को बड़ी सुविधा देते हुए चुनाव आयोग ने ऑनलाइन नामांकन कराने का ऐलान किया है। यह व्यवथा बिहार में सबसे पहली बार शुरू की गई थी। कोरोना के चलते भारी भीड़भाड़ न हो इसके लिए ऑनलाइन की सुविधा दी जा रही है। इसके लिए सिक्योरिटी मनी भी ऑनलाइन ही जमा की जाएगी।

पश्चिम बंगाल में 2 पुलिस पर्यवेक्षक भी नियुक्त

राजनीतिक रूप में सबसे अधिक संवेदनशील पश्चिम बंगाल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। इस राज्य में 2 पुलिस आब्र्जबर भी नियुक्त किए गए हैं। बाकी चुनाव आब्र्जबर एवं आर्थिक आब्र्जबर भी तैनात किए गए हैं। इसमें पूर्व आईपीएस विवेक दुबे एवं एमके दास शामिल हैं।

मई-जून में खत्म हो रहा है चार राज्यों का कार्यकाल

चार राज्यों में विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल मई और जून में समाप्त हो रहा है। असम विधानसभा का कार्यकाल 31 मई, तमिलनाडु विधानसभा का कार्यकाल 24 मई, पश्चिम बंगाल का 30 मई, केरल का एक जून और पुडुचेरी का 8 जून को पूरा हो रहा है। वहीं, पुडुचेरी में विश्वासमत पर वोटिंग से पहले मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी के इस्तीफा देने से कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार गिर गई थी। वहां विधानसभा भंग कर राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया है।
————————————
पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में होगा मतदान
पहला चरण-27 मार्च (5 जिला -30 सीट)
दूसरा चरण – 1 अप्रैल (4 जिला-30 सीट)
तीसरा चरण – 6 अप्रैल (3 जिला-31 सीट)
चौथा चरण – 10 अप्रैल (5 जिला-44 सीट)
पांचवां चरण -17 अप्रैल (6 जिला-45 सीट)
छठा चरण – 22 अप्रैल (4 जिला-43 सीट)
सातवां चरण – 26 अप्रैल (5 जिला-36 सीट)
आठवां चरण – 29 अप्रैल (4 जिला-35 सीट)

Related Articles

epaper

Latest Articles